करंट टॉपिक्स

हिमाचल निवासी ने पगड़ियों से मास्क से तैयार कर गरीबों में बांटे

Spread the love

मंडी के कनैड गांव के अमरजीत ने मास्क बनाने के लिए दी पगड़ियां

शिमला. कोरोना संकट के दौरान बहुत से लोग ऐसे हैं, जिन्होंने पर्दे के पीछे रहकर चुपचाप अपनी भूमिका निभाई है. हिमाचल प्रदेश के मंडी जिले के कनैड गांव के रहने वाले सरदार अमरजीत सिंह भी उन्हीं लोगों में से एक हैं. संकटकाल में लोगों की सहायता का उनका प्रयास प्रेरणादायक है.

परमात्मा किसी के सर पर अपने पग धरता है तो उसे पगधरी या पगड़ी कहा जाता है. सिक्ख समुदाय में सिर का ताज समझी जाने वाली पगड़ी का महत्व पूरा विश्व जानता है. सिक्ख पगड़ी के सम्मान के लिए अपने प्राणों तक को दांव पर लगा देते हैं. आज संकट के काल में लोगों की जान बचाने का साधन बनी है.

मंडी के कनैड गांव निवासी अमरजीत ने कोरोना महामारी से निपटने के लिए अपनी 11 नई पगड़ियां मास्क बनाने के लिए प्रदान कर दीं. अमरजीत सिंह की पगड़ियों से एक हजार मास्क तैयार किए गए. जो गरीब लोगों को कोरोना संक्रमण से बचाने के लिए वितरित किए गए. एक पगड़ी की औसत लम्बाई 5 मीटर से लेकर 8 मीटर तक होती है. पगड़ी का दान किसी भी सिक्ख के लिए त्याग से कम नहीं आंका जा सकता, लेकिन जब अमरजीत ने देखा कि लॉकडाउन के कारण लोग घरों में बंद हैं.

लॉकडाउन का दौर चला तो क्षेत्र में सेनेटाइजर और मास्क की कमी हो गई. क्षेत्र की सारी दुकानें लॉकडाउन के कारण बंद थीं. कपड़ा उपलब्ध नहीं हो रहा था. लोग बाहर निकलते हैं तो मास्क के अभाव में जीवन को खतरे में डालते हैं. यही बात उनके मन को कचोट गयी और उन्होंने अपने स्तर पर लोगों की सहायता का मन बनाया. ऐसे में अमरजीत सिंह ने अपनी 11 नई पगड़ियों को कटवाकर उनके मास्क बनवाए और जरूरतमंदों को बांटे. उन्होंने यह मास्क खासतौर पर गरीबों, अपंगों और प्रवासी मजदूरों के बीच बांटे. अमरजीत अभी भी नया कपड़ा खरीदकर लोगों में मास्क बांट रहे हैं.

सिर्फ सेवा करना है अमरजीत के जीवन का ध्येय

जरूरतमंदों की सेवा करना ही अमरजीत का ध्येय है. जिसके लिए वह हर समय प्रयास करते रहते हैं. अमरजीत ने इससे पहले भी अनेक सामाजिक कार्यों में अपनी सहभागिता निभाई है. एक कोरोना मरीज की हालत खराब होने पर उसे मंडी के लिए रैफर करते समय मृत्यु हो गयी थी, ऐसे में शव के पास जाने में परिजन तक कतरा रहे थे तो अमरजीत ने उसके अंतिम संस्कार में सहयोग कर जिम्मेवारी निभाई.

अमरजीत का कहना है कि वह जरूरतमंदों की सहायता के लिए हर समय तत्पर हैं और कोई भी उनके लिए छोटा या बड़ा नहीं है. अमरजीत रेडक्रॉस सोसायटी मंडी से जुड़े हैं और मुश्किल समय में लोगों के काम आते रहते हैं.

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *