करंट टॉपिक्स

सरकार में शामिल व्यक्ति भी आम नागरिक के रूप में समर्पण कर रहे – चंपत राय

Spread the love

रायपुर. श्रीराम जन्मभूमि मंदिर निर्माण निधि समर्पण अभियान मकर संक्रांति से देशभर में प्रारंभ हो गया है, जो 27 फरवरी, माघ पूर्णिमा तक चलेगा. अभियान के निमित्त विश्व हिन्दू परिषद के उपाध्यक्ष व श्रीराम जन्मभूमि तीर्थ क्षेत्र के महामंत्री चम्पत राय ने रायपुर प्रवास के दौरान पंडरी स्थित विहिप कार्यालय में पत्रकारों से बातचीत की.

उन्होंने कहा कि दीर्घजीवी और मजबूत मंदिर का निर्माण कार्य जनवरी से प्रारंभ हो गया है, जिसे 36 से 39 महीनों में पूर्ण कर लिया जाएगा. बिना लोहे के उपयोग के पत्थरों से बनने वाले मंदिर के डिजाइन और समस्त तकनीकी सहयोग करने के लिए देश की श्रेष्ठ संस्थाएं (आईआईटी दिल्ली, मुंबई, चेन्नई, सेन्ट्रल बिल्डिंग रिसर्च इंस्टीट्यूट, टाटा, एल एण्ड टी) समन्वय के साथ काम कर रही हैं.

उन्होंने कहा कि अयोध्या में श्रीराम मंदिर का निर्माण करने का अवसर 500 वर्षों के कड़े संघर्ष और लाखों बलिदानों के बाद आया है. मंदिर का निर्माण देश में विदेशी आक्रांताओं से मुक्ति का प्रतीक है. यह बाबर के आक्रमण के कलंक को मिटाएगा. इस ऐतिहासिक महत्व के कार्य के लिए देशभर से करोड़ों लोगों का सहयोग मिल रहा है. श्रीराम जन्मभूमि निधि समर्पण समिति द्वारा प्रत्येक राज्य, शहर, गांव तक पहुंच कर आधी आबादी से सहयोग प्राप्त करने का प्रयास कर रही है. छत्तीसगढ़ में 31 जनवरी को एक दिन में निधि समर्पण करने का कार्य किया जाएगा. इस दिन कार्यकर्ता घर-घर जाकर समर्पण निधि का संग्रह करेंगे.

एक प्रश्न का उत्तर देते हुए उन्होंने कहा कि निधि संग्रह करने की तिथि तय संग्रह करने कार्यकर्ताओं की सुविधा के लिए है, कोई तय समय के बाद भी राशि समर्पित कर सकता है. एक अन्य प्रश्न के उत्तर में कहा कि राशि समर्पण करने में सरकार को शामिल नहीं किया है, लेकिन सरकार में शामिल व्यक्ति भी आम नागरिक के रूप में समर्पण व सहयोग कर रहे हैं. उन्होंने कहा कि छत्तीसगढ़ श्रीराम का ननिहाल है, इस नाते यहां कार्यकर्ता अधिक उत्साहित हैं.

  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *