You Are Here: Home » Articles posted by admin (Page 501)
    admin

    Number of Entries : 7056

    22 जून / बलिदान-दिवस नगर सेठ अमरचन्द बांठिया

    स्वाधीनता समर के अमर सेनानी सेठ अमरचन्द मूलतः बीकानेर (राजस्थान) के निवासी थे. वे अपने पिता श्री अबीर चन्द बाँठिया के साथ व्यापार के लिये ग्वालियर आकर बस गये थे. जैन मत के अनुयायी अमरचन्द जी ने अपने व्यापार में परिश्रम, ईमानदारी एवं सज्जनता के कारण इतनी प्रतिष्ठा पायी कि ग्वालियर राजघराने ने उन्हें नगर सेठ की उपाधि देकर राजघराने के सदस्यों की भाँति पैर में सोने के कड़े पहनने का अधिकार दिया. आगे चलकर उन्हें ...

    Read more

    अब मीडिया में बदलाव के लिये व्याकुलता बढ़ी

    नई दिल्ली. देवर्षि नारद जयंती समारोहों की श्रंखला में इंद्रप्रस्थ विश्व संवाद केन्द्र ने 21 जून को एक और समारोह आयोजित किया, जिसमें आदर्श पत्रकारिता के मूल्यों की रक्षा के लिये न केवल विमर्श हुआ, अपितु लोककल्याणकारी मीडिया की देश में पुनर्स्थापना के लिये कुछ न कुछ प्रभावी पग उठाने की प्रेरणा का संचार हुआ. मुख्य वक्ता के रूप में समारोह को सम्बोधित करते हुए वरिष्ठ पत्रकार श्री के.जी. सुरेश ने पत्रकारिता के उद ...

    Read more

    पुण्य तिथि 21जून, डॉ हेडगेवार – संघ संस्थापक का विलक्षण व्यक्तित्व

    संघ का विकास कर हिन्दू राष्ट्र को अपने बल और वैभव के साथ पुनः एक बार विश्व में शीर्षस्थान प्राप्त कराने की महत्त्वाकांक्षा से ही डॉक्टर हेडगेवारजी ने भगवान् की दी हुई सम्पूर्ण शक्तियों को बटोरकर अपने जीवन की रचना और सब प्रयत्न किये थे. उस कार्य के हेतु वे बीच-बीच में बाहर दौरे पर जाते थे पर प्रत्येक प्रवास के पश्चात् कुछ दिन संघ के केन्द्र नागपुर में अवश्य रहते. उनके दिन-प्रतिदिन के व्यवहार में किसी ने काकद ...

    Read more

    सहकार भारती दिल्ली का अधिवेशन संपन्न

    नई दिल्ली. सहकार भारती दिल्ली प्रांत का 2 दिवसीय तृतीय अधिवेशन गत 14-15 जून को सम्पन्न हुआ. अधिवेशन के उद्घाटन सत्र में केन्द्रीय मंत्री संजीव बालियान के साथ राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के उत्तर क्षेत्र के  संघचालक श्री बजरंग लाल गुप्त ने दीप प्रज्जवलन कर कार्यक्रम का  विधिवत् शुभारंभ किया. अधिवेशन में सहकारी क्षेत्र की उपलब्ध्यिों का  ब्योरा प्रांत अध्यक्ष श्री लक्ष्मी नारायण गुप्ता ने प्रस्तुत किया. प्रांत के ...

    Read more

    20 जून/बलिदान-दिवस – राजा दाहरसेन का बलिदान

    भारत को लूटने और इस पर कब्जा करने के लिए पश्चिम के रेगिस्तानों से आने वाले मजहबी हमलावरों का वार सबसे पहले सिन्ध की वीरभूमि को ही झेलना पड़ता था. इसी सिन्ध के राजा थे दाहरसेन, जिन्होंने युद्धभूमि में लड़ते हुए प्राणाहुति दी. उनके बाद उनकी पत्नी, बहिन और दोनों पुत्रियों ने भी अपना बलिदान देकर भारत में एक नयी परम्परा का सूत्रपात किया. सिन्ध के महाराजा चच के असमय देहांत के बाद उनके 12 वर्षीय पुत्र दाहरसेन गद्द ...

    Read more

    हिन्दू मुन्नानी के नेता केपी सुरेश की हत्या से जनरोष

    चेन्नई. हिन्दू मुन्नानी ने वेल्लौर में श्री वेल्लईयप्पन एवं सलेम में श्री रमेश की हत्या के बाद चेन्नई में अपने एक और कार्यकर्ता को खो दिया. हिन्दू मुन्नानी तिरुवल्लूर के जिलाध्यक्ष 48 वर्षीय श्री के. पी. सुरेश की बुधवार, 18 जून को रात करीब साढ़े 9 बजे निर्मम हत्या कर दी गई. श्री सुरेश कन्याकुमारी के बड़े ही मृदुभाषी स्वयंसेवक थे. बताया जाता है कि तीन अज्ञात लोगों के गिरोह ने अचानक सुरेश जी पर हमला किया, जिस ...

    Read more

    सुदर्शन जी का स्वप्न साकार करने में जुटें : बजरंगलाल जी

    भोपाल.  सुदर्शन जी की पीड़ा थी कि भारत की स्वतंत्रता में “स्व” कहाँ है . तंत्र का अर्थ है व्यवस्था, रचना, प्रणाली. आजादी के पूर्व विदेशी हाथ व्यवस्था संचालित करते थे, 1947 के बाद हाथ बदल गये, किन्तु व्यवस्था वही रही. जिन जीवन मूल्यों के आधार पर भारत की आत्मा का प्रकटीकरण हो, स्वदेशी, स्वावलंबन केन्द्रित व्यवस्था स्वतंत्र भारत में बने, यह पूज्य सुदर्शन जी का स्वप्न था. हम सब चुनौती मानकर उनके स्वप्न को साकार ...

    Read more

    19 जून / जन्म-दिवस: आत्मविलोपी व्यक्तित्व : श्रीपति शास्त्री

    संघ के वरिष्ठ कार्यकर्ता, इतिहास के प्राध्यापक तथा राजनीति, समाजशास्त्र, साहित्य आदि विषयों के गहन अध्येता श्रीपति सुब्रमण्यम शास्त्री का जन्म 19 जून, 1935 को कर्नाटक राज्य के चित्रदुर्ग जिले के हरिहर ग्राम में हुआ था. बालपन में ही वे स्वयंसेवक बने तथा अपने संकल्प के अनुसार अविवाहित रहकर अंतिम सांस तक संघ कार्य करते रहे. 1956 में वे मैसूर नगर कार्यवाह बने. उस दौरान उन्होंने मैसूर वि.वि. से इतिहास में स्वर्ण ...

    Read more

    क्या आप चुनौतियों से लड़ने को तैयार हैं?

    इस दुनिया में शायद ही ऐसा कोई व्यक्ति हो,जिसके मन में शिखर पर पहुंचने की इच्छा न होती हो? हर व्यक्ति का मन होता है कि वह जिस क्षेत्र में रुचि रखता है,उसके प्रमुख पद पर हो. राजनैतिक पार्टी का प्रमुख होना,किसी बड़ी कंपनी का नेतृत्व करना या टीम का अग्रणी बनना सभी को सुहाता है,लेकिन नेतृत्व की दमदार कला आती कैसे है? कैसे कुछ लोग बड़ी चुनौतियों को झेलते हुए बड़े से बड़े संगठन,कंपनी का नेतृत्व आसानी के साथ करते ह ...

    Read more

    संस्कृति पर आघात – साजिश के केन्द्र में ‘येल’

    अभी कुछ दिन पहले तक केंद्र में जो सरकार थी वह ऐसे लोगों के समर्थन पर टिकी थी जो आतंकवादियों का कई अवसरों पर समर्थन करते दिखते थे. इसलिये आतंकवादियों को नियंत्रित करने का मनोबल ही उस सरकार के पास नहीं था,लेकिन अब मोदी सरकार के आने के बाद सिर्फ सरकारी कामकाज में ही बदलाव नहीं आया है,बल्कि सरकार को अपना वोट देने वाले मतदाताओं को भी सत्ता पक्ष से आशायें जगी हैं. इस देश में जो आतंकवादी एकजुट होकर यहां युद्घ जैसी ...

    Read more

    हमारे न्यूज़लेटर के लिए साइन अप करें

    VSK Bharat नवीनतम समाचार के बारे में सूचित करने के लिए अभी सदस्यता लें

    Scroll to top