You Are Here: Home » समाचार » पश्चिम महाराष्ट्र

    समाज में विद्वेष फैलाने वाले वारिस पठान के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करे राज्य सरकार – विहिप

    पुणे. श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र न्यास की पहली और महत्वपूर्ण बैठक 19 फरवरी 2020 को आयोजित की गई थी. ट्रस्टी और ट्रस्ट के पहले अध्यक्ष के रूप में पूजनीय नृत्यगोपाल दास जी महाराज और महासचिव के रूप में चम्पतराय जी एवं पूजनीय  गोविंद देव गिरि जी महाराज को कोषाध्यक्ष नियुक्त किया गया. विश्व हिन्दू परिषद प्रसन्नता व्यक्त करती है. श्रीराम जन्मभूमि मंदिर का निर्माण केवल उसी प्रारूप में किया जाना चाहिए, जिसका उप ...

    Read more

    धर्म, मनुष्य को भगवान बनने के मार्ग पर ले जाता है – डॉ. मोहन भागवत जी

    पुणे (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि ''अध्यात्म के आधार पर हमारे देश का आम आदमी भी विश्व के कई लोगों का गुरु बन सकता है. उसका धर्म उसकी बुद्धि में नहीं, बल्कि उसके आचरण में है. धर्म से जीवन की धारणा होती है. मनुष्य की बुद्धि जैसी हो, उस प्रकार का अच्छा या बुरा कार्य वह करता है. यहां एक धर्म ही है जो मनुष्य को दानव नहीं, बल्कि भगवान बनने के मार्ग पर ले जाता है. धर् ...

    Read more

    सेवा लेने वाला सेवा करने वाला बने – सुहासराव हिरेमठ

    पुणे (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की अखिल भारतीय कार्यकारिणी के सदस्य सुहास राव हिरेमठ जी ने कहा कि समाज के पीड़ित और वंचित लोगों के लिए सेवा कार्य चलने चाहिए. सारा समाज सुखी एवं संपन्न होने के लिए सेवा कार्य नितांत आवश्यक है. लेकिन हम आज जिनकी सेवा कर रहे हैं, वह कल सेवा देने वाला कैसे बने, इस पर भी ध्यान देने की आवश्यकता है. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की ओर से आयोजित 'सेवा संगम' प्रदर्शनी का रविवार को ...

    Read more

    भारत के सेवा प्रकल्पों को अध्यात्म का अधिष्ठान है – डॉ. मनमोहन वैद्य

    पुणे (विसंकें). शनिवार, 18 जनवरी को सेवा संगम प्रदर्शनी का उद्घाटन राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह डॉ. मनमोहन वैद्य जी, पुणे के महापौर मुरलीधर मोहोळ, पुणे महानगर निगम के स्वच्छता  सेवा दूत महादेव जाधव और अभिनेत्री युक्ता मुखी ने किया. पुणे की उपमहापौर सरस्वती शेंडगे और पुणे महानगर संघचालक रवींद्र वंजारवाडकर मंच पर उपस्थित थे. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की ओर से 'सेवा संगम' प्रदर्शनी का आयोजन किया गया ...

    Read more

    सामाजिक, सांस्कृतिक ध्रुवीकरण के दौर में तटस्थता खतरनाक है

    पुणे (विसंकें). प्रज्ञा प्रवाह के अखिल भारतीय संयोजक जे. नंदकुमार जी ने कहा कि ''वर्तमान में देश में एक बहुत बड़ा सामाजिक और सांस्कृतिक ध्रुवीकरण हो रहा है. इस स्थिति में विचारकों और बुद्धिजीवियों का तटस्थ होना खतरनाक है और इसलिए उन्हें स्पष्ट भूमिका लेनी चाहिए. जे. नंदकुमार जी ऋतम ऐप और महाराष्ट्र एजुकेशन सोसाइटी द्वारा आयोजित मीडिया संवाद परिषद के समापन सत्र में संबोधित कर रहे थे. मंच पर विश्व संवाद केंद् ...

    Read more

    कर्तव्य के मार्ग पर कायम रहने की शिक्षा गीता देती है – डॉ. मोहन भागवत

    भगवद्गीता कंठस्थ करने वाले 81 छात्रों को गीताव्रती की उपाधि देकर स्वर्ण पदक से सम्मानित किया संगमनेर, पुणे (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि भगवद्गीता एक अलौकिक ग्रंथ है. गीता के ज्ञान के आधार पर भारत को विश्वगुरू बनाना संभव है. हर एक को अपने कर्तव्य के मार्ग पर कायम रखने की शिक्षा गीता से मिलती है. मानवीय जीवन की समस्याओं से विचलित हुए बिना उनसे निश्चयपूर्वक सामना ...

    Read more

    प्रत्येक परिवार गाय का रखवाला बन जाए तो देश में आमूल परिवर्तन होंगे – डॉ. मोहन भागवत

    पुणे (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि “अगर प्रत्येक परिवार गाय का रखवाला बन जाए तो देश में आमूल परिवर्तन होंगे. सारा समाज जागृत होगा. समाज की भावना जागे तो मनुष्य का जीवन ही बदल जाएगा. भारतीय संस्कृति ने गाय को 'विश्व माता' कहा है. हमारी संस्कृति गाय को कामधेनु मानती है. मगर उसी गाय को कुछ हिन्दू ही बूचड़खाने तक पहुंचा देते हैं," शनिवार को गो विज्ञान संशोधन संस्था ...

    Read more

    शिक्षा को अंतर्बाह्य संस्कारों से जोड़ना होगा – भय्याजी जोशी

    स्व. कृष्णा लक्ष्मण जी व किशाभाऊ पटवर्धन जन्मशती वर्ष का शुभारंभ पुणे (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह भय्याजी जोशी ने कहा कि किशाभाऊ जी के जीवन से प्रेरणा लेकर हम सबको काम करना चाहिए और यही उन्हें सच्ची श्रद्धांजलि होगी. किशाभाऊ जी केवल अभिभावक, मार्गदर्शक नहीं, बल्कि एक मित्र थे, जिनकी मित्रता की कोई सीमा नहीं थी. किशाभाऊ का स्मरण करते हुए कहा कि उन्होंने केवल सपना नहीं देखा, बल्कि उसे वास ...

    Read more

    परिवार प्रबोधन वर्तमान समय की आवश्यकता है – डॉ. मोहन भागवत जी

    नासिक (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी नासिक प्रवास के दौरान गोले कॉलोनी स्थित राष्ट्र सेविका समिति के कार्यालय में सेविका समिति की बहनों से मिले. बहनों ने उत्साह के साथ सरसंघचालक जी का स्वागत किया. सरसंघचालक मोहन भागवत जी ने कहा कि मातृ शक्ति की प्रतिष्ठा कायम रखते हुए परिवार प्रबोधन वर्तमान समय की आवश्यकता है. जगत - जननी, प्रकृति, पुरुष, यह प्राकृतिक रचना है. हमारी संस्कृत ...

    Read more

    हमें राष्ट्र का निर्माण नहीं करना, बल्कि पुनर्निर्माण करना है – भय्याजी जोशी

    दासबोध और भगवद्गीता का दर्शन स्व. ठेंगड़ी जी के जीवन में होता था पुणे (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरकार्यवाह भय्याजी जोशी ने कहा कि स्व. दत्तोपंत ठेंगड़ी जी एक दृष्टा थे, इसलिए उन्हें परिस्थिति का आंकलन औरों से पहले होता था. समर्थ रामदास द्वारा लिखित दासबोध और श्रीकृष्ण द्वारा प्रतिपादित भगवद्गीता का एकत्रित दर्शन ठेंगड़ी जी के जीवन में होता था. सरकार्यवाह जी राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के प्रचारक, दा ...

    Read more

    हमारे न्यूज़लेटर के लिए साइन अप करें

    VSK Bharat नवीनतम समाचार के बारे में सूचित करने के लिए अभी सदस्यता लें

    Scroll to top