You Are Here: Home » समाचार » मध्य भारत (Page 4)

    सेवा कार्य ही ईश्वरीय कार्य – प्रो. संजय द्विवेदी जी

    सेवा भारती द्वारा मेधावी छात्र-छात्राओं का सम्मान, 250 विद्यार्थियों को किया पुरस्कृत भोपाल (विसंकें). माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय के कुलसचिव एवं लेखक प्रो. संजय द्विवेदी जी ने कहा कि सेवा कार्य ही ईश्वरीय कार्य है. जब हम समाज को शिक्षित, संस्कारित, स्वावलंबी और समरस बनाने के लिए सेवा कार्य करते हैं तो उसी आनंद की अनुभूति करते हैं, जो ईश्वर की आराधना में प्राप्त होता है. व ...

    Read more

    माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश्वविद्यालय में यंग थिंकर्स कॉन्क्लेव-2018 प्री-टॉक में युवाओं से चर्चा

    भोपाल (विसंकें). आज के भारत की सबसे बड़ी पूँजी और उसकी सबसे बड़ी ताकत युवा हैं. अपने देश को आगे ले जाने के लिए हम युवा कुछ करना चाहते हैं. हम अपने कौशल से देश को नई ऊंचाइयों पर ले जाएंगे. कहते हैं कि युवा परिवर्तन का ही दूसरा नाम है, इसलिए हम भी देश और समाज में सकारात्मक परिवर्तन लाना चाहते हैं. अपने संकल्पों को पूरा करने के लिए हमें उचित मंच, अवसर और मार्गदर्शन की आवश्यकता है. अपने देश के प्रति कुछ करने के ...

    Read more

    नर्मदा पुत्र, नर्मदा की लहरों के साथ कदमताल करने वाले साहित्यकार अमृतलाल बेगड़ का निधन

    भोपाल (विसंकें). प्रसिद्ध साहित्यकार, चित्रकार और नर्मदा समग्र के प्रमुख अमृतलाल बेगड़ नहीं रहे. उन्होंने जबलपुर में आखिरी सांस ली. वे काफी समय से बीमार थे और कुछ दिन से वेंटिलेटर पर थे. अमृतलाल बेगड़ जी का अंतिम संस्कार जबलपुर में नर्मदा किनारे ग्वारीघाट पर शुक्रवार शाम किया गया. अमृतलाल बेगड़ उन चित्रकारों और साहित्यकारों में से थे, जिन्होंने पर्यावरण संरक्षण के लिए उल्लेखनीय काम किया. उन्होंने नर्मदा की चा ...

    Read more

    गाय के गोबर से बनी लकड़ी से अंतिम संस्कार की तैयारी, हर साल 4000 पेड़ बचेंगे

    भोपाल (विसंकें). नागपुर और ग्वालियर की तर्ज पर भोपाल में भी गौ काष्ठ (गोबर से बनी लकड़ी) से अंतिम संस्कार की तैयारी हो रही है. नागपुर में तो महानगरपालिका गौ काष्ठ उपलब्ध करा रही है. यह प्रयोग सफल होने पर पर्यावरण के संरक्षण में मदद मिलेगी. भोपाल के तीन बड़े विश्रामघाटों सुभाष नगर, छोला और भदभदा पर कुल मिलाकर 4000 अंतिम संस्कार होते हैं. एक अंतिम संस्कार में औसत तीन क्विंटल लकड़ी का उपयोग होता है, यानी साल भ ...

    Read more

    दूसरा स्वतंत्रता संग्राम था आपातकाल के खिलाफ संघर्ष

    'आपातकाल, लोकतंत्र और मीडिया’ विषय पर संविमर्श का आयोजन भोपाल (विसंकें). प्रख्‍यात चिंतक और विचारक हरेन्‍द्र प्रताप जी ने आपातकाल के दर्द को बयां करते हुए कहा कि आज की युवा पीढ़ी को आपातकाल के दौर को याद दिलाने की आवश्यकता है. मैंने प्रत्यक्ष तौर पर आपातकाल के दर्द को झेला है. तब लोग आपातकाल जैसे शब्द से परिचित भी नहीं थे. लाखों लोगों को जेल में अकारण बंद कर दिया गया. अनेक तरह की यातनाएं दी गईं. सरकार के पक ...

    Read more

    सुनहरे भविष्य की नई तस्वीर – निर्मला सगदेव छात्रावास भोपाल

    सेवागाथा. कृष्णा को पढ़ाई कभी रास नहीं आती थी. अंग्रेजी व गणित के अलावा बाकी विषय उसे कम ही समझ आते थे. कभी - कभी तो एक ही कक्षा में दो साल भी निकल जाते थे. आज वही कृष्णकुमार मध्यप्रदेश के बालाघाट नगर में एमपीईबी में असिस्टेंट इंजीनियर है. अब मिलते हैं, भोपाल के जिला रजिस्ट्रार गोवर्धन प्रसाद से, झारखण्ड के पिछड़े गांव बिशुनपुर के निर्धन परिवार मे जन्मे गोवर्धन पांच भाई बहनों में सबसे छोटे थे. इनकी कहानी का ...

    Read more

    नदियों की पूजा के साथ ही उनकी स्वच्छता के भी प्रयास करने होंगे – अमृतलाल वेगड़ जी

    भोपाल (विसंकें). ख्यातिप्राप्त लेखक और पर्यावरणविद् अमृतलाल वेगड़ जी ने कहा कि नदियों को सिर्फ पूजने के बजाए, उनको बचाने की जरूरत है. हम नर्मदा को मां कहते हैं, किंतु हमने उसका क्या हाल बना रखा है, यह किसी से छिपा नहीं है. हमारी कथनी और करनी में अंतर ही वह एकमेव कारण है, जिसके कारण हम एक हजार साल तक गुलाम रहे. यह प्रवृत्ति आज भी कम नहीं हुई है. अमृतलाल जी माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं संचार विश ...

    Read more

    पत्रकार को सर्वसमावेशक की भूमिका निभाई चाहिए – मा. गो. वैद्य जी

    भोपाल (विसंकें). ख्यातिलब्ध विचारक और वयोवृद्ध पत्रकार मा.गो. वैद्य जी ने कहा कि पत्रकार और संपादक को सर्वसमावेशक की भूमिका निभानी चाहिए. समाचार पत्र भी समावेशी होना चाहिए. समाचार पत्र के वैचारिक पृष्ठ पर सभी प्रकार के विचारों को अवसर दिया जाना चाहिए. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ भी समावेशी है. जो लोग संघ को नहीं पहचानते हैं वे इसे 'एक्सक्लूसिव' की नजर से देखते हैं. वे माखनलाल चतुर्वेदी राष्ट्रीय पत्रकारिता एवं ...

    Read more

    राजाभोज ताल संरक्षण अभियान में श्रम साधना में जुटे हजारों स्वयंसेवक

    भोपाल (विसंकें). राजधानी की ऐतिहासिक बड़ी झील के संरक्षण के लिए भोजताल संरक्षण अभियान - 2018 के द्वितीय चरण में रविवार को राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ सेवा विभाग के हजारों स्वयंसेवकों व गणमान्य नागरिकों ने संत हिरदाराम नगर विसर्जन घाट के सामने स्थित तालाब के गहरीकरण कार्य हेतु श्रमदान किया. सभी आयु वर्ग के स्वयंसेवकों का 20 मिनट भाव जागरण सह क्षेत्र कार्यवाह हेमंत मुक्तिबोध जी ने किया. कार्यक्रम में प्रांत संघचा ...

    Read more

    12 साल से गरीब बच्चों की पढ़ाई के लिये जुटा रहे फीस, 1000 से अधिक बच्चे हुए लाभान्वित

    भोपाल (विसंकें). मानसी तीन बहनों में सबसे बड़ी है. पिछले साल वह बारहवीं में थी. पिता की कैंसर से मौत हो चुकी है. तीनों बहनों की जिम्मेदारी मां पर है, जो छोटे-मोटे काम से अपना परिवार चलाती हैं. मानसी पढ़ने में तेज थीं, लेकिन एक वक्त ऐसा आया जब फीस जमा करने के भी पैसे नहीं थे. स्कूल से नाम कटाने का फैसला लिया. स्कूल वालों को पता चला तो सच में पारिवारिक स्थिति खराब पाई गई. बच्ची की फीस का प्रबंध किया गया. उसने स ...

    Read more

    हमारे न्यूज़लेटर के लिए साइन अप करें

    VSK Bharat नवीनतम समाचार के बारे में सूचित करने के लिए अभी सदस्यता लें

    Scroll to top