करंट टॉपिक्स

ऑनलाइन क्लास में कांग्रेस का प्रचार, समर कैंप में इस्लामिक मूल्यों को अपनाने का प्रशिक्षण

Spread the love

जयपुर. असामाजिक, जिहादी तत्व कोरोना संकट काल में विभिन्न माध्यमों से छात्रों को बरगलाने-भड़काने का प्रयास कर रहे हैं. समर कैंप, ऑनलाइन क्लास, व अन्य़ तरीकों से कुत्सित प्रयासों में लगे हैं.

दिल्ली पब्लिक ग्लोबल स्कूल (DPGS) गुरुग्राम की एक शिक्षिका का वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें वह कक्षा दस के बच्चों को 2024 में कांग्रेस को वोट देने की सीख दे रही हैं और भाजपा को वोट क्यों न दें, यह भी बता रही हैं. इतना ही नहीं, इसी स्कूल में आयोजित समर कैम्प में बच्चों को इस्लाम का पाठ भी पढ़ाया जा रहा है. दूसरी तरफ डीपीएस (DPS) ऊधमपुर में ई-समर कैम्प में स्टोरी टेलिंग के लिए विषय रखा गया….‘मूर्ख ब्राह्मण’.

सबसे पहले बात सोशल साइंस की शिक्षिका की. सोशल साइंस पढ़ाते-पढ़ाते कांग्रेस का प्रचार करने लग गईं. 2024 में लोकसभा चुनाव होने हैं, दसवीं क्लास के बच्चे तब तक वोट देने वाली आयु के हो जाएंगे, इसी को ध्यान में रखते हुए बच्चों को कांग्रेस को वोट क्यों दें और बीजेपी को क्यों न दें समझा रही थीं. क्लास ऑनलाइन थी तो एक बच्ची ने पूरा लेक्चर रिकॉर्ड कर लिया, जो बाद में सोशल मीडिया पर वायरल हो गया. वीडियो में टीचर कह रही हैं – ‘पॉलिटिक्स एक ऐसी चीज है बेटा कि आप देश बना भी सकते हो और अपना देश बर्बाद भी कर सकते हो और इस समय की यह सरकार देश को बर्बाद कर रही है. आपको पता नहीं चल रहा, पर धीरे-धीरे बर्बाद कर रही है. हमारे देश में 2019 में जो CAA एक्ट आया था, उसमें मुस्लिम कम्युनिटी के जो लोग 1944 के बाद इंडिया में आए थे, उन्हें कह दिया गया कि वे देश छोड़ दें. किसी दूसरे देश में चले जाएं. ऐसे ही कुछ मूर्ख लोग हैं इंडिया में, जो कहते हैं…. मैं तो हिन्दू हूं, मैं तो बीजेपी को ही वोट दूंगा, चाहे वह कुछ भी करे……कभी-कभी बोलते हैं न सरकार बनाओ तो ऐसी बनाओ कि याद रहे, जैसे गवर्नमेंट ऑफ इंदिरा गांधी. लोग आज भी याद करते हैं उस गवर्नमेंट को. बेस्ट गवर्नमेंट मानी जाती है जब नेहरू जी थे तब की, बेस्ट इकॉनॉमी स्ट्रक्चर था जब मनमोहन सिंह थे …….यह जो बीजेपी है, वह कुछ भी कहे सब आंख बंद कर मान लेंगे, अगर बेटा वह हारेगी न! तो उसकी जगह कोई स्ट्रॉंग पार्टी नहीं है…जब आप बड़े हो जाएंगे, जब आप वोट देने लायक हो जाएंगे, तब प्लीज…. वोट देने से पहले दो बार तीन बार सोचिएगा जरूर.’

दूसरी ओर इस्लाम के प्रचार और ब्राह्मणों को मूर्ख बताते हुए सनातन धर्म पर चोट के लिए माध्यम बनाया गया है समर कैम्प को.

दिल्ली पब्लिक ग्लोबल स्कूल (DPGS) गुरुग्राम व मुरादाबाद में 3 और 4 जुलाई को 8-15 साल के बच्चों के लिए एक समर कैम्प का आयोजन किया गया, जिसका विषय था – ‘How to adopt islamic values in personal life.’ यानि व्यक्तिगत जीवन में इस्लामी मूल्यों को कैसे अपनाएं? जिसमें पढ़ाया जा रहा था – इस्लाम क्या है, हम पैदा क्यों हुए हैं, कुरान को कैसे समझें और एक मुस्लिम के दायित्व क्या हैं? स्कूल CBSE से सम्बद्ध है, जहां सभी धर्मों के बच्चे पढ़ते हैं.

दूसरी ओर दिल्ली पब्लिक स्कूल (DPS) ऊधमपुर में सनातन धर्म पर चोट करने के लिए स्टोरी टेलिंग में मूर्ख ब्राह्मण का प्रस्तुतिकरण हुआ. यह आयोजन आठवीं कक्षा के बच्चों के लिए था.

उल्लेखनीय है कि दिल्ली पब्लिक ग्लोबल स्कूल (Delhi Public Global School) अमतूल एजूकेशनल ट्रस्ट के अंतर्गत संचालित होता है. जिसके प्रेजीडेंट मोहम्मद अबू बकर मंसूर, सेक्रेटरी छुट्टन खान और कोषाध्यक्ष कासिम अली हैं. ट्रस्ट मुरादाबाद में पंजीकृत है. दिल्ली पब्लिक ग्लोबल स्कूल (DPGS) मुरादाबाद के मैनेजिंग डायरेक्टर अहमद जकारिया और चेयरमैन मंसूर राशिद हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.