करंट टॉपिक्स

शीतकाल में भी पर्यटक कर सकेंगे चारधाम यात्रा

Spread the love

देहरादून (विसंके). इस बार श्रद्धालु शीतकाल में भी चारधाम यात्रा का आनंद ले सकेंगे. इसके लिये हर पहलू पर विचार  शुरू हो गया है. हालांकि धर्माधिकारियों में इस बात को लेकर कुछ आशंका अवश्य है, लेकिन मौसम अनुकूल रहा तो यह प्रयास पर्यटन के लिये पहाड़ी वादियों में घूमने-फिरने का सुनहरा अवसर होगा.

सरकार की शीतकालीन चारधाम यात्रा में रोडवेज की अहम भूमिका रहेगी. शीतकालीन चारधाम यात्रा को शुरुआती चरणों में निर्बाध परिवहन सेवा से ही कामयाब बनाया जा सकता है. इन परिस्थितियों को देखते हुए परिवहन निगम अभी से तैयारी में जुट गया है. चारधाम यात्रियों को बेहतर परिवहन सुविधा के लिये रोडवेज सरकार से बीस छोटी नई बसों की मांग कर रहा है. इसके अलावा ‘मेरे बुजुर्ग मेरे तीर्थ’ योजना के लिये भी अलग से बीस नई बसों की मांग की जा रही है. सरकार ने हाल ही में पर्वतीय जिलों को साल भर पर्यटन से जोड़ने के लिये शीतकालीन चारधाम योजना बनाई है. इसके तहत प्रदेश के चारधाम में निवास करने वाले देवताओं के शीतकालीन प्रवास क्षेत्र तक यह यात्रा संचालित की जायेगी. तीर्थ पुरोहितों ने भी सरकार की इस योजना को अपनी सहमति दे दी है. ऐसे में सरकार के सामने अब इस योजना को सफल बनाने की जिम्मेदारी है. इसमें सबसे अहम इन क्षेत्रों में निर्बाध परिवहन सेवा उपलब्ध कराना है.

माना जा रहा है कि निजी ऑपरेटर शीतकालीन चारधाम यात्रा में शुरुआती चरणों में दूरी बनाये रख सकते हैं. कारण यह कि अभी यह योजना शुरू नहीं हो पाई है और यह भी नहीं पता कि कितने यात्री इस ओर आकर्षित होंगे. ऐसे में शीतकालीन चारधाम यात्रियों को परिवहन सुविधा उपलब्ध कराने की पूरी जिम्मेदारी परिवहन निगम के कंधों पर आ जायेगी. परिवहन निगम ने भी इस दिशा में अपनी तैयारी शुरू कर दी है. इसके लिये निगम अब बीस नई छोटी बसों के लिये सरकार से गुहार लगा रहा है. निगम के प्रबंध निदेशक बीके संत का कहना है कि यात्रियों को बेहतर सुविधा उपलब्ध कराने के लिये बीस नई बसें शीतकालीन चारधाम यात्रा और बीस बसें ‘मेरे बुजुर्ग मेरे तीर्थ’ योजना के लिये लेने की आवश्यकता अनुभव की गई है. इसके लिये शासन से अनुरोध किया जा रहा है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.