करंट टॉपिक्स

राज्यपाल के हस्तक्षेप की मांग

Spread the love

Virodh Pradarshan Haryanaचंडीगढ़. हरियाणा में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ताओं ने रोहतक में एक शाखा-स्थल पर एक कांग्रेस विधायक के समर्थकों द्वारा की गई मारपीट की घटना के विरोध में और आरोपियों के विरुद्ध कार्रवाई की मांग को लेकर 18 सितंबर को राज्य के हर जिले में विरोध-प्रदर्शन किया. उन्होंने जिला आयुक्तों को राज्यपाल श्री कप्तान सिंह सोलंकी को संबोधित ज्ञापन भी सौंपे. इनमें मामला दर्ज कर दोषियों की अविलंब गिरफ्तारी की मांग की गई है.

ज्ञापन में घटना को ब्योरा देते हुए बताया गया है कि “गत 14 सितम्बर को हुड्डा सिटी पार्क रोहतक में सांय 5:30 बजे बालकों की शाखा लग रही थी. तभी विकास हुड्डा उर्फ़ मोनू, देवेन्द्र हुड्डा व 3 अन्य लोग शाखा पर आये और कहने लगे कि इस पार्क में कांग्रेस के विधायक श्री भारत भूषण बत्रा का कार्यक्रम है, इसलिये तीन सेकंड में पार्क खाली कर दो. स्वयंसेवकों ने कहा कि कार्यक्रम पार्क के दूसरे कोने में हैं और हमसे आपको को कोई परेशानी नहीं होगी. परन्तु उन कांग्रेसी गुंडों ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के जिला प्रचारक प्रवीण कुमार से कहा कि 3 सेकंड में यहाँ से जाओ नहीं तो जान से मार देगे और तुरन्त बाद उन्होंने जिला प्रचारक व शाखा में खेल रहे छोटे बालको की बेरहमी से पिटाई शुरू कर दी. यह सब देखकर वहां के एक स्थानीय व्यक्ति जितेन्द्र गहलावत (जो उस पार्क कमेटी के सदस्य भी हैं) ने बीच बचाव किया तो उन गुंडों ने उन्हें बुरी तरह से पीटा, जिससे श्री गहलावत के दांत भी टूट गये”.

Virodh Pradarshan-Dharna-Haryana Prantज्ञापन में यह भी बताया गया है कि इस घटना के बाद उसी दिन सायंकाल संघ के कार्यकर्ताओं ने अपनी लिखित शिकायत सिविल लाइन थाना, रोहतक में दर्ज करा दी परन्तु इस पर अब तक पुलिस ने कोई कार्रवाई नहीं की है. यहां तक कि प्राथमिकी तक दर्ज नहीं की है, जिसके कारण संघ कार्यकर्ताओं में भारी आक्रोश है.

राज्यभर के स्वयंसेवकों की ओर से राज्यपाल से कहा गया है कि सत्तादल के एक विधायक की खातिर जान से मारने की धमकी देते हुए बेरहमी से पिटाई करना राज्य की कानून-व्यवस्था पर बहुत बड़ा प्रश्नचिन्ह है. साथ ही, यह लोकतान्त्रिक व्यवस्था एवं संविधान के अनुछेद 19 का खुल्ला उल्लंघन है.

Dharna

 

 

 

 

 

Gyapan

Leave a Reply

Your email address will not be published.