करंट टॉपिक्स

संतों के सहयोग, बेहतर प्रबंधन व सरकार की सूझबूझ से कोरोना काल में आयोजित कुम्भ

प्रतीकात्मक फोटो हरिद्वार को बदनाम करने के लिए हो रही साजिश अमित शर्मा हरिद्वार. महाकुंभ को लेकर चल रही तरह-तरह की बहस से हरिद्वार को...

संकल्प, सेवा-समर्पण है संघ का स्वभाव – पदम सिंह

गंगा स्नान के बाद स्वयंसेवक अपने-अपने गंतव्य को रवाना हरिद्वार. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ क्षेत्र प्रचार प्रमुख पदम सिंह ने कहा कि कार्यकर्ताओं ने महाकुम्भ में...

फायर कर्मियों के साथ आग बुझाने में लगे स्वयंसेवक

हरिद्वार. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवक महाकुम्भ में यातायात व्यवस्था के साथ ही पुलिस व अर्धसैनिक बल के साथ हर चुनौती का समाना करने के...

हरिद्वार महाकुंभ – 1500 से अधिक संघ स्वयंसेवक लग्न व निष्ठा से प्रशासन के सहयोग में जुटे

हरिद्वार. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवक कुंभ यातायात व्यवस्था में पुलिस के सहयोग के लिए कुंभ क्षेत्र के 45 से अधिक स्थानों पर सेवा कार्य...

मंदिरों को सरकारी नियंत्रण से मुक्त करवाने के लिए जनजागरण अभियान चलाने का संकल्प

हरिद्वार. विश्व हिन्दू परिषद केन्द्रीय मार्गदर्शक मण्डल (उपवेशन) की बैठक अखण्ड परमधाम आश्रम हरिद्वार में संपन्न हुई. बैठक का शुभारंभ अखण्ड परमधाम के परमाध्यक्ष युग...

मां गंगा की सेवा का अवसर हर किसी को नहीं मिलता – सूर्यप्रकाश टोंक

हरिद्वार. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ पश्चिम उत्तरप्रदेश क्षेत्र के क्षेत्र संघचालक सूर्यप्रकाश टोंक जी ने कहा कि मां गंगा की सेवा करने का मौका हर किसी...

गंगा भारत की जीवन धारा – डॉ. मोहन भागवत

हरिद्वार. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि गंगा भारत की जीवन दायिनी है. गंगा का जिक्र किए बिना भारत...

समाज के हर व्यक्ति पर पर्यावरण संरक्षण का दायित्व – डॉ. मोहन भागवत जी

प्रकृति प्रेम को भारतीय परंपरा और जीवन शैली का अभिन्न हिस्सा बताया... हरिद्वार. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने पर्यावरण संरक्षण...

संघ का स्वयंसेवक निःस्वार्थ भाव से सेवा कार्य करता है – स्वामी विशोकानन्द भारती

अमित शर्मा हरिद्वार. निर्वाणपीठाधीश्वर आचार्य महामंडलेश्वर स्वामी विशोकानंद भारती जी ने कहा कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ का स्वयंसेवक देश-समाज की सेवा के लिए हमेशा अग्रणी...

आत्मनिर्भरता की कहानी – देश-विदेश में पहाड़ी उत्पादों को पहचान दिलवा रहीं लता

उत्तरकाशी. पशुओं के लिए जंगल से घास-चारा लाना, घर का चूल्हा-चौका, और खेतों में काम का जिम्मा संभालने वाली पहाड़ की महिलाएं किसी भी क्षेत्र...