करंट टॉपिक्स

विद्या मंदिरों में मुस्लिम व ईसाई वर्ग के लगभग 80,000 छात्र शिक्षा प्राप्त कर रहे

नई दिल्ली. अखिल भारतीय महामंत्री श्रीराम अरावकर ने कहा कि विद्याभारती अखिल भारतीय शिक्षा संस्थान की योजना से देशभर में जो विद्यालय संचालित किये जाते हैं, उनमें दी जाने वाली संस्कारक्षम शिक्षा की प्रशंसा समय-समय पर देश के प्रसिद्ध शिक्षाविदों, समाजसेवियों आदि ने भी की है. जाति, मत, पंथ, सम्प्रदाय के भाव से ऊपर उठकर देशभक्त और समाज के प्रति समर्पण का भाव रखने वाली संस्कारक्षम पीढ़ी का निर्माण करना हमारा लक्ष्य है. न्यूनतम शुल्क में उच्च गुणवत्तायुक्त शिक्षा के साथ-साथ बालक-बालिकाओं के सर्वांगीण विकास हेतु विद्या भारती कटिबद्ध है.

संस्थान की योजनान्तर्गत चलने वाले सभी विद्यालय पंजीकृत लोकन्यासों अथवा पंजीकृत समितियों द्वारा संचालित किये जाते हैं. जिनका प्रतिवर्ष नियमानुसार आर्थिक अंकेक्षण करवाया जाता है. तथा

नियमानुसार इनके निर्वाचन भी करवाए जाते हैं.

सामाजिक समरसता, सर्वपंथ समभाव तथा सभी विचारों का आदर व सम्मान पर हमारे विद्यालयों में विशेष आग्रह है. हमारे विद्यालयों में मुस्लिम व ईसाई वर्ग के लगभग 80,000 छात्र शिक्षा ले रहे हैं. जिन्होंने न केवल शैक्षिक दृष्टि से प्राविण्य सूची में भी उत्कर्ष स्थान प्राप्त किये हैं, वरन् अनेक छात्रों ने खेलों के क्षेत्र में भी अपने परिवार व विद्यालय का नाम गौरवान्वित किया है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *