करंट टॉपिक्स

भारत 16 वर्षीय ग्रैंडमास्टर प्रज्ञानानंद ने विश्व चैंपियन कार्लसन को एक बार फिर हराया

Spread the love

नार्वे के मैग्नस कार्लसन को तीन महीनों में दूसरी बार पराजित किया

नई दिल्ली. भारत के 16 वर्षीय ग्रैंडमास्टर प्रज्ञानानंद रमेशबाबू ने तीन महीनों में दूसरी बार विश्व चैंपियन नार्वे के मैग्नस कार्लसन को हराकर सबको चौंका दिया. प्रज्ञानानंद ने शुक्रवार को शतरंज मास्टर्स ऑनलाइन रैपिड शतरंज टूर्नामेंट के पांचवें दौर में कार्लसन हराया.

टूर्नामेंट का मैच ड्रॉ की ओर बढ़ रहा था, लेकिन विश्व चैंपियन मैग्नस कार्लसन की एक चाल की गलती के परिणामस्वरूप उनकी हार हो गई. जीत के बावजूद 16 वर्षीय प्रज्ञानानंद खुश नहीं थे.

मैग्नस कार्लसन की गलती के बाद प्रज्ञानानंद ने कहा कि वह इस तरह से जीतना नहीं चाहते थे.

इस जीत के साथ भारतीय ग्रैंडमास्टर को अब लीडरबोर्ड में पांचवें स्थान पर रखा गया है. कार्लसन 12 अंकों के साथ तीसरे स्थान पर हैं और चीन के वेई यी टूर्नामेंट के दूसरे दिन के अंत में 18 अंकों के साथ शीर्ष पर हैं.

इससे पहले, प्रज्ञानानंद ने फरवरी में एयरथिंग्स मास्टर्स ऑनलाइन रैपिड टूर्नामेंट में कार्लसन से बेहतर प्रदर्शन किया था.

Leave a Reply

Your email address will not be published.