करंट टॉपिक्स

गड़बड़ी के आरोप, मंदिर निर्माण में विघ्न डालने की साजिश – अखाड़ा परिषद

Spread the love

नई दिल्ली. श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र पर आम आदमी पार्टी के राज्यसभा सांसद संजय सिंह व सपा नेता तेज नारायण पांडेय द्वारा लगाए आरोपों को लेकर समस्त तथ्य सामने आ चुके हैं. विहिप के कार्याध्यक्ष एडवोकेट आलोक कुमार ने भी तथ्य सबके समक्ष रखते हुए मामले को राजनीतिक करार दिया है, साथ ही तीर्थ क्षेत्र को मानहानि का मुकदमा दायर करने की सलाह दी. संतों की सबसे बड़ी संस्था अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद, सहित संतों ने तीर्थ क्षेत्र का समर्थन किया है. साथ ही कहा कि मंदिर निर्माण में विघ्न डालने की साजिश रची जा रही है.

अखिल भारतीय अखाड़ा परिषद के अध्यक्ष महंत नरेंद्र गिरि ने कहा कि आरोप लगाने वाले वही लोग हैं, जो श्रीराम जन्मभूमि पर मंदिर निर्माण का विरोध कर रहे थे. जब उसमें सफल नहीं हुए तो अब श्रीराम मंदिर निर्माण में विघ्न डालने की साजिश रची जा रही है. ट्रस्ट का काम पूरी पारदर्शिता से होता है. ट्रस्ट के महासचिव चंपत राय की ईमानदारी पर किसी को संदेह नहीं है. जमीन खरीद पर बेबुनियाद आरोप लगाकर हिन्दुओं को गुमराह करके मंदिर निर्माण को प्रभावित करने की साजिश रची जा रही है, जिसमें कोई सफल नहीं होगा.

वहीं, टीकरमाफी आश्रम पीठाधीश्वर स्वामी हरिचैतन्य ब्रह्मचारी ने श्रीराम मंदिर जमीन की खरीद में भ्रष्टाचार का आरोप लगने पर चिंता व्यक्त की. मंदिर की जमीन में भ्रष्टाचार होने की उन्हें उम्मीद नहीं है.

कथावाचक शांतनु जी महाराज ने कहा कि राम जन्मभूमि में मंदिर निर्माण होने से हिन्दुत्व विरोधी ताकतें बेचैन हैं. असुरों की भांति वो मंदिर निर्माण के पवित्र कार्य में विघ्न पैदा कर रहे हैं. मनगढ़ंत आरोप लगाकर सनातन धर्मावलंबियों की भावनाएं आहत करके मंदिर निर्माण रोकने की साजिश की जा रही है.

ओम नम: शिवाय संस्थान के संस्थापक प्रभु जी ने श्रीराम मंदिर के पवित्र कार्य में राजनीति करने पर रोष प्रकट किया. कहा कि श्रीराम मंदिर हिंदुओं की आस्था, वैभव, गौरव व स्वाभिमान का प्रतीक है. उसमें किसी प्रकार का विघ्न न पैदा किया जाए. अगर श्रीराम मंदिर के मामले में नेता ओछी राजनीति करेंगे तो ईश्वर उन्हें कभी माफ नहीं करेंगे. इसकी सजा जरूर मिलेगी.

 

राम में हमारी आस्था, इसलिए जमीन तीर्थ क्षेत्र को दी – सुल्तान अंसारी

उधर, श्रीराम मंदिर तीर्थ क्षेत्र के साथ भूमि का एग्रीमेंट करने वाले सुल्तान अंसारी ने एक चैनल (ZEE उत्तर प्रदेश-उत्तराखंड) से बातचीत में कहा कि सपा नेता तेज नारायण पांडेय उर्फ पवन व आप नेता संजय सिंह का आरोप गलत है. कुसुम पाठक के साथ हमारा लैंड एग्रीमेंट 2011 से चलता चला आ रहा था, इसका चार बार रिन्युअल हुआ.

सुल्तान अंसारी ने कहा कि राम में हमारी आस्था है, इसलिए उनके काम के लिए हमने जमीन तीर्थ क्षेत्र को दी है. सर्किल रेट देखें तो यह जमीन 24 करोड़ की है. हमने राम मंदिर ट्रस्ट को कम कीमत में जमीन दी है. सारे आरोप गलत हैं और मेरे पास साक्ष्य हैं.

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *