करंट टॉपिक्स

स्वयंसेवकों ने लखनऊ में दो स्थानों पर शुरू किए राहत केंद्र

Spread the love

लखनऊ. कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में 21 दिनों के लॉकडाउन के दौरान जरूरतमंदों की सहायता के लिए राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सेवा विभाग की ओर से लखनऊ में दो स्थानों पर राहत केंद्र शुरू किये गए हैं.

प्राप्त जानकारी के अनुसार संघ कार्यालय, सरस्वती विद्या मन्दिर सेक्टर क्यू अलीगंज व सियाराम जानकी गेस्ट हाउस, बुद्धेश्वर में राहत केंद्र शुरू किये गए हैं. दोनों केंद्रों पर वितरण के लिए समाज से एकत्रित किए गए राशन, सब्जी, नमक, मसाले आदि के पैकेट बनाए जा रहे हैं. वितरण के लिए राहत पैकेट में 10 किलो आटा, 5 किलो चावल, 3 किलो दाल, 1 किलो नमक, 5 किलो आलू, आधा किलो सरसों का तेल, और सब्जी मसाला दिया जा रहा है.

इन राहत केंद्रों से से प्रतिदिन लगभग एक हजार पैकेट राहत सामग्री जरूरतमन्दों को उनके स्थान पर जाकर दी जा रही है. वहीं दोनों राहत केंद्रों के लिये हेल्पलाइन नंबर जारी किये गए हैं. संघ कार्यालय, सरस्वती विद्या मन्दिर सेक्टर क्यू अलीगंज के लिये अभिषेक मोहन जी, सह भाग कार्यवाह (6306802880), सियाराम जानकी गेस्ट हाउस, बुद्धेश्वर के लिये अनुज जी, भाग कार्यवाह (8127404031) से संपर्क कर सकते हैं, स्वयंसेवक सामग्री का पैकेट जरूरतमंदों तक पहुंचाएंगे.

स्वयंसेवक उपलब्ध करवा रहे भोजन

लखनऊ. कोरोना वायरस के खिलाफ जंग के लिए देशभर में लागू लॉकडाउन के कारण दिल्ली की ओर से उत्तर प्रदेश रोडवेज़ की बसों से वापिस आ रहे लोगों के लिए कई स्थानों पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवकों द्वारा भोजन की व्यवस्था की गई है.

राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पूर्वी उत्तर प्रदेश द्वारा औरेया, इटावा, अकबरपुर, कानपुर, गोरखपुर, प्रयागराज, काशी आदि स्थानों पर भोजन पैकेट व पानी व्यवस्था बसों में ही उपलब्ध करायी जा रही है. स्वयंसेवक सोशल डिस्टेंसिंग को लेकर भी लोगों को जागरूक कर रहे हैं. इसे ध्यान में रखते हुए ही भोजन निर्माण व वितरण किया जा रहा है.

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

One thought on “स्वयंसेवकों ने लखनऊ में दो स्थानों पर शुरू किए राहत केंद्र

  1. बहुत सुंदर कार्य , जन सेवा ही प्रभु सेवा है।
    “राष्ट्र की सेवा में ही मोक्ष की पथ है l”….. मम वाणी
    सभी स्वयंसेवकों को जय श्री राम

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *