करंट टॉपिक्स

राष्ट्रीय विचारधारा, ध्येयवादी पत्रकारिता और निःस्वार्थ समाजसेवा के जीवंत प्रतीक – पंडित भगवती धर वाजपेयी

प्रह्लाद पटेल (केंद्रीय मंत्री, भारत सरकार) पंडित भगवती धर वाजपेयी का नाम आते ही एक ऐसे व्यक्ति की छवि मानस पटल पर उभर आती है जो पूरी...

भीमबेटका के शिलाचित्रों के अन्वेषक – विष्णु श्रीधर वाकणकर

डॉ. विष्णु श्रीधर वाकणकर (उपाख्य : हरिभाऊ वाकणकर ; 4 मई 1919 – 3 अप्रैल 1988) भारत के प्रमुख पुरातत्वविद् थे. उन्होंने भोपाल के निकट...

भारतीय पुरातत्व के पुरोधा डॉ. विष्णु श्रीधर वाकणकर

राजेन्द्र कुमार चड्ढा नीमच में 4 मई सन् 1919 को जन्मे डॉ. विष्णु श्रीधर वाकणकर उन विद्वानों, आचार्यों की श्रेणी के थे, जिन्होंने कभी भौतिक...

11 मार्च / बलिदान दिवस – अमर बलिदानी छत्रपति सम्भाजी

नई दिल्ली. भारत में हिन्दू धर्म की रक्षार्थ अनेक वीरों ने अपने प्राणों की आहुति दी है. छत्रपति शिवाजी के बड़े पुत्र सम्भाजी भी इस...

09 मार्च / पुण्यतिथि – नारी संगठन को समर्पित सरस्वती ताई आप्टे

1925 में समाज के संगठन के लिए डॉ. हेडगेवार जी ने राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का कार्य प्रारम्भ किया। संघ की शाखा में पुरुष ही आते...

08 मार्च / इतिहास स्मृति – चित्तौड़ का दूसरा जौहर

नई दिल्ली. मेवाड़ के कीर्ति पुरुष महाराणा कुम्भा के वंश में पृथ्वीराज, संग्राम सिंह, भोजराज और रतनसिंह जैसे वीर योद्धा हुए. आम्बेर के युद्ध में...

एकात्ममानव दर्शन और सप्तक्रांति के आदर्शों को जमीन पर उतारने के लिए समर्पित जीवन

"दूसरी गुलामी से मुक्ति का आंदोलन परवान पर नहीं चढ़ता यदि जेपी को नानाजी जैसे सारथी नहीं मिले होते." वैचारिक पृष्ठभूमि अलग-अलग होते हुए भी...

परावर्तन के अग्रदूत स्वामी श्रद्धानन्द जी

नई दिल्ली. भारत में आज जो मुसलमान हैं, उन सबके पूर्वज हिन्दू ही थे. उन्हें अपने पूर्वजों के पवित्र धर्म में वापस लाने का सर्वाधिक...

भारत के गौरवमयी इतिहास के रचयिता ‘ठाकुर राम सिंह’

डॉ. ओम प्रकाश शर्मा कुछ लोग इतिहास लिखते हैं, कुछ इतिहास रचते हैं और ऐसे ही इतिहास रचयिता थे ठाकुर राम सिंह. विश्वसनीयता को खोते...

10 फरवरी / बलिदान दिवस – स्वतंत्रता सेनानी राजा बख्तावर सिंह

नई दिल्ली. मध्यप्रदेश के धार जिले में विन्ध्य पर्वत की सुरम्य श्रृंखलाओं के बीच द्वापरकालीन ऐतिहासिक अझमेरा नगर बसा है. वर्ष 1856 में यहां के...