करंट टॉपिक्स

हेमंत घोष विद्यार्थी परिषद के प्रदेशाध्यक्ष बने

Spread the love

unnamedजोधपुर (विसंके). श्री हेमंत घोष अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद का प्रदेशाध्यक्ष  बनाया गया हैं. वे जोधपुर के एक सरकारी स्कूल में शिक्षक हैं. यह निर्णय अमृतसर में आयोजित परिषद के तीन दिवसीय राष्ट्रीय अधिवेशन में राजस्थान के चुनाव अधिकारी दिनेश शर्मा ने किया. श्री घोष पहले ऐसे कार्यकर्ता हैं जिन्हें पश्चिमी राजस्थान से पहली बार अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद के प्रदेशाध्यक्ष का दायित्व मिला हैं. साथ ही, उन्हें सबसे कम आयु के प्रदेशाध्यक्ष बनने का अवसर भी मिला है.

उपाध्यक्ष पद पर सुखाड़िया यूनिवर्सिटी के प्रो. आनंद पालीवाल, बारां के दिनेश शर्मा, गवर्नमेंट इंजीनियरिंग कॉलेज अजमेर के जिनेश जैन, आरआर कॉलेज, अलवर में प्रवक्ता डॉ. राजेश यादव को मनोनीत किया गया है. प्रदेश कोषाध्यक्ष लोकेश प्रताप सिंह प्रदेश कार्यालय मंत्री हेमंत जैन को बनाया गया है. जोधपुर के राजेश गुर्जर को प्रदेश मंत्री बनाया गया है.

सरकारी सेवा में अध्यापक पद पर कार्यरत घोष अपने छात्र जीवन में 1989 से ही अभाविप से जुड़े हैं. वे पूर्व में जोधपुर महानगर मंत्री, विभाग प्रमुख, राष्ट्रीय कार्यकारिणी सदस्य रह चुके हैं. वर्ष 2011 से अब तक वे अभाविप के प्रदेश उपाध्यक्ष थे. उन्होंने अनेक छात्र आंदोलनों का नेतृत्व भी किया है. प्रदेशाध्यक्ष बनाए जाने पर उन्होंने कहा कि राज्य सरकार के साथ तालमेल स्थापित कर छात्रहित में कार्य किए जायेंगे. साथ ही राज्य के विश्वविद्यालयों, कॉलेजों में शैक्षणिक माहौल स्थापित करने के प्रयास होंगे.

वहीं दुबारा प्रदेश मंत्री बनाए गये राजेश गुर्जर मूलतः नीम का थाना (सीकर) के रहने वाले है. वे बीएससी बीएड तक शिक्षा लेने के बाद वर्ष 2009 से अभाविप में प्रचारक (पूर्णकालिक) कार्यकर्ता है. वर्ष 2004 में अभाविप से जुड़ने के बाद से वे नगर मंत्री, अलवर जिला संगठन मंत्री जोधपुर विभाग में संगठन मंत्री भी रहे.

Leave a Reply

Your email address will not be published.