करंट टॉपिक्स

प्रेरणादायी – कोरोना से पति की जान न बचा पाई तो मौसमी ने इलाज के लिए एकत्रित 40 लाख रुपये दान कर दिए

Spread the love

भुवनेश्वर. मौसमी ने पति के इलाज के लिए लोगों से दान में मिले 40 लाख रुपये सोमवार को भद्रक जिलाधीश को सौंप दिये. मौसमी ने 40 लाख रुपये में से 30 लाख रुपये मुख्यमंत्री राहत कोष और 10 लाख रुपये का ड्राफ्ट भद्रक जिला रेडक्रॉस फंड के लिए दान दे दी.

“मेरे पति के इलाज के लिए बहुत से लोगों ने मेरी सहायता की थी. हालांकि, पूरी कोशिश के बावजूद पति को नहीं बचा पाए. अब पैसा लेकर क्या करूंगी? लोगों द्वारा मदद के रूप में दिए गए इस पैसे से अन्य कुछ जरूरतमंद परिवारों के चेहरे पर हंसी लौटे, यह पैसा कुछ जरूरतमंद परिवार के काम आए”,

यह कहते हुए ओडिशा के भद्रक जिले के वासुदेवपुर क्षेत्र की मौसमी महापात्र (मृतक अभिषेक महापात्र की पत्नी) ने मानवीयता का प्रेरणादायी उदाहरण प्रस्तुत किया और लाखों रुपये की राशि प्रशासन को सौंप दी..

जानकारी के अनुसार, भद्रक जिले के वासुदेवपुर मंदारी क्षेत्र के अभिषेक महापात्र की पिछले साल मई महीने में शादी हुई थी. शादी के मात्र 8 दिन बाद अभिषेक को कोरोना हो गया और उनकी हालत गम्भीर हो गई. उनकी आर्थिक अवस्था ठीक ना होने के कारण उनकी नव-विवाहिता पत्‍नी मौसमी ने विभिन्न मीडिया एवं इंटरनेट मीडिया के माध्यम से इलाज के लिए सहयोग करने का निवेदन किया. और उड़ीसा के साथ ही देश के विभिन्न जगहों से लोगों ने सहयोग का हाथ बढ़ाया. मौसमी के पास लोगों की सहायता से लगभग 80 लाख रुपये की धनराशि एकत्र हो गई. 21 दिन तक वेंटिलेटर पर रहने वाले मौसमी के पति अभिषेक को 9 जून को इकमो चिकित्सा के लिए एयरलिफ्ट कर कोलकाता लाया गया. यहां पर डाक्टरों की पूरी कोशिश के बावजूद चिकित्साधीन अवस्था में तीन सितम्बर 2021 को अभिषेक की मृत्यु हो गई.

अभिषेक के इलाज के लिए मिली सहायता राशि में मौसमी के पास 40 लाख रुपये बच गए थे. मौसमी ने अब इस राशि से अन्य लोगों की मदद करने का निर्णय लिया. इसके बाद सोमवार को अपने परिवार वालों के साथ भद्रक रोटरी क्लब के माध्यम से भद्रक जिलाधीश त्रिलोचन माझी को 40 लाख 6 हजार रुपये का ड्राफ्ट प्रदान किया. इस राशि में से मौसमी ने मुख्यमंत्री राहत कोष में 30 लाख 2 हजार 500 रुपया दिये, जबकि 10 लाख 3 हजार 500 रुपये रेडक्रॉस फंड को दिये.

मौसमी ने कहा, पति के इलाज के लिए लोगों ने जो मदद की थी, इस राशि से अब अन्य किसी का जीवन बचे, इसी कामना के साथ हमने यह राशि लौटायी है. जिलाधीश को ड्राफ्ट प्रदान करने के समय मौसमी महापात्र के साथ उनके पिता चितरंजन, रोटेरियन अतिस बेहेरा, भाई अन्नदा शंकर, वकील धीरेन्द्र राय, जिला सूचना जनसंपर्क अधिकारी रमेश चन्द्र नायक उपस्थित थे. जिलाधीश ने मौसमी के प्रेरक निर्णय की प्रशंसा की.

मौसमी विज्ञान विषय से स्नातक हैं. क्षेत्र के लोगों ने सरकार से मौसमी को उसकी योग्यता के अनुसार सरकारी नौकरी देने का निवेदन किया है. इस संदर्भ में वरिष्ठ अधिवक्ता अतिश कुमार बेहेरा ने कहा कि अभिषेक के जीवन को बचाने के लिए लोगों ने 10 रुपये से लेकर 10 हजार रुपये तक दान किया था. हालांकि भाग्य की विडंबना देखिये कि अभिषेक का निधन हो गया. इसके बाद मौसमी ने बिना किसी लालच के अन्य किसी का संसार इस तरह से ना टूटने पाए, दूसरों के चेहरे पर खुशी लाने के उद्देश्य से मुख्यमंत्री एवं रेडक्रॉस फंड को सहायता के तौर पर मिले 40 लाख रुपये प्रदान कर दिये.

इनपुट साभार – दैनिक जागरण

Leave a Reply

Your email address will not be published.