करंट टॉपिक्स

पृथ्वी दिवस – कौन सुने धरती माता की कराह….!

जयराम शुक्ल धरतीमाता का ताप साल-दर-साल बढ़ता ही जा रहा है. पिछले साल के मुकाबले इस साल तापमान कुछ डिग्री ज्यादा रहेगा, मौसम वैज्ञानिकों ने...

रामोत्सव पर विशेष – मनुष्यता के इम्यूनिटी बूस्टर हैं राम

डॉ. कुमार विश्वास कोरोना-काल ने हमें अपने तेज गति वाले जीवन में ज़रा ठहर कर सोचने का समय दिया है. यह वह समय है, जब...

विनाशपर्व – अंग्रेजों ने भारत की विकसित शिक्षा प्रणाली को ध्वस्त किया / २

प्रशांत पोळ ऑस्ट्रिया के एक मिशनरी, जॉन फिलिप वेस्डिन, अठारहवीं शताब्दी के अंत में केरल के मलाबार में काम कर रहे थे. वर्ष १७७६ से...

पंजाब – राजनीतिक रूप से प्रेरित हिंसा तुरंत बंद होनी चाहिए

जयबंस सिंह राजनीतिक रूप से प्रेरित भीड़ द्वारा एक शर्मनाक हिंसा की घटना सामने आई है, जिसमें पंजाब के जिला फिरोजपुर में निजी दौरे पर...

महिला सशक्तिकरण के लिए घूंघट की बात करते हैं तो बुर्का की क्यों नहीं…?

क्या ऐसा हो सकता है कि एक विषय को दो अलग-अलग नजरों से देखा जाए? हो सकता है, बिल्कुल हो सकता है, ऐसा इसलिए हो...

विनाशपर्व – अंग्रेजों ने भारत की विकसित शिक्षा प्रणाली को ध्वस्त किया / १

प्रशांत पोळ हमारे देश में शिक्षा व्यवस्था तथा पाठशालाएं अंग्रेजों ने प्रारंभ की, ऐसा कहा जाता है. अंग्रेज़ आने के पहले देश में शिक्षा के...

क्या वास्तव में दिल्ली के अस्पतालों में 5000 बेड उपलब्ध हैं…?

आशीष कुमार दिल्ली में कोरोना संक्रमण के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि 14 अप्रैल को दिल्ली...

तत्कालीन सामाजिक समस्याओं का परकीय नहीं, भारतीय दृष्टिकोण से समाधान चाहते थे डॉ. आंबेडकर

भारतरत्न बाबा साहेब डॉ. भीमराव आंबेडकर अपने अधिकांश समकालीन राजनीतिज्ञों की तुलना में राजनीति के खुरदुरे यथार्थ की ठोस एवं बेहतर समझ रखते थे. नारों...

स्वतंत्रता संग्राम में सामूहिक आत्मबलिदान का अनुपम प्रसंग

नरेंद्र सहगल इतिहास साक्षी है कि भारत की स्वतंत्रता के लिए भारतवासियों ने गत 1200 वर्षों में तुर्कों, मुगलों, पठानों और अंग्रेजों के विरुद्ध जमकर संघर्ष किया...

वैश्‍विक परिदृष्‍य में बढ़ता भारत और श्रीगुरुजी

डॉ. मयंक चतुर्वेदी विश्वतश्चक्षुरुत विश्वतोमुखो विश्वतोबाहुरुत विश्वतस्पात्. सं बाहुभ्यां धमति सं पतत्रैर्द्यावाभूमी जनयन्देव एकः ॥ यह वेदमंत्र जब भी पढ़ने में या सुनने में आया,...