करंट टॉपिक्स

कार्यकर्ता निर्माण में अटूट स्नेह की पद्धति के श्रेष्ठ वाहक थे स्व. हस्तीमल जी

उदयपुर. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह डॉ. कृष्णगोपाल जी ने कहा कि संगठन में कार्यकर्ता महत्वपूर्ण इकाई है. कार्यकर्ता निर्माण में कार्यकर्ता की देखभाल...

जीवन के बाद कर्मयोगी हस्तीमल जी की देह भी राष्ट्र को समर्पित

उदयपुर. ‘तन समर्पित मन समर्पित और यह जीवन समर्पित, चाहता हूं मातृ-भू तुझे कुछ और भी दूं...’ इन पंक्तियों के मर्म को चरितार्थ करते हुए...

प्रेरणा स्रोत हस्तीमल जी

हस्तीमल जी का जन्म राजसमंद जिले में चंद्रभागा नदी के दक्षिण तट पर आमेट कस्बे में हुआ था. वे मेधावी छात्र थे. 1964 में आमेट...

वीर सपूतों को सदैव स्मरण करना ही सच्ची देशभक्ति – महन्त स्वरूपदास उदासीन जी

अजमेर. वीर सपूतों व क्रांतिकारियों का सदैव स्मरण करते रहना ही सच्ची देशभक्ति है. वीर बलिदानी हेमू कालाणी स्वतंत्रता आंदोलन में मात्र 19 वर्ष की...

‘स्वाधीनता का अमृत महोत्सव’ विषय पर एक दिन में 151 इकाइयों में व्याख्यानमाला आयोजित

“अखिल भारतीय राष्ट्रीय शैक्षिक महासंघ की देशव्यापी योजनानुसार राजस्थान विश्वविद्यालय एवं महाविद्यालय शिक्षक संघ (राष्ट्रीय) द्वारा 15 दिसंबर को ‘स्वाधीनता का अमृत महोत्सव: इंडिया से...

गीता जयंती पर 770 गांवों की भजन मंडलियों की उपस्थिति में धर्म सभा

जयपुर. गीता जयंती के अवसर पर विश्व हिन्दू परिषद द्वारा 770 गांवों की भजन मंडलियों की उपस्थिति में राति तलाई स्थित भारत माता मंदिर में...

“भारत भक्ति और राम भक्ति ही समाज को जोड़ती है – भय्याजी जोशी

बांसवाड़ा. जनजातीय समाज में सामाजिक उत्थान के लिए प्रयासरत जनजातीय समाज के प्रबुद्धजनों की गोष्ठी आयोजित की गई. जिसमें राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ अखिल भारतीय कार्यकारिणी...

जीवन मूल्यों की शिक्षा सर्वाधिक महत्वपूर्ण

भीलवाड़ा. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ भीलवाड़ा महानगर द्वारा बुधवार नगर परिषद के महाराणा प्रताप सभागार में आयोजित प्रबुद्ध नागरिक सम्मेलन में विभिन्न ज्वलंत ओर प्रासंगिक मुद्दों...

“भारत का स्वभाव मूलत: लोकतांत्रिक है” – डॉ. नारायण लाल गुप्ता

सीकर. अरावली वेटनरी कॉलेज सीकर एवं रुक्टा (राष्ट्रीय) के तत्वाधान में "स्वराज 75 और हमारा दायित्व" विषय पर राष्ट्रीय सेमीनार का उद्घाटन मुख्य अतिथि अ.भा....

राष्ट्र सेविका समिति का रानी लक्ष्मीबाई जयंती पर कार्यक्रम

मैं रहूं या न रहूं, भारत ये रहना चाहिए उदयपुर. जिस उम्र में किशोर-किशोरियों का ध्यान पढ़ाई पर होता है, अपने कैरियर की तरफ होता...