You Are Here: Home » Articles posted by admin (Page 3)
    admin

    Number of Entries : 6554

    श्रमिक स्पेशल ट्रेन में स्वयंसेवकों द्वारा भोजन और मिनरल वाटर का निःशुल्क वितरण

    मुरादाबाद. कोरोना वायरस की वजह से देशभर में लागू लॉकडाउन के दौरान प्रावसी श्रमिकों की मदद के लिए स्वयंसेवक दिनरात जुटे हैं. इसी क्रम में सेवा भारती, मुरादाबाद ने आगामी एक सप्ताह तक प्रतिदिन लगभग 12000 से 15000 श्रमिकों को भोजन वितरण की योजना बनाई है. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के लगभग 400 स्वयंसेवक इस पुनीत कार्य में अपनी जान की परवाह किये बिना लगे हुए हैं. मुरादाबाद के स्वयंसेवक मार्च से ही सेवा कार्यों में ज ...

    Read more

    मॉब लिंचिंग – सब्जी वाले को पीट-पीटकर मार डाला, पुलिस ने दो को गिरफ्तार किया

    असम. कामरूप पुलिस ने सब्जी विक्रेता की हत्या के मामले में दो आरोपियों को गिरफ्तार किया है. तीन आरोपी अभी भी फरार बताए जा रहे हैं. पांचों ने मिलकर रविवार को सनातन डेका की निर्ममता से पीट-पीटकर हत्या कर दी थी. गिरफ्तार आरोपियों की पहचान फैजुर हक तथा युसुफुद्दीन अहमद के रूप में हुई है. मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार सब्जी विक्रेता सनातन डेका साइकिल से जा रहा था, इसी दौरान होजो कस्बे के पास मोनाकुची गांव में साइकिल ...

    Read more

    स्वदेशी स्वावलंबन अभियान – डिजिटल हस्ताक्षर अभियान

    नई दिल्ली. स्वदेशी स्वावलंबन अभियान के अन्तर्गत 25 मई को सुबह 9.00 बजे राष्ट्रव्यापी डिजिटल हस्ताक्षर अभियान का शुभारम्भ स्वदेशी जागरण मंच के राष्ट्रीय संयोजक आर. सुन्दरम जी ने मदुरई, तमिलनाडु से किया. साथ ही दिल्ली में आरके पुरम, शिव शक्ति मंदिर स्थित मंच के केंद्रीय कार्यालय में राष्ट्रीय संगठक कश्मीरी लाल जी, इस अभियान के राष्ट्रीय समन्वयक सतीश कुमार जी, कमलजीत जी ने अभियान की सफलता हेतु एक हवन किया. लगभ ...

    Read more

    झीरम घाटी हत्याकांड – सात साल बाद भी अनसुलझी है झीरम माओवादी हमले की कहानी

    रायपुर. 25 मई का दिन हर साल अपने साथ एक भीषण खूनी संघर्ष की याद वापिस लेकर आता है. देश के सबसे बड़े आंतरिक हमलों में से एक झीरम हत्याकांड. छत्तीसगढ़ के बस्तर क्षेत्र में सात साल पहले हुई इस नक्सली घटना ने सबको झकझोर कर रख दिया था. 25 मई, 2013 की शाम को हुए इस हमले में 32 लोग अपनी जान गंवा बैठे थे. हमले में जान गंवाने वाले ज्यादातर छत्तीसगढ़ कांग्रेस के शीर्ष नेता थे, जिनकी स्मृतियां ही आज हम सब के बीच बाकी रह ...

    Read more

    क्या प्रवासी श्रमिक भोजन के लिए तरसने वाले लोग हैं या देश की एकता के सेतु

    श्याम प्रसाद कोरोना से पूरा देश लॉकडाउन हो गया. प्रवासी श्रमिकों की अपने-अपने घर की ओर बाल-बच्चों के साथ पैदल चलने वाली हृदय विदारक तस्वीर ने देश की जनता के हृदयों को झकझोर दिया. सबसे पहले हमारी नजर में यह बात आई थी कि हर राज्य में हमारी कल्पना से परे प्रवासी श्रमिक जीवन बिता रहे हैं. ये प्रवासी श्रमिक कौन हैं? उनकी समस्याएँ क्या-क्या हैं? निकट रास्ते से अधिकार पाने की चाह रखने वाले हमारे राजनैतिक नेता कई ब ...

    Read more

    लॉकडाउन – चुनौतियों से निपटते हुए आत्मनिर्भरता की ओर

    नई दिल्ली. चीनी वायरस से बचाव के लिए भारत में घोषित लॉकडाउन को दो माह का समय पूरा हो गया है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने 24 मार्च को संबोधन के दौरान देश में पूर्ण लॉकडाउन की घोषणा की थी. उस समय देश में कोरोना से संक्रमितों की संख्या 500 के लगभग थी. लॉकडाउन को तीन बार आगे बढ़ाया गया. तथा लॉकडाउन के हर चरण में पहले अधिक छूट प्रदान की गई. वर्तमान में चल रहे लॉकडाउन 4.0 में पाबंदियों का स्वरूप बदल चुका है. जीव ...

    Read more

    गोरखपुर – संज्ञा समझाने के लिए शिक्षिका शादाब ने दिया पाकिस्तान का उदाहरण

    उदाहरण - पाकिस्तान हमारी प्रिय मातृभूमि है, मैं पाकिस्तान की सेना में शामिल होउंगा नई दिल्ली. उत्तर प्रदेश में एक शिक्षिका ने संज्ञा,  समझाने के लिए पाकिस्तान का सहारा लिया. शिक्षिका ने पढ़ाया - पाकिस्तान हमारी प्रिय मातृभूमि है. रशीद मिनहद एक बहादुर सैनिक था....ऐसे अन्य उदाहरण दिए, जब अभिभावकों ने रोष जताया और विवाद बढ़ने लगा तो शिक्षक की ओर से अजीब तर्क दिया गया कि गूगल ने सबसे छोटे उदाहरण ढूंढ कर बच्चों ...

    Read more

    संवेदनशील समाज – दिव्यांग एक साल तक वेतन का 30 प्रतिशत PM-CARES में देंगे

    सीडीएस जनरल रावत भी एक साल तक हर माह 50 हजार रुपये PM-CARES में देंगे दक्षिणी दिल्ली के गांव सैदुलाजाब के ग्रामीणों ने PM-CARES में दिए 11 लाख नई दिल्ली. भारत में कोरोना वायरस (Coronavirus) से अब तक सवा लाख से अधिक लोग संक्रमित हो चुके हैं. जबकि इस वायरस ने अब 3867 लोगों की जान ली है. संकट की घड़ी में समाज के लोग लगातार सहायता के लिए सामने आ रहे हैं. अपनी इच्छा और सामर्थ्य के अनुसार PM-CARES में राशि दे रहे ...

    Read more

    भाग तीन, नवसृजन की प्रसव पीड़ा है – ‘कोरोना महामारी’

    नरेंद्र सहगल भारत का वैश्विक लक्ष्य विश्व कल्याण सर्व सक्षम भारत की आध्यात्मिक परंपरा एकात्म मानववाद ही भारतीयता है                 प्रत्येक व्यक्ति, परिवार, समाज और राष्ट्र किसी दैवी उद्देश्य के साथ धरती पर जन्म लेते हैं. कर्म करने में स्वतंत्र सृष्टि के यह सभी घटक जब अपने-अपने कर्तव्यों को स्वार्थ रहित होकर निभाते हैं तो सृष्टि शांत रहती है. परंतु यही घटक जब अपने वा ...

    Read more

    क्रान्तिकारी रासबिहारी बोस

    25 मई / जन्मदिवस बीसवीं सदी के पूर्वार्द्ध में प्रत्येक देशवासी के मन में भारत माता की दासता की बेड़ियाँ काटने की उत्कृष्ट अभिलाषा जोर मार रही थी. कुछ लोग शान्ति के मार्ग से इन्हें तोड़ना चाहते थे, तो कुछ जैसे को तैसा वाले मार्ग को अपना कर बम-गोली से अंग्रेजों को सदा के लिये सात समुन्दर पार भगाना चाहते थे. ऐसे समय में बंगभूमि ने अनेक सपूतों को जन्म दिया, जिनकी एक ही चाह और एक ही राह थी - भारत माता की पराधीन ...

    Read more

    हमारे न्यूज़लेटर के लिए साइन अप करें

    VSK Bharat नवीनतम समाचार के बारे में सूचित करने के लिए अभी सदस्यता लें

    Scroll to top