करंट टॉपिक्स

धर्मांतरण व लवजिहाद विरोधी कानून जल्द बनाया जाए – विश्व हिन्दू परिषद

Spread the love

गुरुग्राम. हरियाणा के गुरूग्राम में पत्रकार वार्ता को सम्बोधित करते हुए विश्व हिन्दू परिषद के केंद्रीय संयुक्त महामंत्री डॉ. सुरेंद्र जैन ने कहा कि मेवात की स्थिति बद से बदतर होती जा रही है. हिन्दू लड़कियों पर मेवात में मुस्लिमों द्वारा अत्याचार बढ़ते जा रहे हैं जो हिन्दू लड़की उनकी इच्छानुसार उनके पक्ष में कार्य नहीं करती उसे या तो उठा लिया जाता है अन्यथा, मार दिया जाता है.

धर्मांतरण की गति भी तेज होती जा रही है. हिन्दू समाज को मेवात में पहले से भी अधिक आतंकित किया जा रहा है. मेवात की आवाज को सुनकर वहां की पीड़ा को महसूस कर हरियाणा के मुख्यमंत्री जी ने स्वयं मेवात में जाकर कुछ घोषणाएं की थीं. लेकिन, उन्हें अभी तक ना तो अमलीजामा पहनाया जा सका है और ना ही, पुलिस को कोई ऐसा मैसेज दिया कि हिन्दुओं पर अत्याचारों को रोका जा सके.

मेवात में गौ हत्या पर भले ही पाबंदी हो, लेकिन वहां पर गौ हत्याओं की संख्या अधिक होती जा रही है. हिन्दुओं की जमीन वापस करवाने की घोषणा मुख्यमंत्री जी ने अवश्य की है. लेकिन, अभी कोई कदम नहीं उठाया जा सका है. इसे कार्यान्वित नहीं किया गया है.

उन्होंने कहा कि निकिता हत्याकांड के बाद वातावरण और अधिक बदल गया है. यद्यपि गृहमंत्री तथा मुख्यमंत्री जी ने इस विषय में संज्ञान लिया है तथा कार्यवाही करने का भरोसा भी दिया है. मेवात की स्थिति का जायजा लेने के लिए दो जांच दल गठित किए गए थे. एक मेजर जनरल जीडी बक्शी के नेतृत्व में तथा दूसरा जस्टिस पवन कुमार के नेतृत्व में गठित किया गया था. इन दोनों दलों ने अपनी रिपोर्ट दी है. वहां के अत्याचारों का विवरण किया है, घटनाओं का ब्यौरा दिया है, उस विषय में अभी तक हरियाणा सरकार ने कोई भी ध्यान नहीं दिया है. जो मन्दिर वहां की पुलिस ने मुस्लिमों के प्रभाव में आकर बंद कर दिए हैं, उन्हें दोबारा से खोला जाए तथा दोषियों को कड़ी सजा देने का प्रावधान किया जाए.

हम यह समझते हैं कि सरकार की कुछ मजबूरियां हो सकती हैं. लेकिन विश्व हिन्दू परिषद की कोई मजबूरी नहीं है. हम समय-समय पर बिना किसी घटना के घटित हुए भी अपनी आवाज को बुलंद करते रहेंगे. समस्याओं के समाधान के लिए अपने प्रयास जारी रखेंगे. जब तक हरियाणा के मुख्यमंत्री अपनी घोषणाओं को लागू नहीं करवा देते हैं, तब तक विश्व हिन्दू परिषद लगातार अपनी आवाज उठाता रहेगा.

लव जिहाद के मामले मेवात में लगातार बढ़ रहे हैं. लव जिहाद का मतलब यह कतई नहीं है कि कोई लव होने के कारण से मुस्लिम हिन्दू लड़कियों से शादी करता है. यह एक सांकेतिक शब्द है, धोखे से बलपूर्वक बहला-फुसलाकर या धन का दुरुपयोग करके जो हिन्दू लड़कियों को फंसाया जाता है या उनकी हत्या कर दी जाती है या इसके कारण से आत्म हत्याएं हो जाती हैं. यह सब लव जिहाद की परिभाषा में शामिल है. हाईकोर्ट ने भी इस विषय में अपनी टिप्पणी की है. हमारा केंद्र सरकार तथा हरियाणा सरकार से लगातार यह कहना है कि धर्मांतरण व लवजिहाद विरोधी कानून को जितना जल्दी हो सके बनाया जाए तथा उसे सख्ती से लागू किया जाए.

अभी समाज में भी इस विषय को लेकर जागृति आई है. जब तक हरियाणा सरकार इस विषय में संज्ञान नहीं लेती है, तब तक हम अपनी आवाज को बुलंद करते रहेंगे.

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *