करंट टॉपिक्स

कोरोना से जंग – भारत में अब 75 करोड़ से अधिक डोज़ लगाए, 18 करोड़ लोगों को दोनों डोज़ लगीं

Spread the love

नई दिल्ली. कोरोना वायरस के खिलाफ जंग में विश्व के सबसे बड़े टीकाकरण अभियान में भारत नित नए रिकॉर्ड बना रहा है. 16 जनवरी से प्रारंभ हुए टीकाकरण अभियान के तहत भारत में अब तक 75 करोड़ से ज्यादा डोज़ लगाई जा चुकी हैं. इनमें से 18.15 करोड़ लोगों को वैक्सीन की दोनों डोज दी जा चुकी हैं.

टीकाकरण अभियान के तहत अब तक छह राज्यों – सिक्किम, हिमाचल प्रदेश, गोवा, दादरा एवं नगर हवेली, लद्दाख और लक्षद्वीप में सभी वयस्क लोगों को कोरोना रोधी वैक्सीन की पहली डोज़ दे दी गई है.

सोमवार को केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्री मनसुख मांडविया ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में देश टीकाकरण अभियान में नए आयाम गढ़ रहा है. टीकाकरण को लेकर प्रधानमंत्री ने सबका साथ, सबका प्रयास का मंत्र दिया है.

सबको वैक्सीन मुफ्त वैक्सीन और आजादी का अमृत महोत्सव हैशटेग के साथ स्वास्थ्य मंत्री ने ट्वीट किया – ‘भारत को बधाई! आजादी के 75वें साल में देश ने 75 करोड़ टीका लगाने का आंकड़ा पार कर लिया है.’

विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन ने भी टीकाकरण अभियान में तेजी लाने के लिए भारत सरकार को बधाई दी है. विश्‍व स्‍वास्‍थ्‍य संगठन ने कहा कि भारत ने तेजी से टीकाकरण करते हुए केवल 13 दिनों में 10 करोड़ डोज़ लगाने का काम किया है.

भारत को 10 करोड़ टीकाकरण का आंकड़ा छूने में 85 दिन लगे थे, जबकि 20 करोड़ का आंकड़ा छूने में 45 और दिन तथा 30 करोड़ का आंकड़ा छूने में 29 और दिन लगे. देश को 30 करोड़ खुराक से 40 करोड़ तक पहुंचने में 24 दिन लगे तथा फिर छह अगस्त को 50 करोड़ टीकाकरण का आंकड़ा पार करने में 20 दिन और लगे. देश ने 60 करोड़ का आंकड़ा पार में 19 दिन और लिए तथा 60 करोड़ से 70 करोड़ तक पहुंचने में महज़ 13 दिन लगे जो सात सितंबर को हुआ था.

देश में बढ़ता सुरक्षा का दायरा

– देश में 16 जनवरी को टीकाकरण की शुरुआत हुई.

– पहले चरण में स्वास्थ्यकर्मियों और फ्रंटलाइन वर्कर्स को टीका लगाया गया.

– पहली मार्च से दूसरे चरण के तहत 60 से अधिक उम्र के लोगों और गंभीर बीमारियों से पीड़ित 45 से 60 साल के लोगों का टीकाकरण प्रारंभ हुआ.

– पहली अप्रैल से 45 से 60 साल की उम्र के सभी लोगों का टीकाकरण शुरू किया गया.

– इस दौरान विपक्षी दलों ने राज्यों को सीधे टीका खरीदने और लगाने का अधिकार देने की मांग की.

– पहली मई से 18 साल से अधिक उम्र के सभी लोगों का टीकाकरण शुरू किया गया, राज्यों को सीधे टीका खरीदने की व्यवस्था के बाद काफी अराजकता फैली.

– केंद्र ने अभियान पुनः अपने हाथ में लेते हुए 21 जून से 18 साल से अधिक सभी पात्रों को निःशुल्क टीका लगाने की घोषणा की.

57 करोड़ लोगों को दी गई पहली डोज

सोमवार शाम सात बजे तक के आंकड़ों के अनुसार अब तक कुल 75 करोड़ से अधिक डोज़ लगाई जा चुकी हैं. इनमें से 57 करोड़ लोगों को पहली डोज दी गई है, जिनमें से 18 करोड़ लोग दूसरी डोज भी ले चुके हैं. सोमवार को 69.16 लाख डोज लगाई गईं. 18-44 वर्ष के आयु वर्ग में 4,37,98,076 खुराक दूसरी डोज के रूप में लगाई गई हैं. 45-59 साल के आयु वर्ग में 14,37,03,736 लोगों को पहली खुराक जबकि 6,31,16,459 को वैक्सीन की दूसरी खुराक दी गई. 60 साल से अधिक उम्र के लोगों को दूसरी खुराक के रूप में 4,94,45,594 डोज लगाई जा चुकी हैं.

आबादी के प्रतिशत के आधार पर टीकाकरण में अव्वल देश संयुक्त अरब अमीरात है तो आबादी की संख्या के आधार पर भारत दूसरे स्थान पर है. 328 करोड़ लोगों को दुनियाभर में अब तक कम से कम एक डोज़ लग चुकी है. यह कुल वैश्विक आबादी का 41.7 फीसद है.

 

 

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *