करंट टॉपिक्स

समाज को सशक्त बनाने के लिए सुलभ और सस्ती स्वास्थ्य सेवा आवश्य़क – डॉ. मोहन भागवत जी

Spread the love

सरसंघचालक जी ने डॉ. दादा गुजर माता बाल रुग्णालय का उद्घाटन किया

पुणे. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि “समाज का हर अंग आज स्वस्थ नहीं है. इसलिए समाज के हर एक अंग को स्वस्थ बनाकर समाज को भी सशक्त बनाने के कार्य को ताकत देना आवश्य़क है”. “समाज की हर इकाई” को सशक्त बनाने के लिए सभी के लिए सुलभ और सस्ती स्वास्थ्य सेवा आवश्यक है.

सरसंघचालक जी ने पुणे के उपनगर हडपसर में महाराष्ट्र आरोग्य मंडल के डॉ. दादा गुजर माता बाल रुग्णालय का उद्घाटन किया. उद्घाटन कार्यक्रम में उपस्थित लोगों को सरसंघचालक जी ने संबोधित किया. ज्येष्ठ उद्योगपति और भारत फोर्ज के अध्यक्ष तथा व्यवस्थापकीय संचालक बाबा कल्याणी, उनकी पत्नी सुनीता कल्याणी, महाराष्ट्र आरोग्य मंडल के अध्यक्ष डॉ. एस. एफ. पाटील, उपाध्यक्ष सतीश आग्रवाल, सचिव अनिल गुजर, मंडल पदाधिकारी, कर्मचारी और अन्य उपस्थित थे.

केंद्रीय आयुष मंत्रालय के अनुदान से डॉ. दादा गुजर माता बाल रुग्णालय तैयार हुआ है. बलशील समाज के निर्माण की आवश्यकता पर डॉ. मोहन भागवत जी ने जोर दिया. उन्होंने कहा कि “हमें, एक देश के रूप में, दुनिया को कुछ देना चाहिए. हमारे पास वह क्षमता है. यदि हम ऐसा कर सके तो हम विश्व में एक मजबूत और शक्तिशाली देश के रूप में खड़े हो सकते हैं. इसके लिए राष्ट्र के प्रति अपनेपन और स्नेह की भावना को व्यक्त करने की जरूरत है.” समाज को बलवान बनाने के लिए स्नेहलिप्त कार्य को बल देना आवश्यक है.

उन्होंने कहा कि सहजता से व कम दामों में उपचार मिलना आवश्यक है. आयुर्वेद, एलोपेथी, होमियोपेथी जैसी विविध चिकित्सा पद्धति एक ही जगह उपलब्ध हो, तो सुलभ व कम दामों में उपचार मिल सकता है. आजकल दवा-पानी पर अधिक खर्च करना पड़ता है. उसका तनाव रुग्ण और उसके परिवार पर भी आता है. आयुर्वेद में इस पर भी विचार किया गया है. आयुर्वेद में ‘इलनेस के साथ वेलनेस’ का भी विचार है. इसलिए आयुर्वेद की विविध शाखाओं को बल देना आवश्यक है.

बाबा कल्याणी और डॉ. पाटील जी ने कार्यक्रम में अपना मनोगत व्यक्त किया. प्रकल्प प्रमुख डॉ. सुशील कुमार देशमुख व प्रकल्प समन्वयक डॉ. प्रणिता जोशी देशमुख जी ने रुग्णालय के बारे में जानकारी दी.

आर्किटेक्ट दिलीप काळे, कंत्राटदार श्री. व सौ. राजन वडकर जी का डॉ. भागवतजी ने सत्कार किया. अनिल गुजर जी ने  स्वागत व प्रास्ताविक रखा. स्नेहल दामले जी ने मंच संचालन किया. डॉ. समीर पवार जी ने आभार प्रकट किया.

Leave a Reply

Your email address will not be published.