You Are Here: Home » समाचार » दक्षिण बिहार (Page 4)

    सूचनाओं का मानव हित में उपयोग ही ज्ञान है – दत्तात्रेय होसबोले

    रजत जयंती वर्ष के उपलक्ष्य में माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय, भोपाल का पटना में आयोजन पटना (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह दत्तात्रेय होसबले जी ने कहा कि भारत हमेशा से ही ज्ञान आराधक राष्ट्र रहा है. भारत की ज्ञान परंपरा औरों से विशेष इसलिए है क्योंकि यह केवल हमारे बाहर मौजूद लौकिक (मटेरियल) ज्ञान को ही महत्वपूर्ण नहीं मानती, बल्कि आत्म-चिंतन द्वारा प्राप् ...

    Read more

    हर बच्चे के अंदर होता है एक नन्हा फिल्मकार – डॉ. श्रवण कुमार जी

    पटना (विसंकें). चिल्ड्रेन फिल्म सोसायटी, इंडिया (सीएफएसआई) के मुख्य कार्यकारी अधिकारी डॉ. श्रवण कुमार जी ने कहा कि हर बच्चे के पास एक कहानी होती है और उसे कहने का तरीका भी उसके पास होता है. अगर उन्हें फिल्म निर्माण की बारीकियों से परिचित कराया जाए तो बच्चे भी एक समझदार फिल्मकार हो सकते हैं. इसी परिकल्पना को आधार बनाकर चिल्ड्रेन फिल्म सोसायटी, इंडिया द्वारा ‘लिटिल डायरेक्टर्स’ कार्यक्रम शुरू किया गया है. इसक ...

    Read more

    कला के आधुनिक रूप का लाभ सांस्कृतिक सुदृढ़ीकरण में हो – रामनाथ कोविंद जी

    पटना (विसंकें). बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद जी ने कहा कि बच्चों की दुनिया आज केवल कार्टून तक सीमित हो गई है. उसके कई घातक परिणाम भी देखने को मिल रहे हैं. बच्चों की फिल्में बड़ों को भी प्रेरित करती है. अतः बाल चलचित्र महोत्सव इस दिशा में समाधान के साथ-साथ सिनेमा-शिक्षण के लिए प्रासांगिक है. राज्यपाल विश्व संवाद केंद्र (पाटलिपुत्र सिने सोसायटी) तथा चिल्ड्रेन फिल्म सोसायटी, इंडिया द्वारा आयोजित तीन दिवसीय ...

    Read more

    पटना में 07 से शुरू होगा बाल फिल्म महोत्सव

    पटना (विसंकें). विश्व संवाद केन्द्र की संस्था पाटलिपुत्र सिने सोसायटी एवं चिल्ड्रेन फिल्म सोसायटी, इंडिया (सीएफएसआई) के संयुक्त तत्वावधान में तीन दिवसीय बाल चलचित्र महोत्सव फिल्म बोनांजा का आयोजन किया जा रहा है. तीन दिनों तक चलने वाले फिल्म महोत्सव का उद्घाटन 7 सितंबर को 12 बजे बिहार के राज्यपाल रामनाथ कोविंद जी करेंगे. उद्घाटन कार्यक्रम के विशिष्ट अतिथि चिल्ड्रेन फिल्म सोसायटी, इंडिया के मुख्य कार्यकारी अध ...

    Read more

    ब्लैकमेल, धर्म परिवर्तन और अत्याचार की अंतहीन कहानी

    पटना (विसंकें). बिहार में लव जिहाद के मामले थम नहीं रहे हैं. 13 जून, 2016 को पटना में ऐसे ही एक सनसनीखेज मामले का खुलासा हुआ. कोलकाता की रहने वाली युवती ने पटना के गांधी मैदान थाना में ‘लव जिहाद’ का मामला दर्ज कराया है. आसिफ नाम के व्यक्ति ने ब्लैकमेल कर निकाह किया, फिर धर्म परिवर्तन और जारी हुआ अत्याचार का दौर.... फेसबुक से शुरू हुई दोस्ती प्यार में परिणत हुई. युवक ने धोखे से अश्लील वीडियो बनाया और ब्लैकमे ...

    Read more

    आत्मीयता ही समरसता है – रमेश पतंगे जी

    पटना (विसंकें). वरिष्ठ पत्रकार एवं केंद्रीय फिल्म प्रमाणन बोर्ड के सदस्य रमेश पतंगे जी ने कहा कि आत्मीयता ही समरसता है. भारत का अपना दर्शन है. अपनी विचारधारा है एवं अपने सांस्कृतिक मूल्य है. तुलसीदास जी ने भी कहा कि ‘सियाराम मैं सब जग जानूं, करहुं प्रणाम जोड़ जुग पाणि.’ स्वयं राम ने भी उत्तर भारत से दक्षिण भारत तक सबको हृदय से लगाया. सबको अपना बनाया. शबरी के जूठे बेर खाये. रीछ, वानर, भालू सबका साथ लिया. इस प ...

    Read more

    रंजन की हत्या पर प्रदेश के पत्रकारों में शोक की लहर व रोष

    पटना (विसंकें). सिवान के वरिष्ठ पत्रकार राजदेव रंजन की निर्मम हत्या की खबर से पूरे प्रदेश के पत्रकारों में शोक की लहर है. उनकी जघन्य हत्या के विरोध में पत्रकारों ने आक्रोश प्रकट किया. राज्य के सभी पत्रकारों ने काला बिल्ला लगाकर विरोध प्रदर्शन किया. नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट (इंडिया), बिहार की ओर से महामहिम राज्यपाल को ज्ञापन देकर बिहार में पत्रकारों की सुरक्षा सुनिश्चित कराने की मांग की गई. ज्ञापन में कहा ग ...

    Read more

    डॉक्युमेंट्री निर्माण एक सामाजिक दायित्व – डीके सिंह जी

    पटना (विसंकें). बिहार राज्य फिल्म विकास एवं वित्त निगम के निदेशक डीके सिंह जी ने कहा कि डॉक्युमेंट्री निर्माण एक सामाजिक दायित्व है, जो समाज के विभिन्न पहलुओं को संरक्षित करने का कार्य करता है. ऐतिहासिक घटनाओं का दस्तावेजीकरण भी डॉक्युमेंट्री के माध्यम से किया जा सकता है. डीके सिंह जी शनिवार को विश्व संवाद केंद्र के सभागार में पाटलिपुत्र सिने सोसायटी द्वारा आयोजित डॉक्युमेंट्री निर्माण कार्यशाला का उद्घाटन ...

    Read more

    भारतीय दर्शन का वाहक संविधान है – रामनाथ कोविंद जी

    पटना. राज्यपाल रामनवाथ कोविंद जी ने कहा कि भारतीय वाड्मय का तीन महत्वपूर्ण ग्रंथ - महाभारत, रामायण और संविधान हैं और तीनों के रचनाकार दलित थे. संविधान वंचितों को संरक्षण के साथ समान अवसर देता है, लेकिन कहीं भी दलित शब्द का प्रयोग संविधान में नहीं किया गया है. वह दलित आख्यान और भारतीय दर्शन विषयक तीन दिवसीय राष्ट्रीय सेमीनार के समापन समारोह में संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि संविधान भारतीय दर्शन का वाहक ...

    Read more

    उत्तर व दक्षिण बिहार में 1120 स्थानों पर 1550 शाखाएं – डॉ. मोहन सिंह जी

    पटना (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ द्वारा आयोजित पत्रकार वार्ता में उत्तर-पूर्व क्षेत्र (बिहार-झारखंड) के क्षेत्र कार्यवाह डॉ. मोहन सिंह जी ने नागौर में संपन्न अखिल भारतीय प्रतिनिधि सभा की बैठक से संबंधित जानकारी दी. तीन दिनों तक चली बैठक में संघ के विभिन्न आयाम और कार्यक्रमों की विस्तृत चर्चा हुई. राष्ट्रीय परिदृश्य पर उभर रहे चुनौतियों के बारे में भी गहन विमर्श किया गया. बैठक में राष्ट्रीय विषयक तीन ...

    Read more

    हमारे न्यूज़लेटर के लिए साइन अप करें

    VSK Bharat नवीनतम समाचार के बारे में सूचित करने के लिए अभी सदस्यता लें

    Scroll to top