करंट टॉपिक्स

डिजिटल दूरदर्शन, आकाशवाणी समाचार ने अटूट विश्वास दर्ज किया

Spread the love

नई दिल्ली. भारत को अपने पुराने सार्वजनिक प्रसारक पर सबसे अधिक विश्वास है, इसकी पुष्टि रॉयटर्स इंस्टीट्यूट द्वारा हाल ही में जारी रिपोर्ट से भी हुई है. इससे पता चला है कि लोगों को दूरदर्शन और आकाशवाणी के समाचार नेटवर्क पर सबसे अधिक विश्वास है.

रॉयटर्स इंस्टीट्यूट का दावा है कि इसकी डिजिटल न्यूज रिपोर्ट 2022 ने 46 Markets में 93,000 से अधिक ऑनलाइन समाचार उपभोक्ताओं के YouGov सर्वेक्षण के आधार पर डिजिटल समाचार उपभोग को मापा, जिसमें दुनिया की आधी आबादी शामिल है.

रॉयटर्स इंस्टीट्यूट की डिजिटल न्यूज रिपोर्ट 2022 के अनुसार, “भारत ने वृद्धि दर्ज करते हुए 46 Markets में अपनी समग्र स्थिति में सुधार किया है. पुराने प्रिंट ब्रांड और सार्वजनिक प्रसारक, जैसे दूरदर्शन समाचार और आकाशवाणी के बारे में सर्वेक्षण के दौरान उत्तरदाताओं के बीच सबसे अधिक विश्वास है, जबकि नए डिजिटल-जनित ब्रांडों के साथ 24 घंटे के टेलीविजन समाचार चैनल कम भरोसेमंद हैं.”

रॉयटर्स इंस्टीट्यूट द्वारा भारतीय समाचार ब्रांडों के सर्वेक्षण से पता चलता है कि समाचार की प्रामाणिकता और सटीकता के बारे में आकाशवाणी पर 72 प्रतिशत और दूरदर्शन समाचार पर 71 प्रतिशत ‘सबका विश्वास’ कायम है.

रिपोर्ट के अनुसार, दूरदर्शन समाचार और आकाशवाणी समाचार में विश्वास लगातार बढ़ रहा है, इसके अलावा, दूरदर्शन समाचार और आकाशवाणी दोनों की पहुंच भी बढ़ गई है.

दूरदर्शन और आकाशवाणी में यह निरंतर विश्वास ‘सबका विश्वास’ और भी मजबूत हुआ है.

Leave a Reply

Your email address will not be published.