करंट टॉपिक्स

हिरौन्दी से भूमि सुपोषण एवं संरक्षण अभियान का शुभारम्भ

मझगवां. दीनदयाल शोध संस्थान कृषि विज्ञान केन्द्र मझगवां ने मंगलवार को ग्राम पंचायत हिरौन्दी में भूमि सुपोषण एवं संरक्षण हेतु राष्ट्र स्तरीय जन अभियान का...

हमारा आचरण ही हमारी पहचान है – डॉ. मोहन भागवत जी

जबलपुर (01 अप्रैल, 2024). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी का सड़क मार्ग से मंडला से जबलपुर आगमन हुआ. उनके साथ संघ...

डीआरआई और सेवा इंटरनेशनल यूके द्वारा “ऑटो रिक्शा रन” का आयोजन

ग्रामीण जीवन शैली की झलक एवं सेवा प्रकल्पों को समझते हुए 2000 किमी से अधिक दूरी तय करेंगे चित्रकूट. चित्रकूट में सर्वसुलभ उच्च स्तरीय चिकित्सा...

दीनदयाल शोध संस्थान में ‘जनजातीय गौरव दिवस’ के रूप में मनाई भगवान बिरसा मुंडा जयंती

चित्रकूट/मझगवां. भगवान बिरसा मुंडा की जयंती बुधवार को दीनदयाल शोध संस्थान के शैक्षणिक प्रकल्प रामनाथ आश्रम शाला पीली कोठी, परमानन्द आश्रम पद्धति विद्यालय गनीवां, कृष्णादेवी...

नानाजी के 107वें जन्मदिवस पर चित्रकूट में त्रिदिवसीय शरदोत्सव का शुभारम्भ

चित्रकूट. दीनदयाल शोध संस्थान एवं चित्रकूट क्षेत्र की जनता के सहयोग से भारत रत्न नानाजी देशमुख के जन्मदिवस शरद पूर्णिमा के अवसर पर पारम्परिक एवं...

मझगवां से बिछियन गाँव का सफर 25 किमी. से घटकर होगा 3 किमी.

ग्रामीणों ने ‌जन भागीदारी से सड़क बनाने का उठाया जिम्मा, 3 किमी सड़क बनाने में जुटेगा पूरा गांव मझगवां. सतना जिले के मझगवां विकास खण्ड...

वीरांगना रानी दुर्गावती जयंती – विविध क्षेत्र में उत्कृष्ट कार्य करने वाली महिलाओं को किया गया सम्मानित

चित्रकूट/मझगवां. वीरांगना रानी दुर्गावती जी की 500वीं जयंती पर दीनदयाल शोध संस्थान द्वारा गुरुवार को मझगवां में कई आयोजन किये गए. वाल्मीकि परिसर मझगवां में...

जबलपुर हिंसा – दंगे की यह रणनीति आज भी ज्यों की त्यों है

रमेश शर्मा देश में साम्प्रदायिक हिंसा और विध्वंस का इतिहास पुराना है. यह दंगाइयों की स्थाई रणनीति है कि पहले धावा बोलो और जब सुरक्षा...

हमारा चिंतन व्यापक होना चाहिए

चित्रकूट. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के वरिष्ठ प्रचारक स्व. मदनदास देवी जी की पावन स्मृति में दीनदयाल शोध संस्थान, चित्रकूट के विवेकानन्द सभागार में श्रद्धांजलि सभा...

स्‍मृतियों के मोती – यथावत है आपातकाल का दर्द; आज की पीढ़ी भी समझे!

डॉ. मयंक चतुर्वेदी सुबह का समय था, समूचे देश ने रेडियो पर तत्‍कालीन प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की आवाज में संदेश सुना, 'भाइयों और बहनों, राष्ट्रपति...