You Are Here: Home » व्यक्तित्व (Page 3)

    21 अक्तूबर / पुण्यतिथि – दिल्ली में सत्याग्रह की शान बहिन सत्यवती

    नई दिल्ली. 1942 के ‘भारत छोड़ो आंदोलन’ के समय दिल्ली में जिस वीर महिला ने अपने साहस, संगठन क्षमता एवं अथक परिश्रम से चूल्हे-चौके तक सीमित रहने वाली घरेलू महिलाओं को सड़क पर लाकर ब्रिटिश शासन को हैरान कर दिया, उनका नाम था बहन सत्यवती. सत्यवती का जन्म अपने ननिहाल ग्राम तलवन (जिला जालंधर, पंजाब) में 26 जनवरी, 1906 को हुआ था. स्वाधीनता सेनानी एवं परावर्तन के अग्रदूत स्वामी श्रद्धानंद जी उनके नाना थे. उनकी माता ...

    Read more

    20 अक्तूबर / जन्मदिवस – संघ सुगन्ध के विस्तारक शरद मेहरोत्रा जी

    नई दिल्ली. कन्नौज (उ.प्र.) के प्रसिद्ध इत्र निर्माता व नगर संघचालक श्री हरिहर नाथ एवं श्रीमती सरला के घर में 20 अक्तूबर, 1942 को शरद जी का जन्म हुआ. संघचालक होने के कारण संघ के कार्यकर्ताओं का प्रायः उनके घर आगमन होता था, पर वे अपनी किताबों में डूबे रहते थे. इस कारण कन्नौज में वे संघ से नहीं जुड़ पाये. सेठ वासुदेव सहाय इंटर कॉलेज से इंटर और फिर विक्रमजीत सिंह सनातन धर्म महाविद्यालय, कानपुर से उन्होंने अर्थश ...

    Read more

    कर्मयोगी सोहन सिंह जी का राष्ट्र को सम्पूर्ण समर्पण

    एक ऐसी पद्धति जिस पर चलकर असंख्य कर्म योगियों ने अपने जीवन को खपा दिया व इस राष्ट्र मंदिर को महकाया. उन्हीं पूजनीय डॉक्टर हेडगेवार की माला के मोती उस पथ के पथिक स्वर्गीय श्री सोहन सिंह जी थे. जिन्होंने दधिची की तरह अपने जीवन को गला दिया. जीवन का हर क्षण, हर पल राष्ट्र को समर्पित कर दिया. उनका चयन भारतीय वायुसेना में हो गया था, किन्तु देश सेवा के निमित्त उन्होंने नौकरी को ठुकरा दिया था. राष्ट्रीय आपातकाल के ...

    Read more

    15 अक्तूबर / जन्मदिवस – मिसाइल मैन डॉ. अब्दुल कलाम

    क्या हम कल्पना कर सकते हैं कि उस युवक के मन पर क्या बीती होगी, जो वायुसेना में पायलट बनने की न जाने कितनी सुखद आशाएं लेकर देहरादून गया था; पर परिणामों की सूची में उसका नाम नवें क्रमाँक पर था, जबकि चयन केवल आठ का ही होना था. कल्पना करने से पूर्व हिसाब किताब में यह भी जोड़ लें कि मछुआरा परिवार के उस युवक ने नौका चलाकर और समाचारपत्र बांटकर जैसे-तैसे अपनी पढ़ाई पूरी की थी. देहरादून आते समय वह केवल अपनी ही नहीं, ...

    Read more

    15 अक्तूबर / बलिदान दिवस – तोपों के सामने निडर खड़े होने वाले मंगल गाडिया और सैयद हुसैन

    नई दिल्ली. 1857 के स्वातंत्र्य समर को भले ही अंग्रेज या उनके चाटुकार इतिहासकार कुछ भी नाम दें. पर संदेह नहीं कि वह सम्पूर्ण देश को आप्लावित करने वाला स्वयंस्फूर्त समर था. मुम्बई में भी उस समय अनेक क्रान्तिकारी हुए, उनमें से ही मंगल गाडिया तथा सैयद हुसैन को 15 अक्तूबर, 1857 को तोप से उड़ाकर अंग्रेजों ने अपने मुंह पर कालिख पोती थी. मुम्बई में आधुनिक शिक्षा का प्रणेता मान कर जिसके गुण गाये जाते हैं, वह लार्ड म ...

    Read more

    14 अक्तूबर / पुण्यतिथि – चिर युवा दत्ता जी डिडोलकर

    नई दिल्ली. दत्ता जी डिडोलकर संघ परिवार की अनेक संस्थाओं के संस्थापक तथा आधार स्तम्भ थे. उन्होंने काफी समय तक केरल तथा तमिलनाडु में प्रचारक के नाते प्रत्यक्ष शाखा विस्तार का कार्य किया. उस जीवन से वापस आकर भी वे घर-गृहस्थी के बंधन में नहीं फंसे और जीवन भर संगठन के जिस कार्य में उन्हें लगाया गया, पूर्ण मनोयोग से उसे करते रहे. 'अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद' के कार्य के तो वे जीवन भर पर्यायवाची ही रहे. सरसंघचाल ...

    Read more

    13 अक्तूबर / पुण्यतिथि – क्रांति और भक्ति के साधक राधा बाबा

    नई दिल्ली. राधा बाबा के नाम से विख्यात श्री चक्रधर मिश्र जी का जन्म ग्राम फखरपुर (गया, बिहार) में 1913 ई. की पौष शुक्ल नवमी को एक राजपुरोहित परिवार में हुआ था. सन् 1928 में गांधी जी के आह्वान पर गया के सरकारी विद्यालय में उन्होंने यूनियन जैक उतार कर तिरंगा फहरा दिया था. शासन विरोधी भाषण के आरोप में उन्हें छह माह के लिये कारावास में रहना पड़ा. गया में जेल अधीक्षक एक अंग्रेज था. सब उसे झुककर ‘सलाम साहब’ कहते ...

    Read more

    11 अक्तूबर / जन्मदिवस – आधुनिक चाणक्य नानाजी देशमुख

    ग्राम कडोली (जिला परभणी, महाराष्ट्र) में 11 अक्तूबर, 1916 (शरद पूर्णिमा) को श्रीमती राजाबाई की गोद में जन्मे चंडिकादास अमृतराव (नानाजी) देशमुख ने भारतीय राजनीति पर अमिट छाप छोड़ी. 1967 में उन्होंने विभिन्न विचार और स्वभाव वाले नेताओं को साथ लाकर उ.प्र. में सत्तारूढ़ कांग्रेस का घमंड तोड़ दिया. इस कारण कांग्रेस वाले उन्हें नाना फड़नवीस कहते थे. छात्र जीवन में निर्धनता के कारण किताबों के लिए वे सब्जी बेचकर पै ...

    Read more

    10 अक्तूबर / जन्मदिवस – राष्ट्रयोगी दत्तोपंत ठेंगड़ी

    श्री दत्तोपन्त ठेंगड़ी का जन्म दीपावली वाले दिन (10 अक्तूबर, 1920)  को ग्राम आर्वी, जिला वर्धा, महाराष्ट्र में हुआ था. वे बाल्यकाल से ही स्वतन्त्रता संग्राम में सक्रिय रहे. 1935 में वे ‘वानरसेना’ के आर्वी तालुका के अध्यक्ष थे. जब उनका सम्पर्क डॉ. हेडगेवार से हुआ, तो संघ के विचार उनके मन में गहराई से बैठ गये. उनके पिता उन्हें वकील बनाना चाहते थे; पर दत्तोपन्त जी एम.ए. तथा कानून की शिक्षा पूर्णकर 1941 में प्र ...

    Read more

    09 अक्तूबर / जन्मदिवस – गृहस्थ प्रचारक भैया जी दाणी

    राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की परम्परा में प्रचारक अविवाहित रहकर काम करते हैं; पर कुछ अपवाद भी होते हैं. ऐसे गृहस्थ प्रचारकों की परम्परा के जनक प्रभाकर बलवन्त दाणी का जन्म नौ अक्तूबर, 1907 को उमरेड, नागपुर में हुआ था. आगे चलकर ये भैया जी दाणी के नाम से प्रसिद्ध हुए. ये अत्यन्त सम्पन्न पिता के इकलौते पुत्र थे. उनके पिता श्री बापू जी लोकमान्य तिलक के भक्त थे. अतः घर से ही देशप्रेम के बीज उनके मन में पड़ गये थे, ज ...

    Read more

    हमारे न्यूज़लेटर के लिए साइन अप करें

    VSK Bharat नवीनतम समाचार के बारे में सूचित करने के लिए अभी सदस्यता लें

    Scroll to top