करंट टॉपिक्स

कोरोना के खिलाफ जंग में सेवाभावी संस्थाएं सेवा में जुटीं

मुंबई. कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर ने जनजीवन को अस्तव्यस्त कर दिया है. सैकड़ों को जीवन से हाथ धोना पड़ा है. लाखों संक्रमण का शिकार...

जनकल्याण समिति – समर्थ भारत के साथ हजारों पुणेवासियों का कदमताल

एक पखवाड़े में 1200 से अधिक ब्लड बैग का संग्रहण, प्लाज्मा दान ने बचाया 1500 से अधिक रोगियों का जीवन पुणे (विसंकें). कोरोना संकट में...

टीकाकरण के लिए जन जागरूकता अभियान चला रहे हैं संघ के स्वयंसेवक

भोपाल (विसंकें). कोरोना संक्रमण के विरुद्ध लड़ाई में राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के कार्यकर्ता सेवा, सहायता कार्यों के साथ ही टीकाकरण के लिए जन-जागरूकता अभियान चला...

रा.स्व.सं. जनकल्याण समिति – बाया कर्वे होस्टल में 450 बेड का नि:शुल्क कोविड केयर सेंटर शुरू

चिकित्सा सुविधा के साथ ही 8 डॉक्टर्स और 25 स्वयंसेवक रहेंगे पुणे (विसंकें). राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ ने समर्थ भारत अभियान के तहत पुणे में निःशुल्क...

कोविड19 सेवायज्ञ गुजरात

माना अगम अगाध सिंधु है, संघर्षों का पार नहीं है. किन्तु डूबना मझधारों में साहस को स्वीकार नहीं है.. जटिल समस्या सुलझाने को नूतन अनुसंधान...

संकट में सहयोगी बन रही स्वयंसेवकों द्वारा संचालित हेल्पडेस्क

भोपाल (विसंकें). मध्यप्रदेश में कोरोना के बढ़ते सक्रमण के बीच राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के स्वयंसेवकों ने पीड़ितों एवं जरूरतमंदों की सहायता के लिए हेल्पडेस्क स्थापित...

संकल्प, सेवा-समर्पण है संघ का स्वभाव – पदम सिंह

गंगा स्नान के बाद स्वयंसेवक अपने-अपने गंतव्य को रवाना हरिद्वार. राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ क्षेत्र प्रचार प्रमुख पदम सिंह ने कहा कि कार्यकर्ताओं ने महाकुम्भ में...

सेवागाथा – “ज्ञान प्रबोधिनी” व “बाल स्वप्न रथ” प्रोजेक्ट

अपने बच्चों पर गर्व करती आंखों में चमक लिए, अंजली दीदी बताती है, फर्स्ट बैच में से एक रिक्शा चालक की बेटी, आज तक्षशिला कॉलेज...

सेवागाथा – मां यशोदा का पुनर्जन्म

विजयलक्ष्मी सिंह 26 जनवरी, 2003.......62 से ऊपर की विमला कुमावत इसे ही अपना जन्मदिन बताती हैं. जन्मदिन नहीं, पुनर्जन्मदिन.... सच तो ये है कि कई...

बच्चे मन के सच्चे – अब हमारा साथ एलआईसी की तरह है, जिंदगी के साथ भी व जिंदगी के बाद भी

अंजु पांडे कोरोना काल में जब सारे स्कूल बंद हो गए, एवं बच्चों को घर से बाहर जाकर खेलने की अनुमति भी नहीं मिली, तब...