करंट टॉपिक्स

पराक्रम दिवस – जब नेताजी ने अंग्रेजों के संसाधनों से लड़ी अंग्रेजों के खिलाफ लड़ाई

सौरभ कुमार देश गुलामी की बेड़ियों में जकड़ा था. भारत का एक वीर सपूत देश से सैकड़ों किमी दूर बैठा देश की आजादी के लिए...

साहस, स्वाभिमान एवं स्वानुशासन के जीवंत प्रतीक नेताजी सुभाष चंद्र बोस

प्रणय कुमार महापुरुष या स्वतंत्रता सेनानी  किसी जाति, प्रांत या मज़हब के नहीं होते. वे सबके होते हैं और सब उनके. उन पर गौरव-बोध रखना...

अंग्रेजों का भारत में प्रवेश

प्रशांत पोळ ईस्ट इंडिया कंपनी - २४ सितंबर, १५९९ को शुक्रवार था. इस दिन, लंदन के फाउंडर्स हॉल में, इंग्लैंड के ८० व्यापारी इकट्ठा हुए...

त्याग, बलिदान, परमार्थ और पराक्रम की अनूठी परंपरा और खालसा-पंथ

प्रणय कुमार जब राष्ट्राकाश गहन अंधकार से आच्छादित था, विदेशी आक्रांताओं एवं आतताइयों द्वारा निरंतर पदाक्रांत किए जाने के कारण संस्कृति-सूर्य का सनातन प्रकाश कुछ...

मजहबी स्वतंत्रता के नाम पर आर्थिक युद्ध

डॉ. नीलम महेंद्र धर्म अथवा पंथ जब तक मानव के व्यक्तिगत जीवन का हिस्सा बनने तक सीमित रहे, वो उसकी आध्यात्मिक उन्नति का माध्यम बन...

साहस, शौर्य, पराक्रम, त्याग और बलिदान का इतिहास है हमारा

  प्रणय कुमार जिनका नाम लेते ही नस-नस में बिजलियां-सी कौंध जाती हों; धमनियों में उत्साह, शौर्य और पराक्रम का रक्त प्रवाहित होने लगता हो;...

आतंक परस्त का पाकिस्तान का टेंटुआ भारत के हाथ में..?

  राकेश सैन दिल्ली में चल रहे कथित किसान आंदोलन के नाम पर हो रही सस्ती राजनीति व मीडिया का पूरा ध्यान इस पर होने...

तांडव – हिन्दूफोबिक बॉलीवुड से कुछ सवाल….

तांडव वेब सीरीज को अमेजॉन प्राइम वीडियो पर रिलीज किया गया है. वेब सीरीज का डायरेक्शन जफर अली अब्बास ने किया है. तांडव वेब सीरीज...

आन्दोलन से मुक्ति की दरकार – अपनी सनक कब छोड़ेंगे..?

कृष्णमुरारी त्रिपाठी कृषि सुधार कानूनों पर सर्वोच्च न्यायालय की अस्थायी रोक एवं एक समिति के गठन के आदेश के पश्चात भी हाय-तौबा मचा हुआ है....

भारत का भारत से साक्षात्कार कराने वाले अद्भुत संत – स्वामी विवेकानंद

युग के सरोकारों और संवेदनाओं को समझने वाले योद्धा संत प्रणय कुमार यह कहना अनुचित नहीं होगा कि जहां आदि शंकराचार्य ने संपूर्ण भारतवर्ष को...