करंट टॉपिक्स

महिला अकाली नेता के घर से हेरोइन बरामद, एक व्यक्ति सहित गिरफ्तार

Spread the love

पंजाब पुलिस ने तरनतारन जिले में शिरोमणि अकाली दल (बादल) की पूर्व नेता के घर से हेरोइ बरामद की है. एसटीएफ ने पूर्व जिला जरनल सचिव के घर छापा मारा और घर से 1 किलो 10 ग्राम हेरोइन बरामद की. अंतरराष्ट्रीय बाजार में इसकी कीमत करोड़ों रुपये बताई जा रही है. पुलिस ने महिला नेता सहित एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है. पंजाब में नशे के कारोबार पर नकेल कसना सरकार के लिए संभव नहीं हो पा रहा है.

दैनिक भास्कर की रिपोर्ट के अनुसार गिरफ्तार महिला नेता की पहचान जसविंदर कौर के रूप में हुई है. विधान सभा हलका पट्टी के गांव चम्बल निवासी जसविंदर कौर जस्सी की बेटी पंजाब पुलिस में तैनात है. जब पार्टी कार्यकर्ताओं को जसविंदर के घर छापे की खबर मिली तो वे भी मौके पर पहुंचे, लेकिन पुलिस द्वारा रोके जाने पर वे लौट गए.

STF ने छापेमारी के दौरान न किसी को घर में आने दिया और न ही जाने दिया. तलाशी देर रात तक चली. STF दोनों को अपने साथ लेकर गई है. मामले में आगे की कार्रवाई की जा रही है.

 

दो युवकों से बरामद हुई 5 करोड़ की हेरोइन और 4 लाख की ड्रग मनी

एक अन्य केस में नवांशहर जिले में नशा तस्करों के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की गई है. पुलिस ने कार सवार 2 युवकों से 1 किलो हेरोइन बरामद की है. अंतरराष्ट्रीय बाजार में इसकी कीमत करीब 5 करोड़ रुपये बताई जा रही है. तलाशी में दोनों युवकों से 4 लाख रुपये की ड्रग मनी भी मिली है.

SSP अलका मीना ने बताया कि जिले में कोरोना के चलते नाइट कर्फ्यू लगा है. इस दौरान थाना औड़ की पुलिस ने SHO इंस्पेक्टर मलकीत सिंह के नेतृत्व में फिल्लौर-औड़ मार्ग पर स्थित गांव अजीत सिंह में नाका लगाया हुआ था. नाके के दौरान फिल्लौर से आ रही एक ऑल्टो कार को रुकने का इशारा किया गया, लेकिन चालक ने रुकने की बजाय कार लेकर भागने का प्रयास किया. इस प्रयास में कार एक पेड़ से टकरा गई. इससे पहले की चालक कुछ और करता, पुलिस टीम मौके पर पहुंची और कार को घेर लिया.

पुलिस कर्मियों ने तलाशी ली तो हेरोइन और ड्रग मनी बरामद हुई. कार सवार दोनों युवकों की पहचान रंजीत सिंह उर्फ हैपी उर्फ रवि पुत्र सुच्चा राम निवासी गढ़शंकर हाल निवासी गाँव औड़ और हरप्रीत सिंह उर्फ बच्चा पुत्र शिंगारा राम निवासी औड़ के रूप में हुई है. पुलिस ने दोनों युवकों को गिरफ्तार किया और उनके खिलाफ NDPS एक्ट के तहत केस दर्ज कर लिया. पूछताछ में युवकों ने बताया कि उन्होंने दिल्ली में एक अफ्रीकन से 15 लाख रूपये में हेरोइन खरीदी थी, जिसे वे नवांशहर लेकर जा रहे थे.

जांच में पता चला है कि आरोपियों द्वारा उपयोग की जा रही कार भी किसी महिला से 2 साल पहले खरीदी गई है, जिसे उन्होंने आज तक अपने नाम से रजिस्टर नहीं कराया है. आरोपियों के खिलाफ जिले के कई थानों में पहले से ही कई मामले भी दर्ज है. आरोपी रंजीत सिंह पहले ही 2 मामलों में सजा पूरी कर चुका है और तीसरे मामले में अभी वह अंडर ट्रायल है. कुछ दिन पहले ही जमानत पर वह जेल से बाहर आया था.

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *