You Are Here: Home » समाचार » विदर्भ

    राष्ट्रीय एकात्मता की प्रत्यक्ष अनुभूति का केंद्र है संघ शिक्षा वर्ग – वी. भागय्या जी

    नागपुर. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सह सरकार्यवाह वी. भागय्या जी ने कहा कि संघ शिक्षा वर्ग, तृतीय वर्ष (विशेष) राष्ट्रीय एकात्मता की प्रत्यक्ष अनुभूति का केंद्र है. 'हम सब एक हैं' का अनुभव यहां होता है और यह अनुभव हम सबको लेना चाहिए. रेशिमबाग, नागपुर स्थित स्मृति मंदिर परिसर के महर्षि व्यास सभागृह में संघ शिक्षा वर्ग (विशेष) के उद्घाटन सत्र में शिक्षार्थियों को संबोधित कर रहे थे. संघ शिक्षा वर्ग में देश के व ...

    Read more

    मूल्यों का ध्यान रख, उन पर कायम रहते हुए परिवर्तन करना है – डॉ. मोहन भागवत

    श्रद्धेय दत्तोपंत ठेंगड़ी जन्मशताब्दी समारोह का शुभारंभ नागपुर (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि दत्तोपंत ठेगड़ी जी संघ परिवार के उन शख्सियतों में आते हैं, जिनमें तत्व चिंतक, उत्कृष्ट व्यक्तित्व और बेहतर संगठक के गुण थे. समाज के हर क्षेत्र में उनका समान नेतृत्व था. उनके सम्पर्क में जो भी रहा, उसे कुछ न कुछ सीखने को ही मिला है. उन्हें स्नेह, करुणा और नेतृत्व के गुण अप ...

    Read more

    विजयादशमी उत्सव 2019 के अवसर पर सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी के उद्बोधन का सारांश

    विजयादशमी उत्सव 2019 के अवसर पर सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी के उद्बोधन का सारांश (मंगलवार, 08 अक्तूबर 2019) आदरणीय प्रमुख अतिथि महोदय, इस उत्सव को देखने के लिए विशेष रूप से यहां पर पधारे हुए निमंत्रित अतिथि गण, श्रद्धेय संत वृंद, मा. संघचालक गण, संघ के सभी माननीय अधिकारीगण, माता भगिनी, नागरिक सज्जन एवं आत्मीय स्वयंसेवक बंधु. इस विजयादशमी के पहले बीता हुआ वर्ष भर का कालखंड श्री गुरु नानक देव जी के 550वें प्र ...

    Read more

    कम्फर्ट जोन से बाहर आकर समाज में काम करें महिलाएं – शांतक्का जी

    राष्ट्र सेविका समिति नागपुर विभाग का विजयादशमी उत्सव 02 अक्तूबर को माधवनगर, नागपुर में संपन्न हुआ. कार्यक्रम में अध्यक्ष के रूप में सेवानिवृत्त IPS निर्मल जी कौर, सेविका समिति की प्रमुख संचालिका शान्तक्का जी मुख्य वक्ता रहीं. सेविकाओं ने योगासन, घोष और योगचाप का प्रदर्शन किया तथा सघोष पथ संचलन हुआ. निर्मल जी ने सेविकाओं को येसूबाई का उदारहण देते हुए कहा कि जब तक जीयो, सम्मान से जियो, अपने धर्म की रक्षा के ल ...

    Read more

    आर्थिक स्वतंत्रता तथा समाज के स्वावलंबन के लिये लघु उद्योग स्थापित करने की आवश्यकता – डॉ. मोहन भागवत जी

    नागपुर. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि देश की आर्थिक स्वतंत्रता तथा समाज के स्वावलंबन की प्राप्ति के लिये बड़ी संख्या में लघु उद्योग स्थापित करने की आवश्यकता है. सरसंघचालक जी लघु उद्योग भारती की स्थापना के रजत जयंती वर्ष के अवसर पर आयोजित तीन दिवसीय राष्ट्रीय अधिवेशन के उद्घाटन सत्र में संबोधित कर रहे थे. उन्होंने कहा कि “1994 में लघु उद्योग भारती की स्थापना हुई थी. इसमें म ...

    Read more

    सुषमा जी को सेविका समिति ने श्रद्धांजलि अर्पित की

    राष्ट्र सेविका समिति की प्रमुख संचालिका शांतक्का जी ने कहा कि स्वर्गीय सुषमा स्वराज जी विश्वबंधुत्व का मूर्तिमंत रूप थीं. एकात्म मानवदर्शन को अपने आचरण में अपनाया था. समिति प्रमुख पूर्व विदेश मंत्री स्व. सुषमा जी को श्रद्धांजलि अर्पित कर रही थीं. नागपुर स्थित समिति के केंद्र कार्यालय, देवी अहिल्या मंदिर में श्रद्धांजलि सभा का आयोजन किया गया था. उन्होंने कहा कि भगवान श्रीकृष्ण को अपेक्षित प्रिय भक्त के सभी ग ...

    Read more

    रा. से. समिति की बैठक में पारित प्रस्ताव – जनसंख्या असंतुलन भारत के लिए विकट संकट

    राष्ट्र सेविका समिति की अखिल भारतीय कार्यकारिणी एवं प्रतिनिधि मंडल बैठक गत 11 जुलाई को विश्व जनसंख्या दिवस पर देश के कई चिंतकों ने भारत की बढ़ती हुई जनसंख्या पर चिंता व्यक्त की. राष्ट्र सेविका समिति का यह मत है कि बढ़ती हुई जनसंख्या के विभिन्न पक्षों पर विचार करते हुए अधिकांश चिंतकों ने हिन्दू जनसंख्या के बिगड़ते हुए संतुलन के कारणों पर कोई विचार नहीं किया. सन् 2011 की जनगणना के धर्म आधारित जनसंख्या के आंकड़े च ...

    Read more

    ‘‘जनसंख्या असंतुलन के भारत पर परिणाम’’ विषय पर प्रस्ताव पारित

    सेविका समिति की अखिल भारतीय कार्यकारिणी एवं प्रतिनिधि मंडल बैठक राष्ट्र सेविका समिति की अखिल भारतीय कार्यकारिणी एवं प्रतिनिधि मंडल की बैठक के समापन अवसर पर सेविका समिति की प्रमुख संचालिका शांताक्काजी ने कहा कि समर्थ भारत - सक्षम भारत का निर्माण हमारा कार्य है. जो लक्ष्य हमने तय किया है, उसे संकल्प के साथ पूरा करना है. जब राष्ट्र सर्वोपरि, इस उदात्त भावना के साथ ध्येय पथ पर संगठन के माध्यम से चलते हैं, तो यश ...

    Read more

    संस्कृत को जाने बिना भारत को समझना मुश्किल है – डॉ. मोहन भागवत

    राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी ने कहा कि संस्कृत को जाने बिना भारत को पूरी तरह से समझना मुश्किल है. नागपुर में आयोजित एक पुस्तक विमोचन कार्यक्रम में उन्होंने कहा कि देश में सभी मौजूदा भाषाएं, जिनमें आदिवासी भाषाएं भी शामिल हैं, कम से कम 30 प्रतिशत संस्कृत शब्दों से बनी हैं. सरसंघचालक ने कहा कि यहां तक कि डॉ. बी.आर. आंबेडकर ने भी इस बात पर अफसोस जताया था कि उन्हें संस्कृत सीखने का अवस ...

    Read more

    संघ शिक्षा वर्ग – तृतीय वर्ष के समापन समारोह में सरसंघचालक डॉ. मोहन भागवत जी के उद्बोधन के अंश…

    चुनाव के बाद, इस वर्ग का प्रारंभ हुआ और समापन हो रहा है। संयोग की बात है, पांच वर्ष पूर्व 2014 में भी ऐसा ही हुआ था और उस समय जो तिथिमान बना वर्ष का, उसमें संयोग ऐसा हुआ कि हिन्दू साम्राज्य दिवस की तिथि शिविर समापन के पहले दिन थी, और इस बार भी हिन्दू साम्राज्य दिवस की तिथि वर्ग समापन से एक दिन पहले है। चुनाव में स्पर्द्धा होती ही है। प्रजातंत्र है, राजनीतिक दलों को चुनाव लड़ने ही पड़ते हैं। स्पर्द्धा होने क ...

    Read more

    हमारे न्यूज़लेटर के लिए साइन अप करें

    VSK Bharat नवीनतम समाचार के बारे में सूचित करने के लिए अभी सदस्यता लें

    Scroll to top