You Are Here: Home » विचार

    जम्मू कश्मीर समस्या – दिल्ली की स्पष्ट नीति ने किया समाधान

    दिल्ली की ही भ्रामक नीति के कारण विकराल हुई थी समस्या जम्मू-कश्मीर के पूर्व राज्यपाल जगमोहन ने अप्रैल-मई 1989 में प्रधानमंत्री राजीव गांधी को राज्य की तेजी से बिगड़ती स्थिति से अवगत करवाया था. उनका कहना था कि यह लगभग वहां पहुंच गई है, जहां से लौटना असंभव है. उन दिनों बड़े पैमाने पर हिंसा, लूटपाट, गोलीबारी, हड़ताल और हत्याओं का तांता सा लग गया था. पूर्व राज्यपाल का अनुभव ऐसा था, जैसे सब कुछ टूटकर बिखर रहा है. इ ...

    Read more

    महर्षि वाल्मीकि

    हमारे महापुरुष समय-समय पर नीति संबंधी अनेक सूक्ति वाक्यों का प्रयोग करते रहे हैं, जैसा कि नीति एवं नियम जीवन का एक ऐसा मार्ग है जो मानव के हर क्षेत्र के लिए अत्यंत उपयोगी सिद्ध होता है. यदि यह कहा जाए कि मानव जीवन का पूर्ण विकास किसी न किसी नीति का ही परिणाम है तो कोई अतिशयोक्ति नहीं होगी. प्रत्येक समाज अपने अंदर शांति और व्यवस्था बनाए रखने के लिए एक विशेष प्रकार की आचार पद्धति निर्धारित करता है, जिससे समाज ...

    Read more

    महान खगोलशास्त्री थे महर्षि वाल्मीकि

    महर्षि वाल्मीकि जयंती के अवसर पर संस्कृत के आदि कवि तथा 'रामायण के रचियता के बारे में यह जान कर आपको हैरानी होगी कि महर्षि वाल्मीकि एक महान खगोलशास्त्री थे. खगोलशास्त्र पर उनकी पकड़ उनकी कृति 'रामायण' से सिद्ध होती है. आधुनिक साफ्टवेयरों के माध्यम से यह साबित हो गया है कि रामायण में दिए गए खगोलीय संदर्भ शब्दश: सही हैं. भारतीय वेदों पर वैज्ञानिक शोध संस्थान की पूर्व निदेशक सुश्री सरोज बाला ने इस संदर्भ में 1 ...

    Read more

    राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ

    कार्यप्रणाली राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ एक कार्यप्रणाली अथवा मैथेडोलाजी है. जिसमें व्यक्ति निर्माण का काम किया जाता है. क्योंकि समाज के आचरण में कई प्रकार के परिवर्तन आज भी हम चाहते हैं. जैसे भेद मुक्त समाज, समता युक्त समाज, शोषण मुक्त समाज और स्वार्थ रहित समाज. संघ की योजना है कि प्रत्येक गांव और जिले में अच्छे स्वयंसेवक खड़े करना. अच्छे स्वयंसेवक का मतलब है ‘जिसका अपना चरित्र विश्वासास्पद और शुद्ध है. वह सम्प ...

    Read more

    विजयादशमी पर विशेष – राष्ट्र जागरण के अग्रिम मोर्चे पर राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ

    वर्तमान राजनीतिक परिवर्तन के फलस्वरूप हमारा भारत ‘नए भारत’ के गौरवशाली स्वरूप की और बढ़ रहा है. गत् 1200 वर्षों की परतंत्रता के कालखण्ड में भारत और भारतीयता की रक्षा के लिए अपना सर्वस्व अर्पण करने वाले करोड़ों भारतीयों का जीवनोद्देश्य साकार रूप ले रहा है. भारत आज पुन: भारतवर्ष (अखंड भारत) बनने के मार्ग पर तेज गति से कदम बढ़ा रहा है. भारत की सर्वांग स्वतंत्रता, सर्वांग सुरक्षा और सर्वांग विकास के लिए युद्ध स्तर ...

    Read more

    भारतीय ज्ञान का खजाना – 15….श्रीयंत्र का रहस्य

    श्रीयंत्र का रहस्य इस घटना को अब लगभग 29 वर्ष हो चुके हैं. इन वर्षों के दौरान यह घटना दोबारा घटित हुई हो, ऐसा कहीं सुना नहीं गया. परन्तु 1990 के अगस्त माह में, जब गर्मी अपना रौद्र रूप दिखा रही थी, तब यह घटना अमेरिका के ओरेगॉन प्रांत में घटित हुई थी. एक एकदम सूखे हुए तालाब के तल की मिट्टी पर भारतीय ‘श्रीयंत्र’ की प्रतिकृति उभरी हुई दिखाई दी थी... और इसके बाद तो मानो भिन्न-भिन्न दंतकथाओं एवं कल्पनाओं की बाढ़ स ...

    Read more

    महात्मा गाँधी की जीवनदृष्टि का अनुसरण करें

    डॉ. मोहन भागवत भारत देश के आधुनिक इतिहास तथा स्वतंत्र भारत के उत्थान की गाथा में जिन विभूतियों के नाम सदा के लिये अंकित हो गये हैं, जो सनातन काल से चलती आयी भारत की इतिहास गाथा के एक पर्व बन जायेंगे, पूज्य महात्मा गांधी का नाम उनमें प्रमुख है। भारत आध्यात्मिक देश है और आध्यात्मिक आधार पर ही उसका उत्थान होगा, इसे आधार बना कर भारतीय राजनीति को आध्यात्मिक नींव पर खड़ा करने का प्रयोग महात्मा गांधी ने किया। गांध ...

    Read more

    कश्मीर को मिलेगा उसका खोया हुआ स्वरूप

    कश्मीर के मंदिर सूने पड़े हैं, खंडहर हो चुकी दीवारें अतीत में हुए अत्याचारों को बताने के लिए काफी हैं. मूर्तियां ध्वंस्त पड़ी हुई हैं, 85 करोड़ से अधिक हिन्दुओं की आस्था के केंद्र कश्मीर के मंदिरों में जहां भक्त उनके दर्शन किया करते थे, आज खंडित हो चुकी हैं. कभी इन मंदिरों में कश्मीर का हिन्दू समाज सर्वे भवन्तु सुखिना: की कामना लेकर समस्त जगत के सुख-शांति की प्रार्थना करता था, उन दिव्य, प्राचीन मूर्तियों को ...

    Read more

    भारतीय ज्ञान का खजाना – 14, अदृश्य स्याही से लिखा ग्रंथ

    ‘अदृश्य स्याही का रहस्य - अग्र भागवत' आमगांव यह महाराष्ट्र के गोंदिया जिले की एक छोटी सी तहसील, छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश की सीमा से जुड़ा है. इस गांव के ‘रामगोपाल अग्रवाल’, सराफा व्यापारी हैं. घर से ही सोना, चांदी का व्यापार करते हैं. रामगोपाल जी, ‘बेदिल’ नाम से जाने जाते हैं. एक दिन अचानक उनके मन में आया, ‘आसाम के दक्षिण में स्थित ‘ब्रम्हकुंड’ में स्नान करने जाना है’. अब उनके मन में ‘ब्रम्हकुंड’ ही क्यों आय ...

    Read more

    हाइफा दिवस – इज़रायल के निर्माण में भारतीय योद्धाओं के शौर्य को स्मरण करने का दिन

    पराजय का इतिहास लिखने वाले इतिहासकारों ने बड़ी सफाई से भारतीय योद्धाओं की अकल्पनीय विजयों को इतिहास के पन्नों पर दर्ज नहीं होने दिया. शारीरिक तौर पर मरने के बाद जी उठने वाले देश इज़रायल की आजादी के संघर्ष को जब हम देखेंगे, तब हम पाएंगे कि यहूदियों को 'ईश्वर के प्यारे राष्ट्र' का पहला हिस्सा भारतीय योद्धाओं ने जीतकर दिया था. वर्ष 1918 में हाइफा के युद्ध में भारत के योद्धाओं ने अपने प्राणों का बलिदान दिया. सम ...

    Read more

    हमारे न्यूज़लेटर के लिए साइन अप करें

    VSK Bharat नवीनतम समाचार के बारे में सूचित करने के लिए अभी सदस्यता लें

    Scroll to top