करंट टॉपिक्स

सत्ता के साथ भाषा की मर्यादा और समझ भी गँवा बैठी कांग्रेस

Spread the love

भोपाल. मध्यप्रदेश में भाजपा कार्यकाल के 100 दिन पूरे होने पर प्रदेश कांग्रेस ने राज्य में काला दिवस मनाया, इस दौरान सोशल मीडिया पर भी मध्यप्रदेश कांग्रेस द्वारा “लोकतंत्र पर कलंक बीजेपी” नाम से एक अभियान चलाया गया. एक तरफ कांग्रेस नैतिकता और संस्कारों की दुहाई दे रही है, वहीं कांग्रेस का आधिकारिक ट्वीटर हैंडल इसके बिल्कुल विपरीत तस्वीर प्रस्तुत कर रहा है. प्रदेश में कांग्रेस के हाथ से सत्ता गई है, मध्यप्रदेश कांग्रेस के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से लगातार झूठी खबरें और एडिट की हुई वीडियो प्रसारित की जा रही हैं.

कुछ दिनों पहले प्रदेश के मुखिया शिवराज सिंह चौहान का एक एडिटेड वीडियो इसी टि्वटर हैंडल से ट्वीट किया गया था. विडियो में शिवराज सिंह यह कहते हुए सुने जा सकते थे कि “पूरे प्रदेश में इतना शराब फैला दो कि सब पियें और पड़े रहें”. कुछ ही घंटों में इस वीडियो की असलीयत सामने आ गई, जिसके बाद लोगों ने मध्यप्रदेश कांग्रेस की जमकर खिल्ली उड़ाई. यह बयान दरअसल शिवराज सिंह के एक पुराने वीडियो में छेड़छाड़ करके बनाया गया था. ट्वीट्र हैंडल से लगातार प्रदेश में नकारात्मकता का माहौल बनाने का प्रयास किया जा रहा है. साथ ही भाषा का स्तर भी गिरा हुआ है.

ट्वीट की सड़क छाप भाषा

मध्यप्रदेश कांग्रेस के इस आधिकारिक ट्विटर हैंडल ने बीते दिनों में राजनीतिक और सामाजिक गरिमा को तार तार करने वाली सड़क छाप भाषा में कई ट्वीट किए हैं. बीते 21 जून को टि्वटर हैंडल से भारत के प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को “अनर्थ शास्त्री और विनाशकारी प्रधानमंत्री” बताया गया.
22 जून को जब पूरा देश एक स्वर में चीन के खिलाफ अपने देश की सरकार और सेना के साथ कंधे से कन्धा मिलाकर खड़ा था, तो इस ट्विटर हैंडल से लिखा गया था कि “जो व्यक्ति मीडिया का सामना नहीं कर सकता है, वह चीन का सामना क्या करेगा”. संकट के समय में भी कांग्रेस राजनीति करती रही.
26 जून को इस टि्वटर हैंडल से भारत चीन सीमा विवाद पर एक ट्वीट करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी का नाम लिए बगैर लिखा गया “चीन आ गया गलवान, साहब ने बेच दिया गिरेबान”.

इन सब ट्वीट के अलावा भी अनर्गल भाषा शैली का उपयोग करते हुए इस टि्वटर हैंडल से कई ट्वीट किए जाते हैं, जैसे लॉकडाउन के समय में ट्विटर हैंडल ने अपनी सारी मर्यादाओं को भूलते हुए लिखा था कि “शराब की दुकानों के साथ-साथ सुनार की दुकान भी खुलवा दीजिए, जिससे शराबी  गहने बेचकर शराब पी सके”.

ज्योतिरादित्य सिंधिया पर भी सड़क छाप भाषा में निशाना साधा जाता रहा है. सिंधिया और उनके समर्थकों को जयचंद, गद्दार और अंग्रेजों का साथ देने वाला जैसी शब्दावली का उपयोग किया जा रहा है.

ऐसा नहीं है कि मध्य प्रदेश कांग्रेस के आधिकारिक ट्विटर हैंडल से किए जा रहे ट्वीट से टि्वटर उपयोगकर्ता प्रभावित होते हैं. बल्कि कांग्रेस इन ट्वीट के बाद खुद फंसती हुई नजर आती है, इन ट्वीट्स के रिप्लाई में कई यूजर कांग्रेस की टांग खींचते हुए नजर आते हैं, आप खुद देखिए कैसे युजर्स कांग्रेस की चुटकी लेते हुए नजर आते हैं.

https://twitter.com/suspended_pande/status/1273673733752799234?s=20

https://twitter.com/KVinod2007/status/1273563369912451073?s=20

https://twitter.com/Bannajibjp/status/1260233234073305088

Leave a Reply

Your email address will not be published.