You Are Here: Home » Articles posted by admin (Page 5)
    admin

    Number of Entries : 7041

    राष्ट्रीय चेतना का उद्घोष : अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण – 6

    दो विधर्मी फकीरों की गद्दारी सम्पूर्ण भारत के भूगोल, इतिहास और सांस्कृतिक धरोहर को बर्बाद करने के उद्देश्य से विदेशी हमलावरों ने जो हिंसक रणनीति अपनाई थी, उसी का एक महत्वपूर्ण हिस्सा था हिन्दुओं के धार्मिक स्थलों को तोड़ना और अत्यंत अपमानजनक हथकंडे अपना कर भारत के राष्ट्रीय समाज का उत्पीड़न करना. इसी अमानवीय व्यवहार के अंतर्गत हजारों मंदिर टूटे, ज्ञान के भंडार विश्वविख्यात विद्या परिसर जले, अथाह धन सम्पदा लूट ...

    Read more

    डिजिटल स्ट्राइक 2 – डाटा प्रोटोकॉल के उल्लंघन पर 47 चीनी एप्प प्रतिबंधित

    नई दिल्ली. भारत-चीन सीमा विवाद के बीच भारत सरकार लगातार चीनी कंपनियों के प्रति सख्ती बरत रही है. भारत सरकार ने दूसरी डिजिटल स्ट्राइक में 47 अन्य चीनी एप्स पर प्रतिबंध लगाया है. दूरसंचार एवं सूचना प्रसारण मंत्रालय ने सुरक्षा नियमों और डाटा प्रोटोकॉल का उल्लंघन के आरोप में इन एप्स पर प्रतिबंध लगाया है. इससे पहले सरकार ने 29 जून को 59 चीनी ऐप्स पर प्रतिबंध लगा दिया था, जिसमें टिकटॉक, यूसी ब्राउज़र और शेयर इट ज ...

    Read more

    ‘सभ्यताओं के संघर्ष में संवाद का रास्ता दिखाती है भारतीय संचार परंपरा’

    लोकमंगल से भटका, नकारात्मकता में क्यों अटका मीडिया? नई दिल्ली. मीडिया में ऐसे कौन से पहलू हैं, जिनसे भारतीय मूल्य नेपथ्य में जाते दिखते हैं और पश्चिम की नकारात्मक अवधारणाएं हावी हैं? इस अहम सवाल का जवाब सभ्यता अध्ययन केंद्र की शोध पत्रिका सभ्यता संवाद के लोकार्पण कार्यक्रम में मिला. 'सभ्यतागत संघर्ष और संचार की भारतीय अवधारणा' पर केंद्रित शोध पत्रिका के लोकार्पण अवसर पर वक्ताओं ने कहा कि भारत की परंपरा ऐसे ...

    Read more

    चीनी कंपनी अली बाबा और जैक मा पर झूठी खबरें फैलाने का आरोप

    गुरुग्राम की कोर्ट ने कंपनी को समन भेज 30 दिनों में मांगा जवाब नरेंद्र कुंडू गुरुग्राम (विसंकें). चीन की विस्तारवादी नीति ने अनेक देशों को परेशान किया है. यद्यपि चीन अपनी इस नीति का अनुसरण पिछले कई दशकों से कर रहा है, लेकिन अब विश्व के सामने चीन का असली चेहरा उजागर हो चुका है. चीन के झूठे चेहरे को छिपाने के लिए अब चीनी कंपनियां तरह-तरह के झूठ फैला कर अपनी साख बचाने का असफल प्रयास करने में जुटी हैं. हाल ही म ...

    Read more

    वंदे भारत मिशन – चार चरणों में 8.14 लाख भारतीयों को भारत लाया गया, 01 अगस्त से पांच चरण शुरू होगा

    नई दिल्ली. कोरोना संकट काल को देखते हुए दूसरे देशों में फंसे अपने नागरिकों को सकुशल वापिस लाने के लिए भारत सरकार ने वंदे भारत मिशन की शुरूआत की थी. वंदे भारत मिशन के अब तक चार चरण पूरे हो चुके हैं. मिशन का पांचवां चरण एक अगस्त से शुरू होगा. वंदे भारत मिशन की शुरूआत 06 मई से हुई थी. कोरोना महामारी के कारण कॉमर्शियल फ्लाइट्स बंद हैं, ऐसे में विशेष फ्लाइट्स के माध्यम से भारतीयों को वापस लाया जा रहा है. वंदे भा ...

    Read more

    स्वदेशी रक्षाबंधन – ग्राम दीनी में गोबर से तैयार की जा रही राखियां

    बालाघाट. रक्षाबंधन पर बाजार में चीन में बनी या चीनी कच्चे माल से बनी राखियों भरमार होती है. चीनी सामान के बहिष्कार की बात भी हर बार उठती है. लेकिन गलवान की घटना के पश्चात देश में चीनी सामान के बहिष्कार के बीच मध्यप्रदेश के बालाघाट जिले में रक्षाबंधन पर विशेष प्रकार की राखियां नजर आएंगी. यह राखियां गोबर से बनी होंगी. इस पहल से जिले में रोजगार के अवसर भी पैदा हो रहे हैं. गोबर से बनने वाली राखियों में मिलाई जा ...

    Read more

    खिलाफत नेतृत्व : भिन्नता में एकजुटता

    डॉ. श्रीरंग गोडबोले कौन थे वे लोग जिन्होंने ख़िलाफत आंदोलन का नेतृत्व किया? इस्लाम और अखिल-इस्लामवाद का पाठ वे कहाँ से पढ़े थे? उनके अलग-अलग रास्तों ने उन्हें एक सामान्य लक्ष्य तक कैसे पहुंचाया? प्रथम विश्व युद्ध से लेकर खिलाफत आंदोलन (1919-24) तक की घटनाओं को समझने के लिए इसके प्रमुख प्रवर्तकों की पृष्ठभूमि जानना महत्वपूर्ण है. अलीगढ़ आंदोलन अंग्रेजों का मानना ​​था कि 1857 का विद्रोह मुस्लिमों द्वारा प्रायोज ...

    Read more

    ज्ञान और विज्ञान का अनूठा मेल थे अब्दुल कलाम

    डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम की चर्चा आते ही आंखें चमक उठती हैं. वे मात्र उत्कृष्ट वैज्ञानिक ही नहीं, अपितु एक उत्तम व्यक्तित्व भी थे जो सभी मत-पंथों को समान रूप से सम्मान देते थे. वे भारतीय संस्कृति और परंपरा में ढले ऋषि, मानवतावादी, प्रकृति, संगीत प्रेमी एवं बेहतरीन लेखक भी थे. आज उनकी पुण्यतिथि पर नमन है. भारतीय संस्कृति और परंपरा ऐसी है कि जो भी इसमें ढला, अमर हो गया. इसके समकालीन उदाहरणों में एक हैं पूर्व राष ...

    Read more

    जयंती पर विशेष – तुलसीदास का शिक्षा दर्शन राष्ट्रहित के लिए अनुकरणीय

    प्रोफेसर बाबूराम शिक्षा मानव जीवन के चरित्र निर्माण, रुचियों, प्रवृत्तियों, चेष्टाओं में बदलाव और बहुआयामी विकास के साथ सामाजिक समरसता उत्पन्न करती है. इसीलिए मानव मननशील और चिंतनशील होने के कारण मानव कहलाता है. ज्ञान के विकास के लिए मनुष्य को निरंतर प्रयत्नशील रहना चाहिए. आज जो वैज्ञानिक, तकनीकी, सूचना प्रौद्योगिकी से संबंधित विकास है, वह ज्ञानार्जन और शोध के कारण ही है. दर्शन मानव का उच्चतम चिंतन है. प्रा ...

    Read more

    राष्ट्रीय चेतना का उद्घोष : अयोध्या में श्रीराम मंदिर निर्माण – 5

    एक भी यवन सैनिक जिंदा नहीं बचा 11वीं सदी के प्रारम्भ में कौशल प्रदेश पर महाराज लव के वंशज राजा सुहैल देव का राज था. उनकी राजधानी अयोध्या थी, इन्हीं दिनों महमूद गजनवी ने सोमनाथ का मंदिर और शिव की प्रतिमा को अपने हाथ से तोड़कर तथा हिन्दुओं का कत्लेआम करके भारत के राजाओं को चुनौती दे दी. परन्तु देश के दुर्भाग्य से भारत के छोटे-छोटे राज्यों ने महमूद का संगठित प्रतिकार नहीं किया. गजनवी भारत को अपमानित करके सुरक्ष ...

    Read more

    हमारे न्यूज़लेटर के लिए साइन अप करें

    VSK Bharat नवीनतम समाचार के बारे में सूचित करने के लिए अभी सदस्यता लें

    Scroll to top