करंट टॉपिक्स

झाबुआ के नरसिंहरुंडा गांव में शत-प्रतिशत पात्र लोगों को वैक्सीन की दोनों डोज़ लगीं

Spread the love

भोपाल. मध्यप्रदेश के झाबुआ जिले के अंतर्गत जनजातीय बहुल नरसिंहरुंडा गांव में कोविड-19 टीकाकरण के अंतर्गत सभी पात्र ग्रामीणों को कोविड-19 रोधी टीके की दोनों ही खुराक लग चुकी हैं.

नरसिंहरुंडा शत- प्रतिशत वैक्सीनेशन की उपलब्धि हासिल करने वाला राज्य का पहला गांव बन गया है. झाबुआ जिले के टीकाकरण अधिकारी राहुल गनवा ने बताया कि गांव के सभी पात्र 110 लोगों को टीकाकरण की दोनों ही खुराकें दी जा चुकी हैं.

178 लोगों की आबादी वाले नरसिंहरुंडा गाँव में 16 जनवरी, 2021 से टीकाकरण अभियान शुरू हुआ था जो शनिवार को पूर्ण टीकाकरण के साथ समाप्त हुआ.

प्रदेश टीकाकरण अधिकारी संतोष शुक्ला ने बताया कि शुरूआत में ग्रामीण क्षेत्रों में टीकाकरण का ग्रामीणों द्वारा बहुत विरोध किया गया था. यहां तक कि टीकाकरण को लेकर उनके मन में बहुत सारी भ्रांतियां बैठ गई थीं और वे किसी भी परिस्थिति में टीके की एक भी खुराक नहीं लेना चाहते थे. लेकिन बाद में प्रशासन और समाज के प्रतिष्ठित लोगों के सहयोग से इन क्षेत्रों में टीकाकरण का माहौल बनाया जा सका. इस गांव की उपलब्धि से अन्य क्षेत्रों में भी टीकाकरण को लेकर लोगों में उत्साह देखने को मिल सकता है.

केंद्र सरकार की देख-रेख में विश्व का सबसे बड़ा टीकाकरण अभियान देश में चलाया जा रहा है. जिससे कोरोना की तीसरी लहर से पहले ही टीकाकरण के लिए पात्र आबादी में से ज्यादा से ज्यादा लोगों को कोविड-19 रोधी टीके की खुराक दी जा सके.

अभी तक देश में 75 करोड़ से अधिक लोगों को कोविड-19 रोधी टीका लगाया जा चुका है. 18.25 करोड़ से अधिक लोगों को दोनों खुराकें दी जा चुकी हैं.

सुदूर घने जंगलों के समीप बसे गांव के लोग भी टीकाकरण के अभियान में उत्साह दिखा रहे हैं. अभी हाल ही में धुर माओवाद प्रभावित झारखंड के खूंटी जिले के तोरपा प्रखंड में भी 95% लोगों के टीकाकरण का समाचार सामने आया था.

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *