करंट टॉपिक्स

राजधानी भोपाल में धर्म स्वातंत्र्य विधेयक के अंतर्गत पहला मामला, व्हाट्सएप स्टेटस लगाकर दी चुनौती

भोपाल. राजधानी में  ‘धार्मिक स्वतंत्रता अध्यादेश-2020′ के तहत अशोका गार्डन थाने में पहला मामला दर्ज किया गया है. आरोपी ने धर्म छिपाकर एक लड़की से प्रेम प्रसंग किया. उसके बाद उस पर धर्म परिवर्तन का दबाव बनाने लगा. पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है. यह प्रदेश का दूसरा और भोपाल का पहला मामला है. मामले में आरोपी असद ने न सिर्फ लड़की पर धर्मपरिवर्तन का दबाव बनाया, बल्कि जब लड़की ने उससे दूरी बनानी शुरू की तो उसने व्हाट्सएप्प के स्टेटस में चुनौती देते हुए एक दूसरी लड़की की फोटो के साथ लिखा “My new girlfriend, और ये भी हिन्दू”, दूसरे स्टेटस में उसने लिखा “अब देखते हैं कौन भक्त आएगा बीच में…..”. ये दो स्टेटस आरोपी युवक की विकृत मानसिकता को दर्शाते हैं.

एएसपी राजेश सिंह भदौरिया ने बताया, आरोपी असद ने आशु बनकर छात्रा से दोस्ती की. आरोपी ने अपना धर्म छिपाकर उसके साथ कई बार दुष्कर्म भी किया. दोनों की दोस्ती वर्ष 2019 से थी. दोनों जब रायसेन गए, तब युवक के धर्म के बारे में लड़की को पता चला. इसके बाद आरोपी ने उस पर धर्म परिवर्तन करने का दबाव बनाया. इतना ही नहीं, उसके साथ मारपीट भी की.

यह है पूरा मामला

पीड़िता मूलत: बालाघाट की रहने वाली 23 वर्षीय युवती इंजीनियरिंग द्वितीय वर्ष की छात्रा है. वह अशोका गार्डन इलाके में किराये पर कमरा लेकर रहती है. वर्ष 2019 में वह जिस बस स्टॉप से बस पकड़ती थी, वहां एक 30 वर्षीय आशु नाम का युवक उसका पीछा कर बात करने की कोशिश करता था. वह अपने आप को मैकेनिकल इंजीनियर बताता था. नवंबर 2019 में धीरे- धीरे दोनों की दोस्ती हो गई. 12 दिसंबर, 2019 को आरोपी युवक छात्रा के घर पहुंचा और खुद को हिंदू बताकर उससे शादी करने की इच्छा जाहिर की और उसके साथ शारीरिक संबंध बनाए. इसके बाद साल 2020 में मई महीने में आशु एक फंक्शन में गया था, उसी दौरान वह मस्जिद गया और मस्जिद में नमाज पढ़ने लगा. पीड़िता ने जब उससे पूछा तो उसने बताया कि वह मुस्लिम है और उसका असली नाम असद है. वह मैकेनिकल इंजीनियर नहीं, बल्कि एक साधारण मैकेनिक है. यह बात सुनकर पीड़िता ने आरोपी से कहा कि तुमने धोखा दिया है. इसके बाद युवती ने उससे दूरी बना ली. तो अक्तूबर 2020 में आरोपी ने छात्रा के साथ सड़क पर ही गाली-गलौज और मारपीट भी की. बीती 11 जनवरी को भी उसने युवती को रोका और धर्म परिवर्तन का दबाव बनाया.

मंगलवार को उसने युवती की तस्वीरें सोशल मीडिया पर पोस्ट करते हुए आपत्तिजनक टिप्पणी की. परेशान होकर युवती ने इसकी शिकायत भाजपा भोपाल जिला कार्यसमिति सदस्य संजय मिश्रा से की और उनके साथ अशोका गार्डन थाने पहुंची. पीड़ित की शिकायत पर पुलिस ने धार्मिक स्वतंत्रता अध्यादेश-2020’ के तहत मामला दर्ज किया. आरोपी को गिरफ्तार कर लिया गया है. आरोपी ऐशबाग भोपाल का रहने वाला है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *