You Are Here: Home » समाचार » कोंकण

    सांप सीढ़ी के खेल से सीखें जिन्‍दगी जीने की कला

    रवि प्रकाश जीवन में सकारात्‍मक होना बहुत अच्‍छी बात है और प्रत्‍येक व्‍यक्ति को सकारात्‍मक सोच वाला बने रहने का प्रयास करना चाहिए. प्रयास मात्र से कुछ नहीं होता, परिवेश और परिस्थिति  भी इसके अनुकूल होनी चाहिए. वर्तमान समय में हम जिस दौर से गुजर रहे हैं और हमारे आस-पास जो कुछ भी घटित हो रहा है, उसमें सकारात्‍मक सोच के साथ आगे बढ़ना बहुत कठिन कार्य है. परिस्थिति और परिवेश यदि साथ न दे तो क्‍या हम जीना छोड़ दे ...

    Read more

    हमारी चुनौतियां और भारत की संभावनाएं

    रवि प्रकाश बगैर किसी भूमिका के सीधी बात की जाए तो फरवरी के आरम्भ होते-होते दुनिया को अहसास हो गया था कि एक भारी संकट विश्व समुदाय को अपनी चपेट में ले रहा है और इससे बाहर निकलना तत्काल संभव नहीं है. यह संकट मानव-निर्मित है या बेलगाम और बेहिसाब दोहन से क्षुब्ध प्रकृति का प्रकोप है, इस पर अभी दुनिया भर में माथापच्ची चल रही है. इस बीच संकट सुरसा के मुँह के समान विशाल और विकराल होता जा रहा है. कोरोना वायरस की बि ...

    Read more

    पालघर हत्याकांड – साधुओं के हत्यारों में सीपीएम और राष्ट्रवादी कांग्रेस के कार्यकर्ता भी शामिल

    सीआईडी जांच में सामने आया राजनीतिक संबंध मुंबई (विसंकें). पालघर में साधुओं की हत्या के मामले में जांच कर रही सीआईडी ने 12 मई को सीपीएम के तीन सक्रिय कार्यकर्ताओं राजेश राव, विनोद राव और रामदास राव को गिरफ्तार किया है. इनके साथ ही 12 अन्य लोगों को भी सीआईडी ने गिरफ्तार किया है. अब तक इस मामले में कुल १४६ लोगों को हिरासत मे लिया जा चुका है. इनमें से १० आरोपी नाबालिग हैं, जिन्हें भिवंडी बाल सुधार गृह में भेजा ...

    Read more

    पालघर हत्याकांड मामले से जुड़े अधिवक्ता दिग्विजय त्रिवेदी की सड़क दुर्घटना में मृत्यु

    पालघर. महाराष्ट्र के पालघर जिले में १६ अप्रैल को दो साधुओं की निर्ममता से हत्या कर दी गई थी. हत्याकांड मामले से जुड़े एक अधिवक्ता दिग्विजय त्रिवेदी की सड़क दुर्घटना में मृत्यु हो गई. बुधवार सुबह करीब १० बजे मेंधवन खिंड इलाके में यह सड़क दुर्घटना हुई. कार अनियंत्रित होने के कारण यह दुर्घटना हुई है. सड़क दुर्घटना को लेकर कुछ सवालों के जवाब मिलना शेष हैं. दुर्घटना को लेकर जांच की मांग होने लगी है. गुरुवार, १६ ...

    Read more

    पालघर हत्याकांड – ९

    हमला फिर से हो सकता है पालघर के तलासरी तालुका में सीपीएम का प्रभाव है. यहां पर विकास के कार्य करने वालों पर सीपीएम के कार्यकर्ताओं द्वारा हमले की कई घटनाएं हो चुकी हैं. लोगों के घर लूटना, बकरियां चुराना, घर जला देना, यह कुछ लोगों की आदत सी है. शिक्षा या नौकरी के लिए गाँव के बाहर जाने वाली जनजाति लड़कियों को परेशान करने का, उनका शोषण का काम भी ये लोग करते आए हैं. आज भी क्षेत्र में माओवादी गतिविधियाँ जारी हैं. ...

    Read more

    पालघर हत्याकांड – ८

    वामपंथियों की हिंसा की कहानी सामाजिक कार्यकर्ता गोदूताई परुलेकर ने साहूकारों के अन्याय से त्रस्त जनजातियों को साहूकारों के परेशानी से बाहर निकालकर अपनी जमीन का हक़ प्राप्त करने के उद्देश से तलासरी में सीपीएम पार्टी को प्रवेश दिया. परन्तु, उनका वह उद्देश्य पीछे रह गया. और सीपीएम के नेताओं ने इन जनजातियों के भोलेपन का फायदा उठाना शुरू कर दिया. उनका अज्ञान दूर करना दूर ही रह गया, अपितु उनको समाज से तोड़ने का ही ...

    Read more

    पालघर हत्याकांड – ७

    बाहर से आए लोग ही देश विरोधी कार्यों में जुटे हैं मुंबई (विसंकें). जनजातियों के मन में अन्य समाज के बारे में भ्रांतियां तैयार की जा रही हैं. पालघर के अनेक जिलों में देश विघातक विचारों के कुछ लोग, कुछ राजनैतिक संगठन युवाओं को भ्रमित कर रहे हैं. राज्य व्यवस्था के बारे में उनका मन, दृष्टिकोण कलुषित कर दिया है. आसपास के क्षेत्र से ऐसे देश विघातक मनोवृत्ति के लोग गांवों में जाकर युवाओं को भड़काने का काम कर रहे है ...

    Read more

    पालघर हत्याकांड – ६

    विकास का विरोध करने के लिए जनजातियों का उपयोग वामपंथी विचार जनजतियों को बना रहा हिंसक एपीजे अब्दुल कलाम जी ने कहा है, भारत २०२२ तक महासत्ता बन जाएगा. महासत्ता बनने के दृष्टिकोण से भारत काम कर रहा है. विकास के लिए कॉरिडोर, एअरपोर्ट जैसे प्रकल्प आवश्यक हैं. पालघर जिले से एक कॉरिडोर गुजरता है, बुलेट ट्रेन का प्रकल्प भी चल रहा है. किन्तु आज जनजाति युवा इन प्रकल्पों का विरोध कर रहे हैं. आज इन प्रकल्पों के कारण प ...

    Read more

    पालघर हत्याकांड –  ५

    कौन है, जो जनजातियों को विकास के विरोध में खड़ा कर रहा है? देश के हर एक क्षेत्र का विकास करना यह हमारे प्रशासन का कर्तव्य है. प्रशासन अपना कर्तव्य पूर्ण कर रहा हो तो भी कुछ वामपंथी शक्तियां इस विकास का विरोध कर रही हैं. पालघर के विकास के बारे में कुछ प्रस्ताव शासन से प्राप्त हुए तो उसका विरोध करने का षड्यंत्र इन शक्तियों द्वारा किया जाता है और फिर प्रशासन की इस क्षेत्र के विकास को लेकर कोई योजना नहीं है, ऐसा ...

    Read more

    पालघर हत्याकांड –  ४

    क्या जनजातियों का अपना धर्म नहीं? मुंबई (विसंकें). अप्रैल में महाराष्ट्र के वनवासी क्षेत्र में हिन्दू साधुओं की निर्मम हत्या की गयी. इस क्षेत्र में सदियों से जनजाति समाज का वास है. पिछले कुछ वर्षो में इस क्षेत्र में वामपंथियों का प्रभाव बढ़ा है. जनजातियों के मन में अपने ही धर्म के प्रति जहर घोलने का कार्य वामपंथी कर रहे हैं. जनजातियों का अपना धर्म ही नहीं, ऐसा अपप्रचार इस क्षेत्र में किया जा रहा. वास्तव में ...

    Read more

    हमारे न्यूज़लेटर के लिए साइन अप करें

    VSK Bharat नवीनतम समाचार के बारे में सूचित करने के लिए अभी सदस्यता लें

    Scroll to top