करंट टॉपिक्स

कलकत्ता उच्च न्यायालय ने ममता बनर्जी पर लगाया पांच लाख का जुर्माना

Spread the love

 

कोलकत्ता. कलकत्ता उच्च न्यायालय से पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी को बड़ा झटका लगा है. उच्च न्यायालय ने मुख्यमंत्री पर पांच लाख रुपये का जुर्माना लगाया है.

न्यायालय ने कहा कि ममता बनर्जी के बयान ने न्यायालय को बदनाम किया है. ममता बनर्जी ने न्यायमूर्ति कौशिक चंदा के भाजपा के साथ उनके कथित संबंधों को लेकर टिप्पणी करते हुए मामले से अलग होने की मांग की थी. न्यायालय ने कहा कि ममता बनर्जी से जुर्माने के रूप में प्राप्त राशि को कोरोना काल में जान गंवाने वाले वकीलों के परिवार को वितरित किया जाएगा.

मीडिया रिपोर्ट्स के अनुसार कलकत्ता उच्च न्यायालय के न्यायाधीश न्यायमूर्ति कौशिक चंदा नंदीग्राम विधानसभा सीट से भाजपा के शुभेंदु अधिकारी के निर्वाचन को चुनौती देने वाली मुख्यमंत्री ममता बनर्जी की याचिका पर सुनवाई से अलग हो गए. अब ये मामला किस कोर्ट में जाएगा, इसका फैसला उच्च न्यायालय मुख्य न्यायाधीश करेंगे.

ममता बनर्जी के वकील का दावा था कि जस्टिस कौशिक चंदा को अक्सर भाजपा के नेताओं के साथ देखा गया था. हालांकि, जस्टिस कौशिक चंदा ने इन आरोपों को खारिज कर दिया है.

क्या है पूरा मामला?

दो मई को चार राज्य और एक केंद्र शासित प्रदेश में विधानसभा चुनाव के नतीजे आए थे. इस दौरान ममता बनर्जी नंदीग्राम सीट से शुभेंदु अधिकारी से 1956 मतदानों से हार गई थीं. नतीजे के दिन ममता बनर्जी ने दोबारा वोटों की गिनती की मांग की थी, लेकिन चुनाव आयोग ने नहीं माना. इसके बाद ममता बनर्जी ने उच्च न्यायालय का रुख किया और शुभेंदु अधिकारी पर धर्म के नाम पर वोट मांगने, भ्रष्टाचार और रिश्वतखोरी के आरोप लगाए और चुनाव रद्द करने की मांग की.

Leave a Reply

Your email address will not be published.