You Are Here: Home » शीर्ष क्षैतिज स्क्रॉल

    12 नवम्बर / जन्मदिवस – समाजसेवी क्रांतिकारी सेनापति बापट

    सेनापति बापट के नाम से प्रसिद्ध पांडुरंग महादेव बापट का जन्म 12 नवम्बर, 1880 को पारनेर (महाराष्ट्र) में श्री महादेव एवं गंगाबाई बापट के घर में हुआ था. पारनेर तथा पुणे में शिक्षा पाकर उन्होंने कुछ समय मुंबई में पढ़ाया. इसके बाद वे मंगलदास नाथूभाई की छात्रवृत्ति पाकर यांत्रिक अभियन्ता की उच्च शिक्षा पाने स्कॉटलैंड चले गये. वहां उन्होंने पढ़ाई के साथ ही राइफल चलाना भी सीखा. इस बीच उनकी भेंट श्यामजी कृष्ण वर्मा ...

    Read more

    12 नवम्बर / प्रेरक प्रसंग – मस्जिद में खाकी निक्कर व भगवा पट्टी का सम्मान

    नई दिल्ली. विमान यात्रा सुखद तो है, पर उसकी दुर्घटनाएं बहुत दुखद होती हैं. ऐसा ही एक दुखद प्रसंग 12 नवम्बर, 1996 को घटित हुआ, जब हरियाणा में भिवानी के पास चरखी दादरी गांव के ऊपर दो विमान टकरा गये. इनमें से एक सऊदी अरब का तथा दूसरा कजाक एयरवेज का था. दोनों में आग लग गयी और वे ढाणी फोगाट, खेड़ी सनवाल तथा मालियावास गांवों के खेतों में आ गिरे. सऊदी विमान के कुल 312 लोगों में से 42 हिन्दू, 12 ईसाई तथा शेष सब मुस ...

    Read more

    मूल्यों का ध्यान रख, उन पर कायम रहते हुए परिवर्तन करना है – डॉ. मोहन भागवत

    श्रद्धेय दत्तोपंत ठेंगड़ी जन्मशताब्दी समारोह का शुभारंभ नागपुर (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि दत्तोपंत ठेगड़ी जी संघ परिवार के उन शख्सियतों में आते हैं, जिनमें तत्व चिंतक, उत्कृष्ट व्यक्तित्व और बेहतर संगठक के गुण थे. समाज के हर क्षेत्र में उनका समान नेतृत्व था. उनके सम्पर्क में जो भी रहा, उसे कुछ न कुछ सीखने को ही मिला है. उन्हें स्नेह, करुणा और नेतृत्व के गुण अप ...

    Read more

    अयोध्या – काश! बाबरी ढांचे का सच मुसलमानों को बताया होता ……

    अयोध्या मामले में सर्वोच्च न्यायालय का निर्णय आ चुका है. पूरे देश को इस निर्णय का इंतजार था. सर्वोच्च न्यायालय ने रामलला के पक्ष में फैसला दिया है. अयोध्या का मामला अदालत के बाहर भी सुलझ सकता था, यदि देश के मुसलमानों को मुस्लिम नेतृत्व ने, खास तौर पर न्यायालय में मुस्लिम पक्षकारों ने, सत्य बताया होता. लेकिन वोट बैंक की राजनीति हावी होती चली गई. मुस्लिमों को बताया जाना चाहिए था कि राम जन्मभूमि पर वास्तविक प् ...

    Read more

    पूज्य संतों व विशेषज्ञों के प्रति कृतज्ञता के साथ विहिप ने सरकार से त्वरित कार्यवाही की मांग की

    नई दिल्ली. मा. सर्वोच्च न्यायालय द्वारा श्रीराम जन्मभूमि मामले में दिए गए ऐतिहासिक निर्णय के बाद विश्व हिन्दू परिषद् के केन्द्रीय पदाधिकारियों की एक विशेष बैठक विहिप के मुख्यालय संकट मोचन आश्रम, राम कृष्ण पुरम, दिल्ली में संपन्न हुई. जिसमें मा. सर्वोच्च न्यायालय के निर्णय पर संतोष व्यक्त किया गया. विश्व हिन्दू परिषद् कार्याध्यक्ष अधिवक्ता आलोक कुमार जी की अध्यक्षता में सम्पन्न बैठक में उन सभी पूज्य संतों, म ...

    Read more

    किसी के अधिकार मत छीनो, लेकिन अपने धर्म व अधिकारों की रक्षा जरूर करो – मिलिंद परांडे जी

    गुरु नानक देव जी के 550वें प्रकाशोत्सव के उपलक्ष्य में संगोष्ठी का आयोजन जयपुर. विश्व हिन्दू परिषद द्वारा गुरू नानक देव जी के 550वें प्रकाशोत्सव के उपलक्ष्य में आदर्श विद्या मंदिर राजापार्क में प्रबुद्धजन संगोष्ठी (06 नवंबर) का आयोजन किया गया. संगोष्ठी के मुख्य वक्ता विहिप के राष्ट्रीय महामंत्री मिलिंद परांडे जी ने कहा कि गुरू नानक देव जी ने समाज को नई दिशा देकर संगठन का संदेश दिया था. देश में मुगलों के आक् ...

    Read more

    शिक्षा में जीवन मूल्यों, संस्कृति व संस्कारों का भी समावेश हो

    मेरठ में दो दिवसीय ज्ञानोत्सव का आयोजन मेरठ. शिक्षा संस्कृति उत्थान न्यास के राष्ट्रीय सचिव अतुल कोठारी जी ने कहा कि ‘देश को बदलना है तो शिक्षा को बदलना होगा. बड़ी-बड़ी बात करने के बजाए, छोटी-छोटी बातों को जीवन में धारण करना होगा. देश के लिए मरने के बजाए, देश के लिये जीना सीखें. शिक्षा में जीवन की दृष्टि प्राप्त होनी चाहिए. हर व्यक्ति शिक्षा पाकर नौकर बनना चाहता है. जबकि शिक्षा ऐसी ग्रहण करो कि दूसरों को नौकर ...

    Read more

    अयोध्या – फैज़ाबाद के जिला जज (ब्रिटिश जज) ने राम जन्मस्थान पर बाबरी ढांचे को दुर्भाग्यपूर्ण कहा था…

    भारत में मुग़ल काल से ही यूरोपियन व्यापारियों और यात्रियों का आना प्रारंभ हो गया था. इनमें से बहुतों ने अपने यात्रा वृत्तांत संस्मरण आदि लिखे हैं. जब राम जन्मभूमि पर स्थित मंदिर को बाबर द्वारा तोड़े जाने के प्रमाण मांगे गए, तब अनेक विद्वानों ने जगह-जगह से ढूंढकर इन अभिलेखों को प्रस्तुत किया. ये वक्तव्य राम जन्मभूमि मामले के महत्वपूर्ण दस्तावेज बन गए. इन वृत्तांतों में राम जन्मस्थान के अलावा अयोध्या के बारे मे ...

    Read more

    10 नवम्बर / जन्मदिवस – राष्ट्रयोगी दत्तोपंत ठेंगड़ी

    नई दिल्ली. दत्तोपन्त ठेंगड़ी जी का जन्म दीपावली वाले दिन (10 नवम्बर, 1920)  को ग्राम आर्वी, जिला वर्धा, महाराष्ट्र में हुआ था. वे बाल्यकाल से ही स्वतन्त्रता संग्राम में सक्रिय रहे. वर्ष 1935 में वे ‘वानरसेना’ के आर्वी तालुका के अध्यक्ष थे. जब उनका सम्पर्क डॉ. हेडगेवार जी से हुआ, तो संघ के विचार उनके मन में गहराई से बैठ गये. उनके पिता उन्हें वकील बनाना चाहते थे, पर दत्तोपन्त जी एमए तथा कानून की शिक्षा पूर्णक ...

    Read more

    9, 10 नवम्बर / बलिदान दिवस – अमर हुतात्मा भाई मतिदास, सतिदास एवं दयाला

    नई दिल्ली. गुरु तेगबहादुर के पास जब कश्मीर से हिन्दू, औरंगजेब के अत्याचारों से मुक्ति दिलाने की प्रार्थना करने आये, तो वे उससे मिलने दिल्ली चल दिये. मार्ग में आगरा में ही उनके साथ भाई मतिदास, भाई सतिदास तथा भाई दयाला को बन्दी बना लिया गया. इनमें से पहले दो सगे भाई थे. औरंगजेब चाहता था कि गुरुजी मुसलमान बन जायें. उन्हें डराने के लिए इन तीनों को तड़पा-तड़पा कर मारा गया, पर गुरुजी विचलित नहीं हुए. औरंगजेब ने स ...

    Read more

    हमारे न्यूज़लेटर के लिए साइन अप करें

    VSK Bharat नवीनतम समाचार के बारे में सूचित करने के लिए अभी सदस्यता लें

    Scroll to top