करंट टॉपिक्स

हिन्दू पलायन नहीं करेगा – डॉ. सुरेंद्र जैन

Spread the love

नई दिल्ली. पिछले कुछ वर्षों में पूरे भारतवर्ष सहित दिल्ली के कई स्थानों पर कट्टरपंथियों द्वारा लगातार हो रही हत्याओं तथा 01 अक्तूबर को को मनीष नामक युवक की दिल्ली के सुंदर नगरी में हत्या के विरोध में जनता फ्लैट्स ज़ी टी.बी नगर के रामलीला मैदान में हिन्दू महासभा का आयोजन किया गया.

सभा में विश्व हिन्दू परिषद के अंतरराष्ट्रीय संयुक्त महामंत्री डॉ. सुरेंद्र जैन जी ने लोगों का आह्वान करते हुए सुंदर नगरी को कट्टरपंथियों द्वारा मिनी पाकिस्तान बनाने पर दुख व्यक्त करते हुए कहा कि 30 वर्ष पहले सुंदर नगरी में 90 प्रतिशत हिन्दू थे, अब केवल 30 प्रतिशत रह गए हैं. उन्होंने कहा कि अराजक तत्वों ने सारी सीमाओं को लांघ कर हिन्दुओं को डरा धमका कर पिछले कई वर्षों में पलायन करने पर मजबूर कर दिया, जिसके कारण सुंदर नगरी में अब केवल 30 प्रतिशत हिन्दू आबादी रह गई है. कट्टरपंथी ना केवल आते जाते हिन्दुओं को धमकाते हैं, बल्कि उनके घर के दरवाजों को खटका कर डराते हैं और हिन्दू महिलाओं को भी धमकी देते हैं. जिहादियों ने शिवानी नामक महिला का बलात्कार कर उसकी गला काट कर हत्या कर दी, जिससे वह महिला कोई बयान ना दे सके. हिन्दू आस्था पर आक्रमण करते हुए कट्टरपंथियों ने क्षेत्र में स्थित हनुमान मंदिर पर तोड़फोड़ की. नियमों के अनुसार किसी भी मंदिर के 100 मीटर के क्षेत्र में कोई भी मीट की दुकान नहीं होनी चाहिए, परंतु मंदिर के साथ एक मीट की दुकान भी स्थित है. जिसके कारण मंदिर के आसपास का माहौल दूषित हो जाता है, और भी कई ऐसी घटनाएं हैं जो हिन्दुओं के विरूद्ध जाती हैं. परंतु पुलिस बिल्कुल शांत बैठी हुई है. कोई कार्यवाही नहीं की जा रही है.

केरल की पुलिस में जिहादियों और पीएफआई के 800 स्लीपर सेल पाए जाने की घटना को लेकर दिल्ली पुलिस में भी स्लीपर सेल की संभावना को नकारा नहीं जा सकता. या फिर अपने राजनीतिक आकाओं के दबाव में आकर पुलिस कोई कार्यवाही नहीं कर रही है, ऐसी संभावना व्यक्त की जा रही है.

हिन्दुओं की लगातार हत्याओं पर कहा कि पिछले 5 साल में 5 दलितों, और अब मनीष की हत्या कर दी गई. इन हत्याओं के होने पर मीम और भीम के नारे लगाने वाले नेता शोक भी व्यक्त नहीं कर रहे हैं. एक तरफ दिल्ली के मुख्यमंत्री उत्तरप्रदेश में अखलाक की मृत्यु पर दिल्ली के संसाधनों से करोड़ों रुपया उसके परिवार के लोगों को देते हैं तथा नौकरी के साथ-साथ फ्लैट देते हैं. परंतु 5 दलितों और मनीष की हत्या पर किसी भी प्रकार की प्रतिक्रिया देने से बचने का प्रयास कर रहे हैं, क्या यह इन लोगों के हिन्दू होने की सजा है.

दिल्ली की आप सरकार का विधायक और मंत्री हिन्दू देवी देवताओं के लिए अपमानजनक शब्दों का प्रयोग करता है और इनकी पूजा ना करने का लोगों से आह्वान करता है. यह सरासर हिन्दू आस्था पर कुठाराघात है. इस मंत्री को अपने क्षेत्र की जनता की सुरक्षा की कोई चिंता नहीं है. हिन्दुओं की हत्या पर चुप रहना और जिहादियों को प्रोत्साहित करना, दलित हिन्दुओं की हत्या पर शोक नहीं, इससे लगता है कि आप सरकार में भी स्लीपर सेल उपस्थित है. वोट बैंक की चिंता, आप सरकार के विधायकों की आदत बन गई है. यह किसी भी प्रकार से स्वीकार नहीं किया जाएगा. विश्व हिन्दू परिषद अपील करती है कि यदि दिल्ली पुलिस में भी कोई स्लीपर सेल है तो उसकी जांच होनी चाहिए. पुलिस के रवैये की भी जांच होनी चाहिए.

पलायन नहीं पराक्रम हिन्दू समाज का हमेशा से संकल्प रहा है. इसलिए हिन्दू अब वहां से पलायन ना करें, अपनी बहन बेटी की रक्षा अपने सम्मान के लिए अपने धर्म की रक्षा अपने मंदिरों की रक्षा के लिए तत्पर हो जाएं. दिल्ली का ही नहीं पूरे देश का हिन्दू समाज आपके साथ खड़ा होगा.

इस अवसर पर दिल्ली प्रांत अध्यक्ष कपिल खन्ना जी ने लोगों को एकजुट होकर रहने की अपील की और उन्होंने सुंदर नगरी के लोगों को विश्वास दिलाया कि विश्व हिन्दू परिषद पूर्ण रूप से उनके साथ है तथा उनको निडर रहने की अपील की.

विराट सभा में उपस्थित परम पूजनीय महंत नवल किशोर दास जी ने लोगों से आह्वान किया कि अपने धर्म की रक्षा करने पर ही हम सुरक्षित होंगे. इसलिए अपने धार्मिक स्थलों को सुरक्षित करने का हर संभव प्रयास करें और उन्होंने लोगों को आशीर्वाद देते हुए स्वस्थ और सुरक्षित रहने का आह्वान किया.

अखिल भारतीय बौद्ध संघ से भंते राहुल जी ने कहा कि इतनी भारी बारिश में भी आप सब आए हैं, इसका परिणाम आएगा. राम जी ने भी दुष्टों का विनाश किया था, अब वही समय आ गया है.

 

Leave a Reply

Your email address will not be published.