करंट टॉपिक्स

सुरक्षा बलों ने बीजापुर में मुठभेड़ में एक लाख का ईनामी माओवादी मार गिराया

नई दिल्ली. माओवादी भले ही गरीबों, पिछड़ों की लड़ाई लड़ने के दावे करते हों, लेकिन ये सच्चाई से कोसों दूर है. माओवादियों ने बीजापुर में...

गांववासी गांधी कुटीर में करते हैं समस्याओं का समाधान

रायपुर (विसंकें). छत्तीसगढ़ के कोरबा जिले के छोटे से गांव तेंदूटिकरा में गांववासी हर समस्या का समाधान गांधी कुटीर में करते हैं. कहा जाए तो...

बस्तर – मिशनरियों द्वारा किये जा रहे धर्मांतरण के खिलाफ जनजातीय समाज का शंखनाद

आश्चर्य की ही बात है कि छत्तीसगढ़ के सबसे बड़े जनजातीय क्षेत्र बस्तर संभाग में हजारों की संख्या में जनजातीय ग्रामीण अपनी संस्कृति, सभ्यता, परंपरा...

छत्तीसगढ़ – नक्सलियों के इशारे पर सड़क मार्ग तोड़ने पहुंचे ग्रामीण, ड्रोन कैमरे में कैद हुई तस्वीर

रायपुर (विसंकें). नक्सलियों का विकास विरोधी चेहरा सबके सामने आ चुका है. सरकार व प्रशासन की सख्त कार्रवाई के पश्चात उनका साम्राज्य भी सिकुड़ता जा...

विश्व को सही दिशा में चलने के लिए प्रेरित करने वाला बनेगा भारत – डॉ. मोहन भागवत

सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने किया पौधारोपण प्रवासी श्रमिक, पर्यावरण, स्वदेशी, ग्राम विकास और सामाजिक समरसता पर चर्चा रायपुर. जागृति मंडल, गोविन्द नगर, रायपुर...

जनजाति समाज को निशाना बनाने के साथ ही विकास में बाधा डाल रहे माओवादी नक्सली

वामपंथी के बाहरी आवरण से पर्दा हट रहा है. अदृश्य आवरण के पीछे छिपी गंदगी दिखने लगी है. उनका चेहरा बेनकाब होता जा रहा है....

गरीब व विकास विरोधी नक्सली – नक्सलियों ने ग्रामीणों को बेरहमी से पीटा, 25 ग्रामीण घायल

रायपुर. नक्सली स्वयं के गरीबों, दलितों का हितैषी होने का दावा करते हैं. लेकिन वास्तवाकिता इससे कोसों दूर है. नक्सली हमेशा से विकास और गरीब...

बड़ा खुलासा – सुकमा में नक्सिलों को पुलिस शस्त्रागार से सप्लाई हो रहे थे गोला बारूद

एसआईटी ने जांच के बाद एएसआई और हेड कांस्टेबल को गिरफ्तार किया सुकमा. छत्तीसगढ़ के सुकमा जिले में नक्सलियों को कारतूस की सप्लाई के मामले में...

छत्तीसगढ़ – क्वारेंटाइन सेंटरों में भोजन बनाने के साथ लोगों का हौसला बढ़ा रहीं महिला कमांडो…

बालोद, छत्तीसगढ़. सब बने-बने रहू, कोई बात रही त बताहू, कोरोना ल भगाना है. निःस्वार्थ, सेवाभाव क्वारेंटाइन सेंटरों व गांवों में दिख रहा है, जहां...

झीरम घाटी हत्याकांड – सात साल बाद भी अनसुलझी है झीरम माओवादी हमले की कहानी

रायपुर. 25 मई का दिन हर साल अपने साथ एक भीषण खूनी संघर्ष की याद वापिस लेकर आता है. देश के सबसे बड़े आंतरिक हमलों...