करंट टॉपिक्स

महिला गरिमा के लिये अभाविप बनायेगी देशव्यापी मानव श्रृंखला

Spread the love

मुंबई. देश भर में महिला सुरक्षा व समाज में महिला सम्मान, कन्या भ्रूण हत्या तथा नशाखोरी जैसे गंभीर मुद्दों पर जनजागरण के लिये अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद द्वारा आगामी सात अक्टूबर को दोपहर 12 बजे देशव्यापी मानव श्रृंखलाओं का आयोजन किया जायेगा.

परिषद के राष्ट्रीय महामंत्री श्रीहरि बोरिकर ने बताया कि उ.प्र. व देश के अन्य प्रांतों में छात्राओं के साथ बढ़ रही अमानवीय घटनाओं व दुर्व्यवहार, समाज में महिला सुरक्षा व सम्मान सुनिश्चित करने एवं कन्या भ्रूण हत्या तथा युवाओं में नशाखोरी की बढ़ती प्रवृत्ति जैसी गंभीर चुनौतियों के विरोध में 7 अक्टूबर को देश भर में सभी इकाइयों में एक साथ मानव श्रंखलाओं का आयोजन किया जायेगा, जिसमें बड़ी संख्या में छात्र-छात्रायें व युवा सहभागी होंगे.

उन्होंने बताया कि अभाविप महिला सुरक्षा व सम्मान हेतु लगातार सक्रिय है. विगत वर्ष 2013 को महिला सुरक्षा वर्ष के रूप में मनाने के बाद परषद ने इस वर्ष भी महिलाओं व छात्राओं के साथ अमानवीय घटनाओं के विरोध में आंदोलनों व कार्यक्रमों को आगे बढ़ाते हुये विभिन्न माध्यमों से इस संदर्भ में जागरूकता फैलाने का निश्चय किया है. इसके अंतर्गत महिलाओं का सम्मान व सुरक्षा, कन्या भ्रूण हत्या रोकने हेतु कठोर कानून का आग्रह, शैक्षिक परिसरों के अंदर व बाहर छात्राओं की सुरक्षा व सुचारु परिवहन व्यवस्था, घरेलू हिंसा कानून का कठोरता से पालन, नशामुक्त समाज हेतु सार्थक पहल, मीडिया में महिलाओं का अभद्र प्रस्तुतिकरण रोकने, अश्लील वेबसाइटों पर प्रतिबंध, महिलाओं व छात्राओं हेतु आत्मरक्षा प्रशिक्षण व्यवस्था व हिंसा मुक्त वातावरण निर्माण के साथ ही वास्तविक पहचान छुपाकर प्रेम का ढोंग करते हुये शैक्षिक परिसरों में छात्राओं का शोषण करने वालों के विरुद्ध कठोर कार्रवाई जैसे विषयों पर परिषद सभी का ध्यान आकृष्ट करने का प्रयास करेगी.

अभाविप की राष्ट्रीय उपाध्यक्ष ममता यादव व राष्ट्रीय मंत्री गीतांजलि जैना ने भी देश भर की छात्राओं से आग्रह किया है कि वे 7 अक्टूबर को दोपहर 12 बजे आयोजित मानव श्रृंखला में अधिक से अधिक संख्या में सम्मिलित होकर इस देशव्यापी महिला सम्मान व सुरक्षा अभियान में सहभागी बनें.

One thought on “महिला गरिमा के लिये अभाविप बनायेगी देशव्यापी मानव श्रृंखला

Leave a Reply

Your email address will not be published.