करंट टॉपिक्स

लव जिहाद में असफल होने पर कट्टरपंथियों ने मंदिर में तोड़फोड़ की, पीड़िता के घर पर भी हमला किया

Spread the love

पटना. गर्दनीबाग थाना अंतर्गत पहाड़पुर मोहल्ले में जिहादियों ने लव जिहाद में असफल होने पर मंदिर को क्षतिग्रस्त किया. उन्मादियों की एक भीड़ ने पीड़ित वंचित समाज की लड़की के साथ मारपीट की और कपड़े भी फाड़ डाले. घटना 30 जुलाई को रात्रि 08 बजे घटी थी. मंदिर को क्षतिग्रस्त करने के मामले में पुलिस ने अभी तक कोई प्राथमिकी दर्ज नहीं की है.

घटना के प्रत्यक्षदर्शी विजय कुमार के अनुसार 30 जुलाई को रात्रि में करीब 07 बजकर 15 मिनट पर 100 की संख्या में अधिक जिहादीयों ने पहाड़पुर स्थित देवी स्थान पर हमला बोल दिया. तलवार, हॉकी, लाठी, ईंट-पत्थर से लैस भीड़ के अप्रत्याशित हमले से स्थानीय लोग सहम गए. सबके हाथों में कोई न कोई हथियार था. आधा घंटा तक इन लोगों ने उत्पात मचाया. मंदिर में स्थित प्रतिमाओं को तोड़ डाला.

प्रवेश द्वार पर लगी गणेश जी की तस्वीर वाली टाइल्स को भी नहीं छोड़ा, उसे भी डंडों से तोड़ डाला. इतने से मन नहीं भरा तो जिहादियों ने मंदिर पर काफी देर तक पथराव किया. सूचना के बाद भी जब प्रशासन नहीं पहुंचा तो स्थानीय लोगों ने स्वयं प्रतिकार करना शुरू किया, जिसके बाद जिहादी वहां से भाग गए.

जानकारी के अनुसार, जिहादियों की इस भीड़ में से कुछ जिहादियों ने एक दलित अल्प व्यस्क लड़की के घर पर हमला बोल दिया. हमलावर लगभग 30 की संख्या में थे. इनमें मो. शाहरूख खान, मो. तालीम और मो. साहिल के साथ इनके पिता मो. गुड्डू और इनकी माता शकीला खातून भी थी.

मो. शाहरूख ने नीतू पर हमला करते हुए उसके कपड़े फाड़ दिए. जिसके बाद तालीम ने लड़की के सीने पर हमला कर दिया. हमलावर जिहादियों ने पीड़िता के साथ जबरदस्ती करने के प्रयास में बाल पकड़कर बाहर तक घसीटा, जिससे पीडिता गंभीर रूप से घायल हो गई.

वहीं पीड़िता के घर के बाहर की स्थिति तो और भी खौफनाक थी. बाहर 20 से 25 अज्ञात जिहादी घर को चारों तरफ से घेरे हुए थे. घर के ऊपर पथराव किया जा रहा था. छोटे भाई राजन कुमार के साथ गाली-गलौज एवं मारपीट की गई. बाहर मौजूद भीड़ लगातर अभद्र भाषा का प्रयोग करते हुए गलियां दे रही थी. अंत में हमलावर जाते समय घर में रखे कीमती जेवरात एवं पैसा भी लेकर चले गए. उन लोगों के द्वारा किए गए हमले से घर, बाइक, सामान इत्यादि क्षतिग्रस्त हो गया.

दरअसल, इस घटना के मूल में मो. सोनू उर्फ बॉबी द्वारा अपहरण का एक झूठा केस था. लगभग 1 वर्ष पूर्व नीतू लव जिहादियों के झांसे में पड़ गई थी. 9 महीने पहले उसने बॉबी के साथ कोर्ट में प्रेम विवाह किया था. नीतू के परिजनों को लव जिहाद और उसका अंजाम पता था. जब शादी के बाद नीतू का जबरन धर्म परिवर्तन का प्रयास किया जा रहा था तो वह वहाँ से किसी तरह भाग निकलने में सफल रही. घर आने पर परिजनों ने लड़की की शादी कहीं और तय कर दी. इसकी भनक बॉबी उर्फ मो. सोनू को लग गई. पहले तो उसने अपने स्तर से प्रयास किया कि किसी तरह लड़की की शादी अन्यत्र न हो, लेकिन अपने प्रयास में असफल होने पर उसने अपने आकाओं से बात की. बॉबी ने अपहरण की झूठी अफवाह उड़ाई. लड़की के घर और पहाड़पुर मंदिर पर हमला बोल दिया.

जब यह मामला थोड़ा तूल पकड़ने लगा तो पुलिस ने अपनी कार्रवाई तेज की. बॉबी के नये नंबर का लोकेशन दानापुर स्टेशन के समीप मिला और पुलिस ने 30 जुलाई को दानापुर स्टेशन स्थित ऑटो स्टैंड से उसे गिरफ्तार कर लिया. पुलिस ने इस मामले में लड़की के घर पर हमला करने वाले अभियुक्तों को भी गिरफ्तार कर लिया है. गर्दनीबाग थाना से प्राप्त सूचना के अनुसार मंदिर क्षतिग्रस्त करने के मामले में 15 नामजद एवं 100 अज्ञात जिहादियों पर प्राथमिकी दर्ज हुई है, लेकिन मंदिर पर हुए हमले के अभियुक्त जिहादी अभी भी खुलेआम घूम रहे हैं.

Leave a Reply

Your email address will not be published.