रंजन की हत्या पर प्रदेश के पत्रकारों में शोक की लहर व रोष Reviewed by Momizat on . पटना (विसंकें). सिवान के वरिष्ठ पत्रकार राजदेव रंजन की निर्मम हत्या की खबर से पूरे प्रदेश के पत्रकारों में शोक की लहर है. उनकी जघन्य हत्या के विरोध में पत्रकारो पटना (विसंकें). सिवान के वरिष्ठ पत्रकार राजदेव रंजन की निर्मम हत्या की खबर से पूरे प्रदेश के पत्रकारों में शोक की लहर है. उनकी जघन्य हत्या के विरोध में पत्रकारो Rating: 0
    You Are Here: Home » रंजन की हत्या पर प्रदेश के पत्रकारों में शोक की लहर व रोष

    रंजन की हत्या पर प्रदेश के पत्रकारों में शोक की लहर व रोष

    IMG-20160514-WA0054पटना (विसंकें). सिवान के वरिष्ठ पत्रकार राजदेव रंजन की निर्मम हत्या की खबर से पूरे प्रदेश के पत्रकारों में शोक की लहर है. उनकी जघन्य हत्या के विरोध में पत्रकारों ने आक्रोश प्रकट किया. राज्य के सभी पत्रकारों ने काला बिल्ला लगाकर विरोध प्रदर्शन किया. नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट (इंडिया), बिहार की ओर से महामहिम राज्यपाल को ज्ञापन देकर बिहार में पत्रकारों की सुरक्षा सुनिश्चित कराने की मांग की गई. ज्ञापन में कहा गया कि दुःख का विषय है कि वरिष्ठ पत्रकार राजदेव रंजन की सिवान में अपराधियों ने निर्मम हत्या कर दी. रंजन एक निर्भीक और सजग पत्रकार थे. उनकी जघन्य हत्या से प्रदेश के पत्रकारों में भय और दहशत का माहौल कायम हुआ है. पिछले छह महीनों में आए दिन पत्रकार अपराधियों व माफिया तत्वों द्वारा निशाना बनाए जा रहे हैं. इस स्थिति में प्रदेश में पत्रकारों की सुरक्षा सुनिश्चित करने का राज्य सरकार को सख्त निर्देश दिया जाए. प्रतिनिधि मंडल ने महामहिम से यह भी निवेदन किया कि पत्रकार राजदेव रंजन की हत्यारों की अविलंब गिरफ्तारी हो और हत्या के कारणों के खुलासा करने के साथ ही पीड़ित परिवार को 25 लाख रूपये का मुआवजा दिया जाए. एनयूजेआई, बिहार के प्रतिनिधिमंडल में प्रदेश महासचिव राकेश प्रवीर, उपाध्यक्ष कृष्णकांत ओझा, वरिष्ठ पत्रकार देवेंद्र मिश्र, सुविज्ञ दूबे, संजीव कुमार और प्रभात भारद्वाज इत्यादि शामिल थे.

    बिहार राज्य श्रमजीवी पत्रकार यूनियन की ओर से एक विरोध मार्च भी निकाला गया. पटना में यूनियन के कार्यालय से डाक बंगला चौराहा तक यह विरोध मार्च निकला. मार्च का नेतृत्व यूनियन के प्रदेश अध्यक्ष नीतीश कुमार सोनी, महासचिव प्रेम कुमार, उपाध्यक्ष मृत्युंजय मानी, सचिव सविता कुमारी ने किया. यूनियन ने राजदेव रंजन के हत्यारों की अविलंब गिरफ्तारी की मांग की. यूनियन की ओर से यह भी मांग की गई कि राज्य में पत्रकार सुरक्षा कानून लागू किया जाए. कल यूनियन का प्रतिनिधिमंडल राज्य के मुख्यमंत्री तथा पुलिस महानिदेशक को अपना ज्ञापन सौंपेगा.

    राज्य के अन्य हिस्सों में भी विरोध प्रदर्शन किया गया. नालंदा जिला में पत्रकारों ने कैंडल मार्च निकालकर अपना विरोध प्रदर्शित किया. छपरा के सभी पत्रकारों ने मौन रखकर अपना विरोध प्रदर्शन किया. किशनगंज में पत्रकारों ने काला बिल्ला लगाकर अपना विरोध प्रदर्शन किया. जिला जनसंपर्क पदाधिकारी कार्यालय में एक शोक सभा आयोजित कर दिवंगत आत्मा की शांति के लिए ईश्वर से प्रार्थना की गई. सोमवार को जिला में हत्या के विरोध में मौन जुलूस निकालकर नगर भ्रमण किया जाएगा. यहां के पत्रकार मृतक के परिजनों को सहयोग राशि भी भेजेंगे.

    About The Author

    Number of Entries : 5333

    Leave a Comment

    हमारे न्यूज़लेटर के लिए साइन अप करें

    VSK Bharat नवीनतम समाचार के बारे में सूचित करने के लिए अभी सदस्यता लें

    Scroll to top