संस्कारित समाज से स्वस्थ्य भारत का होगा निर्माण – ऋषि डंडवाल Reviewed by Momizat on . देहरादून, 20 अप्रैल. (विसंके).  अभावों एवं शिक्षा के बीच पल रहे बच्चों का जीवन संवारने का कार्य सेवा भारती अपने विभिन्न केन्द्रों के माध्यम से कर रही है. इन बच् देहरादून, 20 अप्रैल. (विसंके).  अभावों एवं शिक्षा के बीच पल रहे बच्चों का जीवन संवारने का कार्य सेवा भारती अपने विभिन्न केन्द्रों के माध्यम से कर रही है. इन बच् Rating: 0
    You Are Here: Home » संस्कारित समाज से स्वस्थ्य भारत का होगा निर्माण – ऋषि डंडवाल

    संस्कारित समाज से स्वस्थ्य भारत का होगा निर्माण – ऋषि डंडवाल

    Spread the love

    देहरादून, 20 अप्रैल. (विसंके).  अभावों एवं शिक्षा के बीच पल रहे बच्चों का जीवन संवारने का कार्य सेवा भारती अपने विभिन्न केन्द्रों के माध्यम से कर रही है. इन बच्चों को संस्कारमय शिक्षा के साथ उन्हें स्वावलंबी बनाना प्रमुख उदेदश्य है. इसी सोच के साथ, पूरे देश में सेवा भारती केन्द्रों को चला रही है.

    सेवा भारती देहरादून महानगर द्वारा आज महदेवी कन्या पाठशाला इण्टर कॉलेज में वार्षिकोत्सव आयोजित किया गया. इस अवसर पर सेवा केन्द्रों के छात्र-छात्राओं द्वारा नाटक, कव्वाली, गीत संगीत, कविता सहित दर्जनों प्रस्तुतियां देकर उपस्थित अभिभावकों व अतिथियों को मंत्रमुग्घ कर दिया. हर गीत-संगीत पर तालियां ही बजती रहीं.

    कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में बोलते हुए सेवा भारती के अखिल भारतीय महामंत्री ऋषि डंडवाल ने कहा कि शिक्षित, स्वस्थ्य व संस्कारित समाज ही स्वस्थ्य भारत का निर्माण कर सकता है. इसी उदेदश्य को लेकर सेवा भारती देश भर में गरीब व असहायों लोगों के बीच में सेवा कार्य कर संस्कारवान व संस्कृति को गति प्रदान करने का कार्य कर रही है. कार्यक्रम की अध्यक्षता प्रसिद्ध उद्योगपति श्री राकेश ओबराय ने की. उन्होंने सेवा भारती के कार्यक्रम व बच्चों को प्रतिभा की प्रंशासा की.

    वार्षिकोत्सव में स्कॉलर होम की प्राचार्य श्रीमती छाया खन्ना के अलावा सेवा भारती के अखिल भारतीय संगठन मंत्री भास्कर कुलकर्णी, प्रांत सेवा प्रमुख सुरेश जुवाल, सेवा सह प्रमुख विनोद मित्तल तथा प्रांत कार्यवाह  लक्ष्मी प्रसाद जायसवाल की उपस्थछिति उल्लेखनीय थी.

    सेवा भारती के कार्य

    बाल संस्कार, महिला सिलाई, कम्पयूटर, चिकित्सावैन, कोचिंग, महिला मण्डली, झोला पुस्तकालय, निःशुल्क विधि परामर्श, ब्यूटी पार्लर, योग  केन्द्र संचालित हो रहे है. जो वर्ष 2012 में 47, और 2013 में 75 तथा 2014 में 96 केन्द्र संचालित हो रहे है. सेवा भारती का कार्य सर्वप्रथम दिल्ली में वर्ष 1978 में शुरू हुआ तथा उत्तरांचल में 1989 में जबकि स्थापित पंजीकरण 2002 में हुआ. भारत में सेवा प्रक्ल्प की संख्या 133397 जबकि उत्तरांचल में 140 केन्द्र चल रहे हैं.

    •  
    •  
    •  
    •  
    •  

    About The Author

    Number of Entries : 6865

    Leave a Comment

    हमारे न्यूज़लेटर के लिए साइन अप करें

    VSK Bharat नवीनतम समाचार के बारे में सूचित करने के लिए अभी सदस्यता लें

    Scroll to top