You Are Here: Home » बैनर स्लाइडर

    नए भारत के निर्माण में महिलाओं का स्वयंसिद्ध होना आवश्यक है – शांताक्का जी

    राष्ट्र सेविका समिति की प्रमुख संचालिका शांताक्का का नए भारत की महिलाओं से आह्वान है कि वे घिघियाना छोड़ दें और अपने भीतर ऐसी शक्ति पैदा करें कि हम नेतृत्व कर सकें. उनसे समिति के कार्यों, नए भारत में महिलाओं की स्थिति आदि पर हिन्दी विवेक की विशेष बातचीत के महत्वपूर्ण अंश – नए भारत की संकल्पना के बारे में आपके क्या विचार हैं? भारत के लिए नित्य नूतन और चिरपुरातन दोनों शब्दों का प्रयोग किया जाता है. पहली बात तो ...

    Read more

    कश्मीर : अतीत से आज तक – अंतिम भाग

    भावी स्वर्णिम कश्मीर पाकिस्तान प्रेरित मजहबी आतंकवाद को जन्म और संरक्षण देकर कश्मीर को भारत की मुख्य राष्ट्रीय धारा से काटने वाली अलगाववादी व्यवस्था समाप्त हो गई है. भारतीय सविधान के अस्थाई अनुच्छेद 370 और कश्मीर के कुछ गिने-चुने परिवारों की राजनीतिक, आर्थिक और धार्मिक रोजी-रोटी सुरक्षित रखने का बंदोबस्त करने वाला अध्यादेश 35ए अब नहीं रहे. जम्मू-कश्मीर के सरकारी और गैर सरकारी भवनों, मंत्रियों, सरकारी अफसरों ...

    Read more

    पर्यावरण संरक्षण के लिए सभी संगठन मिलकर करेंगे काम – दत्तात्रेय होसबले

    पेड़ लगाओ, प्लास्टिक छोड़ो, जल बचाओ को बनाएंगे समाज का जनांदोलन सीमा क्षेत्र के प्रश्नों के समाधान के लिए समाज को जागरुक करने का संकल्प किया पुष्कर. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की तीन दिवसीय समन्वय बैठक 9 सितंबर सायं को संपन्न होगी. बैठक में 36 संगठनों के 195 कार्यकर्ता उपस्थित थे. समन्वय बैठक में ना ही कोई प्रस्ताव पारित होता है, ना ही यह कोई निर्णय लेने का मंच है. सभी संगठन स्वतंत्र एवं स्वायत्त हैं. बैठक का ...

    Read more

    पुष्कर में अ.भा. समन्वय बैठक प्रारंभ

    राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की त्रिदिवसीय अखिल भारतीय समन्वय बैठक पवित्र नगरी पुष्कर में आज 7 सितंबर प्रात: से प्रारंभ होकर 9 सितंबर सायं तक रहेगी. इस बैठक में सरसंघचालक मोहन जी भागवत, सरकार्यवाह भय्याजी जोशी, संघ की अखिल भारतीय कार्यकारिणी एवं समाज जीवन में भिन्न-भिन्न क्षेत्रों में कार्य करने वाले 35 से अधिक संगठनों के अखिल भारतीय स्तर के लगभग 200 कार्यकर्ता भाग ले रहे हैं. अखिल भारतीय सह प्रचार प्रमुख नरेंद् ...

    Read more

    समन्वय बैठक में सीमाओं की सुरक्षा को लेकर मंथन करेगा संघ

    पुष्कर में 07 सितंबर से शुरू होगी बैठक, 200 प्रतिभागी होंगे उपस्थित महिलाओं से संबंधित व्यापक सर्वेक्षण की रिपोर्ट के निष्कर्षों के आधार पर महिला सशक्तिकरण, स्वास्थ्य, सुरक्षा पर भी होगी गहन चर्चा पुष्कर. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के अखिल भारतीय प्रचार प्रमुख अरुण कुमार जी ने कहा कि देश की सीमाओं के प्रति सतत जागरूक रहना पड़ता है. किसी भी राष्ट्र की सुरक्षा सीमाओं पर निर्भर करती है, सीमा सुरक्षित तो राष्ट्र स ...

    Read more

    बापट जी ने सिद्धान्तों को आचरण का हिस्सा बनाया – भय्याजी जोशी

    बिलासपुर. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह भय्याजी जोशी ने कहा कि बापट जी सिद्धान्तों को जीवन का हिस्सा मानकर चलते थे. उन्होंने सिद्धान्तों को केवल शब्दों में नहीं रहने दिया, बल्कि उसका अपने जीवनपर्यन्त पालन किया. सरकार्यवाह पद्मश्री दामोदर गणेश बापट जी की श्रंद्धाजलि सभा में बोल रहे थे. श्रद्धांजलि सभा का आयोजन सोमवार को दयालबंद स्थित महाराजा रणजीत सिंह सभागार में भारतीय कुष्ठ निवारण संघ, कात्रे नगर च ...

    Read more

    देश की सीमाएं माँ के आंचल की तरह पवित्र – डॉ. कृष्णगोपाल जी

    नई दिल्ली. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह डॉ. कृष्णगोपाल जी ने कहा कि सेना के साथ देशवासियों को भी देश की रक्षा में सहभागी होना चाहिए. जागरूक देश वह है जो अपनी सीमाओं के प्रति जागरूक रहता है. सीमाओं का जानकार और उसको पवित्र मानने वाला ही देश का जागरूक नागरिक है. देश की सीमाएं माँ के आंचल की तरह पवित्र होती हैं, जिसे अपना देश कालांतर में भूल गया. चन्द्रगुप्त मौर्य सैल्यूकस के भारत पर आक्रमण के समय ...

    Read more

    समग्र क्रांति के अग्रदूत – योगेश्वर श्रीकृष्ण

    श्रीकृष्ण जन्माष्टमी पर विशेष अधर्मियों, आतंकवादियों, समाजघातकों, देशद्रोहियों और भ्रष्टाचारियों को समाप्त करने के उद्देश्य से धराधाम पर अवतरित हुए योगेश्वर श्रीकृष्ण जन्म से लेकर अंत तक अपने निर्धारित उद्देश्य के लिए सक्रिय रहे. वे एक आदर्श क्रांतिकारी थे. कृष्ण के जीवन की समस्त लीलाएं/क्रियाकलाप प्रत्येक मानव के लिए प्रेरणा देने वाले अद्भुत प्रसंग हैं. इस संदर्भ में देखें तो श्रीकृष्ण का सारा जीवन ही कर्म ...

    Read more

    भारतीय ज्ञान का खजाना – 7

    भारतीय संस्कृति के वैश्विक पदचिन्ह – 2 पिछले लेख में हमने भारत के पश्चिमी दिशा में भारतीय संस्कृति के पदचिन्ह खोजने का प्रयास किया था. ‘बेरेनाईक परियोजना’’ जैसे पुरातात्विक उत्खनन के माध्यम से, केल्टिक एवं यजीदी संस्कृति के प्रदर्शन एवं पश्चिम के अनेक संग्रहालयों में रखी हुई भारतीय वस्तुओं, अवशेषों इत्यादि के माध्यम से भारतीयों के पदचिन्ह बिलकुल स्पष्ट और मजबूती से दिखाई देते हैं. परन्तु भारत के पूर्वी भाग ...

    Read more

    ध्येय समर्पित व्यक्तित्व के रूप में सुषमा जी की स्मृति सदा रहेगी

    अत्यंत अकल्पनीय, अविश्वसनीय दुःखद समाचार है श्रीमती सुषमा स्वराज जी का असामयिक निधन। यह अत्यंत वेदनादायक है। लगभग 45 वर्षों का उनका सामाजिक, राजनैतिक जीवन विविध दृष्टि से आदर्शवत और अनुकरणीय रहा है। एक आदर्श कार्यकर्ता, कुशल नेत्री, सक्षम और प्रभावी मंत्री, ध्येय समर्पित व्यक्तित्व के रूप में उनकी प्रतिमा हम सबके स्मृति में सदा रहेगी। हृदय में मातृवत् स्नेह, देश और समाज की समस्याओं के प्रति संवेदनशील अंतःकर ...

    Read more

    हमारे न्यूज़लेटर के लिए साइन अप करें

    VSK Bharat नवीनतम समाचार के बारे में सूचित करने के लिए अभी सदस्यता लें

    Scroll to top