करंट टॉपिक्स

मीडिया के सात्विक तेज को वापस ला सकती हैं युवा शक्ति: जगदीश उपासने

Spread the love

Patrkarita Prashikshan Vargमेरठ. माखनलाल चतुर्वेदी पत्रकारिता विश्वविद्यालय नोएडा कैंपस के अध्यक्ष प्रो. जगदीश उपासने ने कहा कि भारत की युवा शक्ति ने पूरे विश्व को चौंका दिया है. विश्व जनसंख्या रिपोर्ट के अनुसार देश में 67 प्रतिशत युवाओं की आबादी है. देश की तस्वीर बदलने के लिये युवा शक्ति सक्षम है. पत्रकारिता की दिशा बदलने के लिये भी युवा शक्ति की दरकार है. इसके लिये प्रशिक्षु पत्रकारों को विश्वसनीय बनकर मीडिया के खो चुके सात्विक तेज को वापस लाना होगा.

सूरज कुंड रोड स्थित विश्व संवाद केंद्र में मंगलवार 18 नवम्बर को दो दिवसीय पत्रकारिता प्रशिक्षण वर्ग शुरू हुआ. शिविर का उद्घाटन प्रो. जगदीश उपासने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के यूपी-उत्तराखंड के प्रचार प्रमुख कृपाशंकर, और आनंदप्रकाश अग्रवाल ने किया. शिविर के पहले दिन चार सत्रों में वक्ताओं ने पत्रकारिता की बदलती दशा और दिशा पर चिंता जताई

Patrkarita Prashikshan Varg-वर्ग के समापन सत्र में पत्रकारिता राष्ट्र सेवा का माध्यम विषय वरिष्ठ और अंतरराष्ट्रीय प्रतिष्ठा के पत्रकार केजी सुरेश ने कहा कि पत्रकारिता का जन्म आजादी का लक्ष्य लेकर एक मिशन के रूप में शुरू हुआ था. आजादी के बाद पत्रकारिता का उद्देश्य नये राष्ट्र का निर्माण हो गया. उस समय पत्रकारिता मुनाफा ना होकर समाज सेवा थी. पत्रकारों ने इसे मिशन मानकर कार्य किया, लेकिन आज के दौर में पत्रकारिता में भारी बदलाव आया है. मिशन की बजाय पत्रकारिता प्रोफेशन में बदल गई. लोकतंत्र पर लोगों की आस्था पत्रकारिता के कारण हैं, प्रशिक्षु पत्रकारों से उन्होंने कहा कि चरित्रवान, जिम्मेदार बनने से ही समाज और पत्रकारिता का भला हो सकता है. आज के दौर की नकारात्मकता को खत्म करके सकारात्मक रूख अपनाने से ही समाज और राष्ट्र सेवा हो सकती है. समाज में सकारात्मक चीज लाने का प्रयास करना चाहिये. विश्वास की कमी समाज के लिये घातक है. इसे दूर करना होगा. विश्व संवाद केंद्र के मंत्री श्याम बिहारी ने धन्यवाद ज्ञापन दिया. इससे पहले के सत्र में बांके बिहारी इंस्टीट्यूट के निदेशक डॉ. देशदीपक अग्रवाल और सीसीएसयू के प्रवक्ता डॉ. मनोज श्रीवास्तव ने नागरिक पत्रकारिता के बारे में जानकारी दी. दूसरे सत्र में पंकुल शर्मा ने समाचार संकलन और लेखन की बारीकियों से छात्र-छात्राओं को अवगत कराया. कार्यक्रम का संचालन डॉ. प्रशांत जिंदल ने किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.