करंट टॉपिक्स

स्वाधीनता के अमृत महोत्सव के निमित्त देश में 75 दिनों तक 75 समुद्री तटों की सफाई की जाएगी

Spread the love

नई दिल्ली. केंद्रीय विज्ञान और प्रौद्योगिकी राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार), पृथ्वी विज्ञान राज्य मंत्री (स्वतंत्र प्रभार), प्रधानमंत्री कार्यालय, कार्मिक, लोक शिकायत, पेंशन, परमाणु ऊर्जा और अंतरिक्ष राज्य मंत्री डॉ. जितेंद्र सिंह ने नई दिल्ली स्थित पृथ्वी भवन में 17 सितंबर, 2022 को “अंतरराष्ट्रीय तटीय सफाई दिवस 2022” की तैयारियों की समीक्षा बैठक की अध्यक्षता की.

उन्होंने कहा कि हर वर्ष सितंबर के तीसरे शनिवार को आयोजित होने वाला यह वार्षिक कार्यक्रम इस बार 17 सितंबर को हो रहा है. इस साल यह आयोजन देश की स्वाधीनता की 75वीं वर्षगांठ के अवसर पर मनाए जा रहे अमृत महोत्सव वर्ष में आ रहा है. इस निमित्त 03 जुलाई से 17 सितंबर, 2022 तक यानि 75 दिनों के लिए पूरे देश के 75 समुद्री तटों पर तटीय स्वच्छता अभियान चलाया जाएगा.

डॉ. जितेंद्र सिंह ने कहा कि यह अपनी तरह का पहला और सबसे लंबे समय तक चलने वाला तटीय स्वच्छता अभियान होगा, जिसमें सबसे अधिक संख्या में लोग हिस्सा लेंगे. न केवल तटीय क्षेत्रों, बल्कि देश के अन्य हिस्सों की समृद्धि को लेकर “स्वच्छ सागर, सुरक्षित सागर” का संदेश देने के लिए इसमें आम आदमी की भागीदारी आवश्यक है.

यह भी सुझाव दिया कि तटीय क्षेत्रों के अलावा गैर-तटीय क्षेत्रों को भी विभिन्न विश्वविद्यालय, कॉलेज और अन्य संस्थानों में पर्यावरण व जलवायु परिवर्तन विभागों/प्रभागों के माध्यम से अंतरराष्ट्रीय तटीय सफाई दिवस पर स्थानीय लोगों तक संदेश पहुंचाने की योजना का निर्माण करना चाहिए. तटीय सफाई और सुरक्षा के संबंध में ज्ञान व जानकारी साझा करना देश के समग्र हित में है, न कि केवल कुछ तटीय राज्यों/जिलों के लिए.

75 दिनों तक चलने वाला यह कार्यक्रम 3 जुलाई, 2022 को विवरणिका (ब्रोशर) के विमोचन और पत्रकारों के साथ बातचीत से शुरू होगा. पूरे देश, विशेष रूप से तटीय राज्यों में इसकी औपचारिक शुरुआत होगी. वहीं, विचारक और मशहूर हस्तियां स्थानीय कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगी. तटीय स्वच्छता अभियान का लक्ष्य समुद्री तटों से 1,500 टन कचरे को हटाना है. यह समुद्री जीव और तटीय क्षेत्रों में रहने वाले लोगों के लिए एक बड़ी राहत होगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published.