करंट टॉपिक्स

इखलाक का हाथ काटने का मामला – बच्चे से कुकर्म कर रहा था इखलाक सलमानी

Spread the love

रोहतक (विसंकें). सहारनपुर के ननौता निवासी इखलाक सलमानी से क्रूरता और हाथ काटने की वारदात में शनिवार को दूसरा पक्ष पहली बार सामने आया. पानीपत के किशनपुरा निवासी परिवार ने मीडिया से सात वर्षीय बच्चे की बात करवाई, जिसके साथ इखलाक ने कुकर्म किया है. बच्चे ने बताया कि गत 23 अगस्त की रात वह अपने माता-पिता के बीच चारपाई पर सो रहा था. तब इखलाक उसे नींद में उठाकर घर के पास बने पार्क में ले गया. उसने कई बार कहा कि अंकल छोड़ दो, लेकिन उसने नहीं सुना और उसके साथ गंदी बात की.

बच्चे ने बताया कि अंकल (इखलाक सलमानी) उसे पार्क में ले गए और उसके मुंह में पत्थर डाल दिए. उसके हाथ बांधकर पार्क में पड़े बेंच पर डाल दिया और उसकी कैपरी और टीशर्ट उतारकर फेंक दी. वह मम्मी के पास जाने की बात कहता रहा, लेकिन अंकल ने नहीं सुना.

बच्चे के पिता ने बताया कि जब उसकी आंख खुली तो बेटा नहीं मिला. वह कमरे से बाहर निकले तो घर का दरवाजा खुला था. अपने पड़ोसियों की मदद से बेटे को आसपास ढूंढना शुरू किया. इसी बीच पार्क का गेट खुला देखकर वहां पहुंचे. टॉर्च जलाकर पार्क को देखा तो इखलाक नग्न अवस्था में मिला. पास जाने पर वहां उनका बेटा मिला. इखलाक ने उन पर पथराव करना शुरू कर दिया. इसी बीच बच्चे ने मुंह से पत्थर निकालकर आवाज लगाई. सब लोगों ने मिलकर इखलाक को पकड़ लिया. वहां भीड़ इकट्ठा होने लगी. इस दौरान इखलाक किसी तरह अपने आप को छुड़ाकर भाग गया. इखलाक नशे में धुत्त था. उन्हें नहीं पता कि उसका हाथ कैसे कटा है, उनकी हाथापाई सिर्फ पार्क में ही हुई थी.

पानी मांगने पर हाथ काटने के आरोप को नकारा

इखलाक का आरोप है कि उसे प्यास लगी थी और वह पानी लेने के लिए ही उनके घर गया था. पानी मांगने पर वह भड़क गए और उस पर हमला कर दिया. हाथ काट काटकर रेलवे ट्रैक पर फेंक आए. जिस पर बच्चे के पिता ने कहा कि उनका ट्यूबवेल रोज छह से सात घंटे चलता है. 50 से अधिक लोग उनके घर से पानी लेकर जाते हैं. वह इतने लोगों की प्यास बुझा सकता है तो इखलाक को पानी के लिए क्यों मना करेंगे.

बच्चे की स्कूल में बदनामी और भविष्य देख नहीं आ रहे थे सामने

पिता ने बताया कि बच्चे के दो दांत और जबड़े की हड्डी टूट गई. बच्चे के पूरे शरीर पर इखलाक ने नोंच रखा था. जिसके बावजूद भी उन्होंने पुलिस को शिकायत नहीं दी, क्योंकि वह बच्चे के स्कूल व भविष्य को खराब नहीं करना चाहते थे. वारदात के दो से तीन दिन बाद पुलिस घर पहुंची और इखलाक का हाथ काटने का आरोप लगाया, जिसके बाद आपबीती पुलिस को बताई और बच्चे का मेडिकल कराकर शिकायत दी.

चाचा ने बताया कि इखलाक तो अपने ही बयान पर खड़ा नहीं है. वह हर रोज पुलिस और मीडिया को नया बयान दे रहा है, क्योंकि वह झूठ बोल रहा है. सच्चाई जो होती है, वह कितनी बार ही पूछ लो, वही निकलती है.

क्या कहती है पुलिस

पुलिस ने दोनों पक्षों की रिपोर्ट दर्ज कर रखी है. मामले की गहनता से जांच की जा रही है. उन्होंने डीएनए टेस्ट भी कराया है. जल्द ही उसकी रिपोर्ट आ जाएगी. मामले में जो भी दोषी है, उसे किसी भी सूरत में बख्शा नहीं जाएगा. अंकित कुमार, इंस्पेक्टर, चांदनीबाग थाना प्रभारी

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *