करंट टॉपिक्स

सेवा भारती ने निकाली 57 वरों की सामूहिक वरयात्रा

Spread the love

जोधपुर. हिन्दू संस्कृति के सोलह संस्कार में से एक पाणिग्रहण संस्कार  महत्वपूर्ण संस्कार है. इन दिनों, विवाह संस्कार बहुत ही  खर्चीला तथा आडम्बरपूर्ण हो चुका है. सामान्यजन के लिये विवाह कार्यक्रम संपन्न करवाना बहुत ही कठिन हो गया है. सामाजिक समरसता का भाव लिये सर्वजातीय सामूहिक विवाह समारोह सम्पन्न करवाने का निर्णय सेवा भारती  तथा सुदर्शन  सेवा संस्थान ने जोधपुर में पहली बार लिया.

आयोजन समिति के अध्यक्ष रतन लाल जी गुप्ता “काका” ने  बताया कि अक्षय तृतीया के पावन  अवसर  पर कुल 57 जोड़ों के विवाह सम्पन्न करवाये गये.

गाजे-बाजे  के संग बड़े हर्षोल्लास  के साथ सभी दूल्हों  की बारात एक साथ प्रातः 11 बजे जूना खेड़ापति बालाजी से रवाना होकर विवाह स्थल “श्रुतम्”, आदर्श विद्या मन्दिर, केशव परिसर, कमला नेहरू नगर पहुंची. दूल्हों की सामूहिक बारात का दृश्य देखते ही बन रहा था.  बारात का कई स्थानों पर पुष्प-वर्षा से स्वागत किया गया. सामूहिक बारात का विवाह-स्थल पर पहुँचने पर आयोजन समिति के सदस्यों तथा शहर के गणमान्य नागिरकों ने  भव्य स्वागत किया.

पंडित राजेश दवे के नेतृत्व में पाणिग्रहण संस्कार  सम्पन्न कराया गया और तत्पश्चात सामूहिक  भोज का सभी ने आनंद लिया.

काका जी ने  बताया कि इस अवसर पर इस विवाह समारोह के आयोजन के भामाशाहों  तथा कन्या दान करने वाले समाजसेवियों तथा अतिथियों का अभिनन्दन भी किया गया.  विवाहित जोड़ों को सायं 4 बजे विदा किया गया.

आयोजन समिति के महामंत्री कमलेश गहलोत  ने बताया कि इस कार्यक्रम में क्षेत्र  प्रचारक दुर्गादास जी, प्रान्त प्रचारक मुरलीधर जी, प्रान्त संघचालक ललित जी शर्मा तथा प्रान्त कार्यवाह जसवंत जी खत्री , राजस्थान के महाधिवक्ता नरपत मल जी लोढ़ा, सेवा भारती के श्रीकिशन जी गहलोत , विभाग प्रचारक चंद्रशेखर जी, राज्य सभा सांसद  नारायण  पंचारिया, जोधपुर विधायक कैलाश भंसाली , सूरसागर विधायिका सूर्यकांता व्यास, शेरगढ़ विधायक बाबू सिंह राठौड़ , लूणी विधायक जोगाराम पटेल, अतिरिक्त महाधिवक्ता कान्ति  लाल ठाकुर और समाजसेवी घनश्याम ओझा ने इस मांगलिक आयोजन में सम्मिलित होकर गरिमा में अभिवृद्धि की.

Leave a Reply

Your email address will not be published.