करंट टॉपिक्स

हिन्दू का अर्थ ही हिंसा न करने वाला है – डॉ. भगवती प्रकाश जी

Spread the love

जालोर..2भीनमाल (जालोर ). क्षेत्र संघचालक डॉ भगवती प्रकाश जी ने कहा कि हिन्दू का अर्थ ही हिंसा न करने वाला है. हिन्दू सर्वे भवन्तु सुखिनः की कामना करता है.  हिन्दू मनुष्य के साथ साथ पशु पक्षियों के भी सुख की कामना करने वाला है. भारत पवित्र भूमि है, विश्व में शांति हो, यही इसकी कामना रहती है. उन्होंने महान संस्कृति की रक्षा के लिए देशी  गाय पालने, वृक्षारोपण करने, जल बचाने, पॉलिथीन का उपयोग न करने का आग्रह किया. उन्होंने कहा कि समाज को सुरक्षित रखने के लिए संगठन की महती आवश्यकता है. 20  दिनों तक स्वयंसेवकों ने तपस्या की है, वह देशहित में है. वह संघ शिक्षा वर्ग प्रथम वर्ष के समारोप कार्यक्रम में मुख्य वक्ता के रूप में संबोधित कर रहे थे.

उन्होंने चीनी घुसपैठ पर चिंता जताते कहा कि एक तरफ चीन देश में घुसपैठ कर रहा है, दूसरी तरफ उस देश की वस्तुओं का अपनाकर हम उसे मजबूत बना रहे हैं, जो सभी के लिए चिंता का विषय हैं. स्वदेशी अवधारणा पर बल देते हुए चीनी वस्तुएं खरीदने को देश  की अर्थव्यवस्था पर बहुत बड़ा नुकसान बताया. उन्होंने कहा कि हमेशा विदेशों का प्रयास भारतीय संस्कृति को नष्ट करने का रहा है. ऐसे देशों से सावधान रहने की आवश्यकता पर बल देते कहा कि देश में नक्सलवाद, अलगाववाद, आतंकवाद के माध्यम से राष्ट्र को कमजोर करने का प्रयास किया जा रहा है, जिसको रोकने के लिए सामूहिक प्रयासों की आवश्यकता हैं.

जालोर..3उन्होंने योग के लाभ से अवगत करवाते हुए कहा कि भारत के ज्ञान को संपूर्ण विश्व ने सराहा है. इसी कारण संसार के 193 देशों ने इसे स्वीकार कर 21 जून को अंतरराष्ट्रीय योग दिवस के रूप में मनाने का निर्णय लिया है. इतिहास साक्षी  है कि वेदों में सभी जीवों के प्रति दया रक्षा का भाव विद्यमान है, जिसमें परोपकार से पुण्य की प्राप्ति होती है. भारतीय गाय के दूध, मूत्र, गोबर से कई गंभीर बीमारियों का इलाज होता है, जबकि विदेशी नस्ल की गायों से कई प्रकार की बीमारियां पैदा होती है.

विश्व  के सबसे बड़े गैर सरकारी संगठन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का कार्य सुचारू रूप से चलाने के पिछे   कार्यकर्ताओं का महत्वपूर्ण योगदान रहता है. संघ की रीतिनीति एवं कार्यप्रणाली में ढालने के लिए कार्यकर्ताओं के प्रशिक्षण के लिए यह वर्ग देश  भर में आयोजित किये जाते हैं. भीनमाल के आदर्श विद्या मंदिर में जोधपुर प्रान्त के बाडमेर व पाली विभाग के संघ शिक्षा वर्ग प्रथम वर्ष में 325 स्वयंसेवकों ने प्रशिक्षण प्राप्त किया. वर्ग के समारोप कार्यक्रम में स्वयंसेवकों ने घोष, योगासन, व्यायाम, नियुद्ध एंव दण्ड युद्ध आदि का सामूहिक रूप से प्रदर्शन किया.  भैरूनाथ अखाडा सिरे मन्दिर के महंत गंगानाथ का पावन सानिध्य रहा. मुख्य आतिथ्य सेवानिवृत भारतीय प्रशासनिक अधिकारी ठाकुर गंगासिंह रामसीन का था. कार्यक्रम में भीनमाल के 11 बस्तियों से 300 परिवार के सदस्यों ने सहभोज में भाग लिया. वर्ग कार्यवाह गंगाविष्णु ने वर्ग का प्रतिवेदन प्रस्तुत किया. इस अवसर पर प्रान्त प्रचारक मुरलीधर जी सहित अन्य गणमान्यजन उपस्थित थे.

जालोर..1 जालोर..जालोर..4

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *