करंट टॉपिक्स

हिन्दुओं के खिलाफ लव जिहाद एक शातिराना साज़िश

Spread the love

रांची (विसंके) अभी नेशनल शूटर तारा शाहदेव का मामला शांत भी नही हुआ कि  झारखंड के रांची, हजारीबाग, चतरा और रामगढ़ जिले में लव जिहाद के मामले उजागर हुये. झारखंड में हिन्दुओं के खिलाफ चल रही शातिराना साजिश का पर्दाफ़ाश हुआ है, पहले मामले में नेशनल शूटर तारा शाहदेव को रकीबुल उर्फ़ रंजीत ने अपना शिकार बनाया तो दूसरी घटना चतरा जिले की है, जहां एक लव जिहादी ने अपना नाम बदलकर हिन्दू लड़की से प्यार का नाटक रचा और फिर उसे इस्लाम मत अपनाने के लिये प्रताड़ित करना शुरू कर दिया. यासीन ने सोनू सिंह के नाम से फर्जी पहचान पत्र बनवाकर स्वयं को हिन्दू प्रदर्शित किया और चतरा की एक हिन्दू युवती को पहले तो अपने प्यार के जाल में फँसाया फिर उस युवती को शादी का झाँसा देकर उसके साथ लंबे समय से उसका शारीरिक शोषण करता रहा.  पर जब उस युवती को यह पता चल पाता कि उसका प्रेमी हिन्दू समुदाय से न होकर मुस्लिम समुदाय से है, उसके पैरो तले की जमीन ही खिसक गई, क्योंकि तब-तक उसका घर-संसार सब कुछ लुट चुका था. मोहम्मद यासीन उर्फ़ सोनू लावालौंग थाना के माडो गाँव का रहने वाला है, जबकि पीड़िता प्रतापपुर थाना क्षेत्र के बरवा टोला गांव की रहने वाली बताई जा रही है.

बहरहाल चतरा पुलिस पीड़िता को चतरा सदर अस्पताल में उसका मेडिकल जाँच करवाकर पूरे मामले की जांच में जुट गई है. भले ही पीड़िता की मेडिकल जाँच का नतीजा अभी तक चतरा पुलिस को नहीं मिला है, पर मेडिकल जाँच में यह बात जरूर सामने आई है कि पीड़िता आठ माह से गर्भवती है.

इधर मोहम्मद यासीन को भी इस बात की भनक लग गई थी कि चतरा पुलिस कभी भी उसे गिरफ्तार कर सकती है. कहीं उसके इस झूठे प्यार के ड्रामे से पर्दा न उठ जाये,  इस बात के डर से यासीन उर्फ़ सोनू युवती को लेकर फरार हो गया, जिसके भागने की भनक ग्रामीणों को लग गई. ग्रामीणों ने यासीन उर्फ़ सोनू का पीछा करते हुए दोनों को लावालौंग थाना क्षेत्र के माडो गांव में रहने वाले अरुण सिंह के घर से धर दबोचा तथा पुलिस को यह सूचना दे दी. पुलिस ने मामले की गंभीरता को देखते हुए मौके पर पहुँचकर युवक एवं युवती दोनों को अपने कब्जे में ले लिया. इसके बाद जो हुआ उससे पीड़िता के साथ-साथ पूरे गांव के लोगों के होश उड़ गये. यासीन के पास से सोनू सिंह के नाम का फर्जी वोटर आईडी कार्ड उसकी काली करतूतों को साबित करने के लिये काफी था. जब पुलिस ने कड़ाई के साथ उससे पूछ-ताछ की तो वह टूट गया और उसने अपना जुर्म कुबूल करते हुए बताया कि वह सोनू सिंह के नाम से ही युवती के नजदीक गया था. युवती ने बताया कि उसे नहीं पता था की सोनू दूसरी जाति का है. सबसे आश्चर्य की बात तो ये है कि दोनों कई बार हजारीबाग के एक होटल में भाई-बहन होने की बात कहकर रात बिताते थे. उस दौरान भी यासीन ने फर्जी पहचान पत्र का ही सहारा लिया था.

इसी तरह रामगढ़ जिले के कुजू ओपी के केदला-15 नम्बर में रहनेवाली सुनीता देवी ने कुछ दिन पूर्व जिले के ही सारुबेडा निवासी बबलू मुंडा से शादी की थी. जब सुनीता देवी अपने ससुराल गयी तो उसके पाँव तले जमीन खिसक गयी क्योंकि बबलू मुंडा के रूप में लव जिहादी इदरीस अंसारी निकला. बबलू मुंडा का असली नाम इदरीस अंसारी पिता-शाहिल अंसारी जो शादी शुदा और एक बेटी का बाप भी है. पीडिता ने न्याय की गुहार की है.

उधर, हजारिबाग के पेलावल ओपी काण्ड संख्या 18714 के अनुसार  जिले के रोमा गाँव के इम्तियाज़ अंसारी नामक युवक ने पिछले दिनों सूरज प्रजापति की बहन का अपहरण कर लिया है जिसे पुलिस आज तक बरामद नही कर सकी.

झारखंड के विभिन्न जिलों में लव जिहाद के घृणित मामले उजागर होते ही राज्य में सक्रिय हिंदू संगठन हिदू जागरण मंच, विश्व हिन्दू परिषद् एवं अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के कार्यकर्ताओं ने भी आरोपी युवकों के विरुद्ध मोर्चा खोल दिया है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.